PreviousNext

शिंजो एबी के भारत दौरे से दोनों देशों के कूटनीतिक रिश्तों को मिलेगी मजबूती

Publish Date:Wed, 13 Sep 2017 07:00 PM (IST) | Updated Date:Wed, 13 Sep 2017 07:42 PM (IST)
शिंजो एबी के भारत दौरे से दोनों देशों के कूटनीतिक रिश्तों को मिलेगी मजबूतीशिंजो एबी के भारत दौरे से दोनों देशों के कूटनीतिक रिश्तों को मिलेगी मजबूती
चीन के साथ भारत के डोकलाम विवाद के दौरान जापान ऐसा पहला देश जिसने खुलकर भारत का समर्थन किया था।

नई दिल्ली, [स्पेशल डेस्क]। दो दिवसीय दौरे पर भारत आये जापान के प्रधानमंत्री शिंजो एबी का गुजरात में भव्य स्वागत किया गया। जापानी प्रधानमंत्री के तौर पर इस बार यह उनकी चौथी भारत यात्रा है। उनके इस दौरे को दोनों देशों की बढ़ती नजदीकियों के बीच बेहद खास माना जा रहा है। भारत के लिए निकलते समय एबी ने कहा कि दोनों देश एशिया के प्रमुख लोकतंत्र और वैश्विक शक्तियां हैं। उन्होंने कहा कि मोदी एक प्रभावशाली नेता हैं जिनमें चीजों को आगे बढ़ाने की क्षमता है। दोनों देशों के प्रमुख गुजरात में भारत-जापान वार्षिक शिखर सम्मेलन में शामिल होंगे। इसके साथ ही, भारत-जापान के शीर्ष स्तरीय व्यापारिक मंडल की वार्ता होगी।

दुनिया की है शिंजो एबी की भारत यात्रा पर नजर
दैनिक जागरण की फेसबुक चर्चा के दौरान जागरण के एसोसिएट एडिटर राजीव सचान ने कहा कि चीन के साथ भारत के डोकलाम विवाद के दौरान जापान ऐसा पहला देश था जिसने खुलकर भारत का समर्थन किया था। उसके मुकाबले बाकी देशों ने भारत के समर्थन में भले ही बोला हो लेकिन उनकी आवाज उतनी मुखर नहीं थी। ऐसे में डोकलाम विवाद खत्म होने के बाद जिस तरह जापान के प्रधानमंत्री भारत दौरे पर हैं उसे ना सिर्फ चीन बल्कि यूरोप और अमेरिका समेत बाकी दुनिया के देशों की भी नजर होगी।

बुलेट ट्रेन परियोजना की रखी जाएगी नींव
राजीव सचान ने कहा कि शिंजो एबी के भारत आने से यहां पर मुख्य चर्चा का विषय इस बार बुलेट ट्रेन बन गया है। इससे भारत में ट्रेनों को रफ्तार देने की एक नई परंपरा की शुरुआत होगी। उन्होंने आगे कहा कि आज बुलेट ट्रेन जैसी बेहद तेज़ रफ्तार से चलनेवाली ट्रेनों की बेहद जरूरत महसूस की जा रही है। ऐसे में जिस तरह से जापान ने सामने आकर बुलेट ट्रेन के लिए भारत की मदद की है इस पर चर्चा होना स्वाभाविक है।

दुनिया में बढ़ेगी भारत की साख
जबकि, जागरण के एसोसिएट एडिटर गंगेश मिश्रा ने बताया कि किसी भी देश के विकास में वहां की यातायात का अहम स्थान है। बुलेट ट्रेन की शुरूआत और जापान के प्रधानमंत्री का यहां पर आना इससे वैश्विक स्तर पर भारत की साख बढ़ेगी। गंगेश मिश्रा ने बताया कि बुलेट ट्रेन जहां एक तरफ देश में रोजगार के अवसर पैदा होंगे तो वहीं दूसरी तरफ देश की आधारभूत संरचना भी मजबूत होगी।

हालांकि, फेसबुक के एक व्यूअर ने सवाल किया कि देश में लगातार ट्रेन दुर्घटनाएं हो रही है ऐसे में बुलेट ट्रेन का क्या औचित्य है? इसके जवाब में गंगेश मिश्रा ने बताया कि इस तरह की बातें तो होंगी। इसके साथ ही, लोग इस बात पर भी सवाल उठाएंगे कि गुजरात में जब विधानसभा का चुनाव होना है ऐसे में जापान को प्रधानमंत्री को वहीं क्यों बुलाया गया है। ये सवाल उठना स्वाभाविक बात है।

ये भी पढ़ें: बुलेट ट्रेन तक ही सीमित नहीं है मोदी-शिंजो की मुलाकात, लिए जा सकते हैं ये बड़े फैसले
 

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:Jagran Special how Japanese Prime Minister Shinzo Abe India visit is Strategically important(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

डराते आंकड़ों के हिस्सा थे प्रद्युम्न-अरमान, सच में दिल्ली-NCR में लगता है डररोहिंग्या मुद्दे पर भारत को बनाया जा रहा है विलेनः किरण रिजिजू