PreviousNext

अहमदाबाद पहुंचकर भारतीय रंग में रंगे जापानी पीएम शिंजो एबी

Publish Date:Thu, 14 Sep 2017 11:25 AM (IST) | Updated Date:Thu, 14 Sep 2017 11:51 AM (IST)
अहमदाबाद पहुंचकर भारतीय रंग में रंगे जापानी पीएम शिंजो एबीअहमदाबाद पहुंचकर भारतीय रंग में रंगे जापानी पीएम शिंजो एबी
बुधवार दोपहर एयरपोर्ट पहुंचने के बाद आबे व उनकी पत्नी अकी एबी ने भारतीय परिधान पहने। पीएम मोदी प्रोटोकोल तो़ड़ उन्हें लेने एयरपोर्ट पहुंचे और वहां गर्मजोशी से उनसे गले मिले।

अहमदाबाद, एजेंसी। बुलेट ट्रेन के शिलान्‍यास के मौके पर भी शिंजो एबी पूरे भारतीय रंग में दिखे। इस मौके पर अपने भाषण की शुरुआत उन्‍होंने 'नमस्‍कार' से की। उन्‍होंने कहा कि भारत के नए अध्‍याय की शुरुआत से खुशी हो रही है। भारत अगर ताकतवर होता है, तो यह जापान के हित में है। हम प्रधानमंत्री मोदी की नीतियों का पूरा समर्थन करते हैं। मेरे मित्र मोदी एक दूरदर्शी नेता हैं।

इससे पहले बुधवार को जापान के प्रधानमंत्री शिंजो एबी और पीएम नरेंद्र मोदी ने खुली जीप में अहमदाबाद की सड़कों पर आठ किमी लंबा रोड शो कर इतिहास रच दिया। यह पहला मौका था, जब किसी विदेशी प्रधानमंत्री का इस तरह सत्कार हुआ।


बुधवार दोपहर एयरपोर्ट पहुंचने के बाद आबे व उनकी पत्नी अकी एबी ने भारतीय परिधान पहने। पीएम मोदी प्रोटोकोल तो़ड़ उन्हें लेने एयरपोर्ट पहुंचे और वहां गर्मजोशी से उनसे गले मिले। एबी सबसे पहले महात्मा गांधी के साबरमती आश्रम पहुंचे। रोड शो के बाद एबी को लेकर मोदी 16वीं सदी में बनी सैयदी मस्जिद गए। मोदी की भी भारत में किसी मस्जिद की यह पहली यात्रा थी। यह मस्जिद विश्व में अपने पत्थरों पर जालीदार नक्काशी के लिए जानी जाती है।

जापान की मदद से भारत की बुलेट ट्रेन का सपना पूरा होने जा रहा है। देश की यह पहली बुलेट ट्रेन मुंबई से अहमदाबाद के बीच चलेगी। यह ट्रेन 508 किमी का फासला मात्र 3 घंटे में तय करेगी। मौजूदा समय में यह दूरी तय करने में 7 से 8 घंटे का समय लगता है। ट्रेन की रफ्तार 320 किमी/घंटे के करीब होगी।

यह भी पढ़ें: भारत की पहली 'बुलेट ट्रेन' से जुड़ी कुछ अहम जानकारी, जानिए- कब पूरा होगा सपना

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:Japan Prime Minister Shinzo Abe on Road Show with PM Narendra Modi(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

क्या हिंदी को सिर्फ एक दिवस तक समेटना उचित है?पुणे में बंद फ्लैट से बचाई गईं 30 बिल्लियां, दो बहनों पर केस दर्ज
यह भी देखें