PreviousNext

सैलरी सप्ताह के लिए सरकार ने कसी कमर, RBI करेगा नकदी की कमी को दूर

Publish Date:Wed, 30 Nov 2016 09:01 PM (IST) | Updated Date:Thu, 01 Dec 2016 09:28 AM (IST)
सैलरी सप्ताह के लिए सरकार ने कसी कमर, RBI करेगा नकदी की कमी को दूर
सेलरी सप्ताह को ध्यान में रखते हुए सरकार ने सेलरी एकाउंट वाली शाखाओं को 20-30 फीसद अतिरिक्त नकदी मुहैया कराने का निर्णय लिया है।

जागरण ब्यूरो, नई दिल्ली। वेतन भुगतान का पहला दिन भले ही बिना शोर शराबे के गुजर गया। लेकिन अधिकांश बैंक शाखाओं और एटीएम पर नकदी निकासी की परेशानी में किसी तरह की कमी नहीं आई। हालांकि बुधवार मोटे तौर पर सरकारी कर्मचारियों और सेवानिवृत कर्मचारियों के वेतन व पेंशन का ही दिन रहा, लेकिन नकदी की कमी के चलते लोग न तो बैंकों से इच्छित मात्रा में धनराशि प्राप्त कर पाए और न ही एटीएम पर नकदी पाने से राहत मिल सकी। अलबत्ता सरकार और रिजर्व बैंक ने अगले सात दिनों के लिए पूरी तैयारी करने का दावा किया है ताकि लोगों को दिक्कतों का सामना न करना पड़े।

सरकारी कार्यालयों के आसपास की अधिकांश इमारतों में लगे एटीएम या सूखे पड़े रहे या जिनमें नकदी थी उनमें लंबी लाइनें लगी रहीं। कई बैंकों ने मोबाइल एटीएम वैन भी सरकारी कार्यालयों के आसपास तैनात की जिन पर दिन भर लोग ढाई हजार रुपये की राशि निकालने के लिए जूझते रहे।

पढ़ें- नोटबंदी : एक साल में तैयार हो जाएगा कैशलेस लेनदेन का पूरा ढांचा

अलबत्ता अगले सात दिनों तक वेतन पाने वालों को नकदी की दिक्कत न हो इसके लिए सरकार और रिजर्व बैंक ने विशेष तैयारियां की है। सरकार के उच्च पदस्थ सूत्रों के मुताबिक रिजर्व बैंक बुधवार की शाम से ही सिस्टम में नकदी की मात्रा बढ़ाने का काम शुरू कर देगा। वित्त मंत्रालय ने यह सुनिश्चित किया है कि बृहस्पतिवार के बाद बैंकों को नकदी की आपूर्ति में कमी के चलते व्यवधान न हो। वेतन भुगतान के बाद नकदी की मांग में वृद्धि की संभावना को देखते हुए रिजर्व बैंक सात दिसंबर तक नकदी की अधिक आपूर्ति बैंकों को करेगा। भारतीय स्टेट बैंक ने खासतौर पर इसके लिए कमर कसी है और उसने अपने 90 फीसद एटीएम का संचालन सुनिश्चित करने का फैसला किया है।

सेलरी खातों वाले बैंकों को अधिक राशि

जिन बैंकों की शाखाएं कंपनियों के सेलरी एकाउंट का संचालन करती हैं उन्हें पहले की तुलना में अधिक नकदी उपलब्ध कराने की योजना है। रिजर्व बैंक के सूत्र बताते हैं कि ऐसी शाखाओं में सामान्य के मुकाबले 20 से 30 फीसद अधिक नकदी की सप्लाई होगी। यानी इन शाखाओं की रोजाना की आवश्यकता के अतिरिक्त उन्हें सेलरी सप्ताह की जरूरतों को पूरा करने के लिए नकदी मिलेगी।

पढ़ें- अर्थशास्त्री अम‌र्त्य सेन ने नोटबंदी को बताया निरंकुश कार्रवाई

500 के नोटों की ज्यादा प्रिंटिंग

नकदी की कमी को देखते हुए अब सरकार ने 2000 के मुकाबले 500 रुपये के नोट की छपाई की रफ्तार बढ़ाने का फैसला किया है। 500 रुपये के नोट का प्रवाह बढ़ाने के लिए इनकी अधिक संख्या में छपाई होगी। कुछ वक्त के लिए 2000 रुपये के नोटों की छपाई की संख्या को सीमित किया जा रहा है।

अतिरिक्त स्टाफ की उपलब्धता

सेलरी सप्ताह की भीड़ को देखते हुए रिजर्व बैंक ने बैंकों से उन सभी शाखाओं में अतिरिक्त स्टाफ तैनात करने को कहा है जहां सेलरी एकाउंट या पेंशन एकाउंट अधिक हैं। लोगों को शाखाओं से नकदी निकासी में किसी तरह की परेशानी न हो इस बात को ध्यान में रखते हुए अगले सात दिन तक ज्यादा कर्मचारियों को लगाने की तैयारी की गई है।

सेलरी सप्ताह की भीड़ से निपटने के अलावा रिजर्व बैंक ने बैंकों से नए खाते खोलने के लिए विशेष अभियान चलाने को भी कहा गया है। सरकार का मानना है कि जो लोग अभी तक बैंकिंग के दायरे से बाहर हैं उनके खाते खोलने के लिए विशेष कैंप लगाने की व्यवस्था की जा रही है।

पढ़ें- नोटबंदी से हैं परेशान तो अपनाइए यूपीआइ, कैसे करना है पेमेंट, जानिए

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:Govt is ready for the salary week(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

मुंबई : जे के सोमानी बिल्डिंग में लगी आग पर कड़ी मशक्कत के बाद पाया गया काबूनोटबंदी : एक साल में तैयार हो जाएगा कैशलेस लेनदेन का पूरा ढांचा
यह भी देखें