PreviousNext

चीन की तरह वन इंडिया पॉलिसी पर काम करे भारत: दलाई लामा

Publish Date:Mon, 20 Mar 2017 06:55 AM (IST) | Updated Date:Mon, 20 Mar 2017 06:59 AM (IST)
चीन की तरह वन इंडिया पॉलिसी पर काम करे भारत: दलाई लामाचीन की तरह वन इंडिया पॉलिसी पर काम करे भारत: दलाई लामा
बौद्ध धर्मगुरु बोले, एक धर्म सभी समस्याओं का हल नहीं कर सकता..

भोपाल, नईदुनिया। बौद्ध धर्मगुरु दलाई लामा ने केंद्र सरकार को सलाह दी है कि भारत को वन इंडिया पॉलिसी पर काम करना चाहिए। पाक अधिकृत कश्मीर में चीन के बढ़ते दखल को लेकर दलाई लामा ने कहा कि भारत यदि वन इंडिया की तर्ज पर काम करे तो चीन को करारा जवाब मिलेगा।

रविवार को विधानसभा के सभागार में व्याख्यान के बाद मीडिया से चर्चा में उन्होंने कहा कि पीओके में चीन के दखल पर भारत और पाक सरकारों को बैठकर बातचीत करनी चाहिए। वन चाइना पॉलिसी के मुताबिक चीन नाम का एक ही देश है और ताइवान चीन का ही एक प्रांत है। चीन सभी देशों से कूटनीतिक रिश्ते इसी पॉलिसी के तहत बनाता है। इस तरह दलाई लामा का वन इंडिया पॉलिसी पर जोर देने का मतलब है कि भारत से कूटनीतिक रिश्ते बनाने वाले देश पीओके को भारत का ही हिस्सा मानें।

इससे पहले बौद्ध धर्मगुरु दलाई लामा ने कहा है कि सभी धर्म समाज से जाति प्रथा खत्म करने एक साथ आएं। विधानसभा के मानसरोवर सभागार में 'आनंदित रहने की कला' विषय पर व्याख्यान में दलाई लामा ने कहा कि सिर्फ धर्म से सुख और समृद्धि नहीं आ सकती, क्योंकि दुनिया में 7 अरब में से 1 अरब लोग नास्तिक हैं।

दलाई लामा ने कहा कि मेरी मां बहुत कृपालु थीं। ऐसी मां कभी नहीं देखी। कभी मुझ पर नाराज नहीं हुईं, लेकिन पिताजी गुस्सा करते थे। जब मैं उनकी मूछों को प्यार से खींचता था तो कभी-कभी वे मुझे पीट देते थे, इसलिए मैं पिता की तुलना में मां से ज्यादा प्रेम करता था। विज्ञान कहता है कि मानसिक और शारीरिक विकास के लिए मां के पास रहना जरूरी है।

यह भी पढ़ेंः मंदिर की सीढ़ी से सियासत के चरमोत्कर्ष पर तीसरी पीढ़ी

यह भी पढ़ेंः तीन तलाक पर केंद्र को मिला आम मुस्लिम महिलाओं का साथ

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:India works on one India policy like China says Dalai Lama(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

गरीब बुजुर्गों को मुफ्त चश्मा और व्हीलचेयर देगी केंद्र सरकारजशोदाबेन बोलीं, मोदीजी मेरे अंतर्मन में.. मैं उनकी आत्मा
यह भी देखें