PreviousNextPreviousNext

लालू को हाई कोर्ट से भी झटका, नहीं मिली जमानत

Publish Date:Fri, 18 Oct 2013 09:34 AM (IST) | Updated Date:Fri, 18 Oct 2013 07:32 PM (IST)
लालू को हाई कोर्ट से भी झटका, नहीं मिली जमानत

रांची [जागरण ब्यूरो]। चारा घोटाले में पांच साल की सजा काट रहे राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद को झारखंड हाई कोर्ट ने शुक्रवार को राहत देने से इन्कार कर दिया। न्यायमूर्ति आरआर प्रसाद की बेंच ने लालू की याचिका पर सुनवाई करते हुए उन्हें जमानत देने से इन्कार कर दिया और निचली अदालत से मामले का अभिलेख मांगा है। हाई कोर्ट ने कहा कि आगे की सुनवाई अभिलेख आने के बाद की जाएगी। याचिका लंबित रहने के दौरान लालू की ओर से सजा पर रोक लगाने और जमानत दिए जाने की मांग की गई थी। इस दौरान अदालत ने 11 अन्य अभियुक्तों को जमानत दे दी।

जब लालू जज से बोले, 'आप तो भगवान हैं'

इसके पूर्व लालू प्रसाद की ओर से राज्य के पूर्व महाधिवक्ता अनिल कुमार सिन्हा ने सीबीआइ पर जांच में भेदभाव का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि निचली अदालत ने उनके पक्ष को बिना समझे सजा सुना दी। लालू के वकील ने अदालत को बताया कि चाईबासा के तत्कालीन उपायुक्त अमित खरे ने अपने बयान में कहा था कि 1996 में जैसे ही इस मामले की जानकारी मिली, राजद सुप्रीमो ने वित्त आयुक्त को पत्र लिखकर कार्रवाई के लिए कहा था। तत्कालीन मुख्यमंत्री लालू प्रसाद ने मामले में तीन दिन के भीतर प्राथमिकी दर्ज करने का भी आदेश दिया था और बाद में उन्हें ही अभियुक्त बना दिया गया। लिहाजा हाई कोर्ट इसकी दुबारा सुनवाई करे और लालू प्रसाद को राहत प्रदान करे।

कांग्रेस से नाउम्मीद लालू अपने बूते कर रहे तैयारी

इस दौरान चारा घोटाले में सजा पाए डॉ. केएम प्रसाद सहित 11 अभियुक्तों को हाई कोर्ट ने जमानत दे दी। अदालत ने अपने फैसले में कहा कि मामले के ट्रायल के दौरान सभी अभियुक्त जेल में थे और दी गई सजा की आधी अवधि जेल में काट चुके हैं। हालांकि इन लोगों का अभिलेख भी निचली अदालत से तलब किया गया है।

लालू के साथ सजा पाए आरके राणा, हरीश कुमार व रविंद्र कुमार मेहरा की याचिका पर सुनवाई अगले सप्ताह होगी। गौरतलब है कि चाईबासा कोषागार से 37.70 करोड़ रुपये की अवैध निकासी के आरोप में सीबीआइ की विशेष अदालत ने लालू यादव को पांच साल की सजा सुनाई है।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए क्लिक करें m.jagran.com परया

कमेंट करें

Tags: # Lalu Prasad Yadav , # fodder scam , # high court , # Ranchi , # Jharkhand , # Bihar News ,

Web Title:HC rejects laloo bail appeal

(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

वार्ड सदस्यों ने लगाया मुखिया पर आरोपअध्यादेश के लिए कांग्रेसी करेंगे प्रदर्शन

प्रतिक्रिया दें

English Hindi
Characters remaining


लॉग इन करें

यानिम्न जानकारी पूर्ण करें



Word Verification:* Type the characters you see in the picture below

  • methli25 Oct 2013, 08:22:17 PM

    lalu ji ni bhagwan ram ka mandir manwane mai problem ki hai. todwani mai sath diya tha. galat logon ka. ab unko jail mai rahkar mandir banwane ka partigyi karni hogi. to kuch hoga wo bhi ayudhya mai . bajrang bali our sani maharaj dono rost hai. Bajrang bali si bar appne 1991 mai li hai. our sani deo se apne 2008 mai li hai. our jiska ya dono khrab ho jata hai usko koi nahi bachata hai .chara ghotala to apne phaley hi kar diya hai.jo bhi apke sath jayga wo har jayaga.ab app thodi baymani karlo.raha sawal mahzid ka toda to zisne mandir toda wo kun tha. ya ek katu satya hai.pahley mandir tha. usko todna apradh tha.koi bhi raja kisi deshi ke mandir mai jakar mandir ko tod taa hia to wo apradh hai.kya hmne kabhi kisi deshi ke mazid ko jakar toda. nai. yai to uske religion mai bhi nai hai.mandir todana.

  • SUBODH18 Oct 2013, 08:17:48 PM

    KYA FARK PADTA HAI.. 450 KAROD KA GHOTALA KARNE KE BAD 5 SAAL KI JAIL OR 25 LAKH KA JURMANA.. SODA SASTA HA . :D

यह भी देखें

मिलती जुलती

स्थानीय

    यह भी देखें
    Close
    याचिका खारिज, सलाखों के पीछे होगी लालू की दिवाली
    लालू की बेल याचिका पर कोर्ट का फैसला सुरक्षित
    लालू की जमानत पर सुप्रीम कोर्ट का सीबीआइ को नोटिस