PreviousNext

यूपी में कर्ज माफी से बैंकों को हो सकता है 27,420 करोड़ का नुकसान

Publish Date:Tue, 21 Mar 2017 12:14 PM (IST) | Updated Date:Tue, 21 Mar 2017 12:32 PM (IST)
यूपी में कर्ज माफी से बैंकों को हो सकता है 27,420 करोड़ का नुकसानयूपी में कर्ज माफी से बैंकों को हो सकता है 27,420 करोड़ का नुकसान
भारतीय स्टेट बैंक की एक शोध रिपोर्ट में कहा गया है कि 2016 के आंकड़ों के मुताबिक अधिसूचित वाणिज्यिक बैंकों का यूपी में 86,241.20 करोड़ रुपये का किसान कर्ज बकाया है।

मुंबई (प्रेट्र)। स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट के अनुसार यूपी में किसानों की कर्ज माफी से बैंकों को 27,420 करोड़ का नुकसान हो सकता है।

यूपी में सत्तारुढ़ भाजपा चुनावी वादे के तहत यदि छोटे और सीमांत किसानों के कर्ज माफ करती है तो इससे कर्जदाता बैंकों को 27,420 करोड़ रुपये का नुकसान हो सकता है। साथ ही इससे राज्य के राजकोषीय गणित पर भी कुछ असर पड़ सकता है।

उल्लेखनीय है कि उत्तर प्रदेश की 403 सीटों में से 325 सीटें जीत कर सरकार बनाने में सफल रहने वाली भाजपा ने चुनाव घोषणा पत्र में किसानों का कर्ज माफ करने का वादा किया था।

भारतीय स्टेट बैंक की एक शोध रिपोर्ट में कहा गया है कि 2016 के आंकड़ों के मुताबिक अधिसूचित वाणिज्यिक बैंकों का यूपी में 86,241.20 करोड़ रुपये का किसान कर्ज बकाया है। इसमें प्रत्येक कर्ज औसतन 1.34 लाख रुपये का बनता है।

रिपोर्ट में भारतीय रिजर्व बैंक के वर्ष 2012 के आंकड़ों का जिक्र किया गया जिसमें कहा गया है कि कृषि कर्ज का 31 प्रतिशत सीमांत और छोटे किसानों (ढाई एकड़ तक की जमीन वाले) को दिया गया है। अगर रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के इस आंकड़ों को उत्तर प्रदेश में भी लागू माना जाए तो वहां छोटे और सीमांत किसानों का कर्ज माफ करने की योजना पर सरकार को 27,419.70 करोड़ रुपये माफ करने होंगे।

पढ़ेंः दो साल बाद भी किसानों को नहीं मिले कृषि यंत्र

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:If farm loan waiver is implemented in UP banks may take a hit of Rs 27420 crore(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

पाकिस्‍तान में पति भारतीय पत्‍नी पर कर रहा जुल्‍म, सुषमा स्‍वराज ने भेजी मददगिलगिट-बाल्टिस्तान को पांचवां प्रांत बनाने पर PoK में लगे पाक विरोधी नारे
यह भी देखें

जनमत

पूर्ण पोल देखें »