PreviousNext

650 रुपये लाओ और गोरखपुर में 'नो एंट्री' में ट्रकों की 'एंट्री' कराओ

Publish Date:Mon, 19 Jun 2017 12:41 PM (IST) | Updated Date:Mon, 19 Jun 2017 12:41 PM (IST)
650 रुपये लाओ और गोरखपुर में 'नो एंट्री' में ट्रकों की 'एंट्री' कराओ650 रुपये लाओ और गोरखपुर में 'नो एंट्री' में ट्रकों की 'एंट्री' कराओ
एसपी ट्रैफिक आदित्य वर्मा कहते हैं, शहर में यातायात व्यवस्था का निरीक्षण करने निकले थे। वसूली कर बड़े वाहनों को नो एंट्री में प्रवेश कराने की शिकायतें मिल रही थीं।

गोरखपुर (जागरण संवाददाता)। शहर में बड़े वाहनों के प्रवेश पर लगी रोक (नो एंट्री) के आदेश को 650 रुपये देकर आसानी से ठेंगा दिखाया जा सकता है। शहर के सबसे व्यस्त चौराहों और सुचारु यातायात में आने वाली दिक्कतों को जानने निकले एसपी ट्रैफिक आदित्य वर्मा रविवार को इस हकीकत से रुबरू हुए।

टीपीनगर पुलिस चौकी से शहर की तरफ आ रहे ट्रक को रोक कर उन्होंने चालक से पूछताछ की तो पता चला कि नो एंट्री में जाने के लिए कालेसर जीरो प्वाइंट से लेकर गल्ला मंडी तक पुलिस वालों ने उससे 650 रुपये वसूले। एसपी ट्रैफिक ने इसकी जांच का आदेश दिया है।

ट्रैफिक, थाने व चौकियों पर तैनात पुलिस वाले वसूली के लिए पहले से बदनाम हैं। इसकी शिकायतें भी होती रही हैं और वसूली करने वाले पकड़े भी जाते रहे हैं। इसके बावजूद वसूली का काम जोर-शोर से जारी है। विभिन्न चौराहों पर तैनात रहने वाले यातायात पुलिसकर्मियों की वसूली की शिकायत किसी ने अभी नए आए एसपी ट्रैफिक से की थी। रविवार को वह इसकी हकीकत जाने के लिए खुद निकले।

फिलहाल बिछिया स्थित पीएसी कैंप के गेस्ट हाउस में रह रहे एसपी ट्रैफिक वहां से निकलकर जेल बाइपास, खजांची चौराहा, बरगदवा, गोरखनाथ, धर्मशाला, गोलघर होते हुए दोपहर डेढ़ बजे के आसपास टीपी नगर चौराहे पर पहुंचे।

चौराहे पर पहुंचते ही उनकी नजर कर्नाटक प्रदेश का नंबर लगे ट्रक पर पड़ी। ट्रैफिक का दीवान व सिपाही और उनके साथ मौजूद होमगार्ड जवान ट्रक को रोके हुए थे। चालक नीचे उतर कर उनसे बातचीत कर रहा था। एसपी ट्रैफिक अपनी गाड़ी चौराहे से पहले ही रुकवाकर चाय की एक दुकान से नजारा देखने लगे। थोड़ी देर बाद चालक, ट्रक लेकर आगे बढ़ा तो अपनी गाड़ी से वह उसके पीछे हो लिए।

गल्ला मंडी में ट्रक के रुकने पर उन्होंने चालक से पूछताछ शुरू की। इस दौरान उसने बताया कि कालेसर, सहजनवां जीरो प्वाइंट से मंडी तक पहुंचने में उसे 650 रुपये खर्च करने पड़े हैं। उसके अनुसार जीरो प्वाइंट पर पुलिस वालों को उसने 100 रुपये दिए थे। इसके बाद नौसढ़ पुलिस चौकी पर पुलिस वालों ने रोक कर 500 रुपये मांगे लेकिन बातचीत करने पर सौदा 250 रुपये में सौदा पट गया।

वहां से टीपी नगर पहुंचने पर यातायात पुलिस वालों ने उसे रोका। उन्होंने भी 500 रुपये की मांग की लेकिन 250 रुपये लेकर मान गए। मंडी गेट पर होमगार्ड ने 50 रुपये लेकर अंदर जाने दिया। ट्रक चालक से लिखित शिकायत लेकर एसपी ट्रैफिक ने टीएसआइ से जवाब तलब किया है।

यह भी पढ़ें: लखनऊ में अब बुक्कल नवाब की अवैध इमारतों पर चलेगा बुलडोजर

शिकायतें मिल रही थीं: एसपी ट्रैफिक आदित्य वर्मा कहते हैं, शहर में यातायात व्यवस्था का निरीक्षण करने निकले थे। वसूली कर बड़े वाहनों को नो एंट्री में प्रवेश कराने की शिकायतें मिल रही थीं। उनकी खुद की जांच में शिकायत सही मिली है। पूरे मामले की जांच कराकर दोषी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़ें: यूपी के पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति को जमानत देने के लिए हुई थी 10 करोड़ रुपये की डील

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:It just takes 650 rupees to get a truck entered in a no entry zone in Gorakhpur(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

मालगाड़ी के दो वैगन पटरी से उतरे, यातायात प्रभावितफादर्स डे पर ससुर ने आधी उम्र की बहू से किया विवाह
यह भी देखें