PreviousNext

उस काली रात से आज सुबह तक

Publish Date:Thu, 03 Jan 2013 09:55 AM (IST) | Updated Date:Thu, 03 Jan 2013 11:42 AM (IST)
उस काली रात से आज सुबह तक
चलती बस में हुए गैंगरेप ने देश की रूह को कंपा दिया। व्यवस्था में बदलाव की बयार चल पड़ी है। दरिंदों को सख्त सजा देने के साथ ही अब आधी आबादी कानून में बदलाव चाहती है। लोगों की मानसिकत

नई दिल्ली। चलती बस में हुए गैंगरेप ने देश की रूह को कंपा दिया। व्यवस्था में बदलाव की बयार चल पड़ी है। दरिंदों को सख्त सजा देने के साथ ही अब जनता कानून में बदलाव चाहती है। लोगों की मानसिकता में सुधार चाहती है। इज्जत के साथ जीने की जिद आधी आबादी को लगातार प्रदर्शन और विरोध करने का हौसला दे रही है। आज वसंत विहार गैंगरेप मामले में 1000 पेज की चार्जशीट साकेत कोर्ट में दाखिल हो सकती है।

इस पूरे घटनाक्रम पर एक नजर

वसंत विहार गैंगरेप- 16 दिसंबर से अब तक

16 दिसंबर-

-वसंत विहार में रात साढ़े 9 बजे चार्टर्ड बस में एक युवती से सामूहिक दुष्कर्म व उसके दोस्त की पिटाई।

-रात को ही युवती को सफदरजंग अस्पताल में दाखिल कराया गया।

17 दिसंबर-

-पुलिस ने सामूहिक दुष्कर्म का मामला दर्ज किया।

18 दिसंबर-

-घटना का पता चलने पर लोगों ने वसंत विहार थाने के बाहर किया प्रदर्शन।

-घटना का पता चलने पर दिल्ली उच्च न्यायालय की महिला वकीलों के एक दल ने उच्च न्यायालय से की मामले में स्वत: संज्ञान लेने की अपील।

-पीड़िता की हालत बिगड़ी और उसकी दो सर्जरी की गई।

-पुलिस ने घटना के मुख्य आरोपी रामसिंह को गिरफ्तार कर साकेत कोर्ट में पेश किया और उसे पांच दिन के पुलिस रिमांड पर लिया।

19 दिसंबर-

-पुलिस ने गैंगरेप के तीन आरोपियों विनय, पवन और मुकेश को गिरफ्तार कर साकेत कोर्ट में पेश किया।

-अदालत में विनय और पवन ने अपनी गलती स्वीकार की और विनय ने अपने लिए फांसी की सजा की मांग की।

-गैंगरेप पीड़िता के दोस्त ने अदालत में अपने बयान दर्ज कराए

-वसंत विहार गैंगरेप मामले में दिल्ली उच्च न्यायालय ने संज्ञान लेते हुए दिल्ली पुलिस से मामले की रिपोर्ट मांगी और घटना के दौरान बस के रास्ते में पड़ने वाले तीन पुलिस नाकों पर तैनात रहे पुलिसकर्मियों की सूची और उनके खिलाफ की गई कार्रवाई की रिपोर्ट दो दिन में मांगी।

-गैंगरेप की घटना को लेकर लोगों ने जंतर-मंतर व विभिन्न जगहों पर किया प्रदर्शन।

20 दिसंबर-

-तिहाड़ जेल में गैंगरेप के आरोपी मुकेश की शिनाख्त परेड कराई गई।

-लोगों ने जंतर-मंतर, इंडिया गेट और कई जगहों पर किया प्रदर्शन।

21 दिसंबर-

-दिल्ली हाईकोर्ट में गैंगरेप को लेकर पुलिस ने अपनी रिपोर्ट दाखिल की।

-हाईकोर्ट ने रिपोर्ट से असहमति जताते हुए घटना वाली रात ड्यूटी पर तैनात पुलिसकर्मियों के नाम कमिश्नर से मांगे।

22 दिसंबर-

-युवती की हालत में सुधार होने पर एसडीएम ने अस्पताल में जाकर बयान दर्ज किए।

-राष्ट्रपति भवन का प्रदर्शनकारियों ने किया घेराव

-पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज कर आंसू गैस के गोले भी छोड़े। प्रदर्शनकारियों ने पत्थरबाजी भी की।

-प्रदर्शन के दौरान पुलिस के हमले से 70 लोग घायल।

-प्रदर्शनकारियों ने सरकारी वाहनों से की तोड़-फोड़

23 दिसंबर-

-मामले के आरोपियों की पिटाई के लिए साकेत कोर्ट में इकट्ठा हुई हजारों की भीड़।

-पुलिस ने आरोपियों को चोरी छिपे पेश किया

-रविवार को इंडिया गेट पर गैंगरेप के विरोध में प्रदर्शन कर रहे युवकों और पुलिसकर्मियों में मारपीट

-इसी दौरान प्रदर्शनकारियों का पीछा कर रहा कांस्टेबल सुभाष तोमर गिर गया और उसे अस्पताल में दाखिल कराया गया।

24 दिसंबर-

-पुलिस ने गैंगरेप के मामले में बाकी के दो आरोपियों अक्षय और राजू को गिरफ्तार कर अदालत में पेश किया।

-इंडिया गेट पर हुए बलवे को लेकर पुलिस ने प्रदर्शनकारियों के खिलाफ बलवा करने, सरकारी कर्मचारी पर हमला करने, हत्या का प्रयास व सरकारी कार्य में बाधा पहुंचाने के मामले में तिलक मार्ग थाना में केस दर्ज किया और आठ लोगों को गिरफ्तार किया।

-सभी आरोपियों को पटियाला हाउस कोर्ट से जमानत मिल गई।

-एसडीएम ने बयान दर्ज करने के दौरान पुलिस की डीसीपी छाया शर्मा व दो एसीपी पर व्यवधान डालने का आरोप लगाया। मंडल आयुक्त ने मामले की शिकायत मुख्यमंत्री शीला दीक्षित को भेजी।

-गैंगरेप के आरोपी राम सिंह की तिहाड़ में कैदियों ने पिटाई की।

25 दिसंबर-

-जंतर मंतर पर प्रदर्शन कर रही युवतियों को संसद मार्ग की ओर जाने पर पुलिस ने हिरासत में लिया और चार घंटे के बाद रिहा किया।

-अस्पताल में दाखिल दिल्ली पुलिस के कांस्टेबल सुभाष तोमर ने दम तोड़ा।

-निगमबोध घाट पर राजकीय सम्मान के साथ हुआ दाह संस्कार

-पुलिस ने कहा कि प्रदर्शनकारियों के हमले से हुई कांस्टेबल की मौत

26 दिसंबर-

-आरएमएल के चिकित्सा अधीक्षक ने मीडिया को बताया कि कांस्टेबल के शरीर पर नहीं था कोई चोट का निशान। उसकी मौत हार्ट अटैक के कारण हुई।

-पुलिस अपने बयान पर अड़ी और क्राइम ब्रांच ने चिकित्सा अधीक्षक को नोटिस भेजा।

-पीड़िता की हालत बिगड़ी और उसे एयर एम्बुलेंस के जरिये सिंगापुर स्थित माउंट एलिजाबेथ अस्पताल में भेजा गया।

27 दिसंबर-

-पीड़िता की हालत और अधिक बिगड़ी

-सिंगापुर के डाक्टरों द्वारा जांच के दौरान पीड़िता के सिर में गंभीर दिमागी चोट पाई गई।

-सामूहिक दुष्कर्म के विरोध में छात्राओं ने निजामुद्दीन में नीला गुंबद के पास प्रदर्शन कर पैदल मार्च निकाला

-पुलिस ने सामूहिक दुष्कर्म के छठे आरोपी को अदालत से एक दिन के रिमांड पर लिया ताकि वारदात के समय के उसके कपड़े बरामद किए जा सके।

28 दिसंबर-

-चिकित्सकों ने लंदन के एक विशेषज्ञ डाक्टर को पीड़िता की जांच के लिये बुलाया।

-देर शाम पीड़िता की हालत बेहद नाजुक हुई।

-इंडिया गेट पर धारा 144 लगाकर रास्ते बंद करने की पुलिस की कार्रवाई के खिलाफ दिल्ली उच्च न्यायालय में एक जनहित याचिका दायर।

-जंतर-मंतर पर लोगों ने सामूहिक दुष्कर्म की घटना के विरोध में प्रदर्शन किया।

29 दिसंबर

- रात सवा दो बजे पीड़िता ने दम तोड़ दिया

- दिल्ली में हाईअलर्ट

30 दिसंबर

पूरे देश में शोक की लहर। मुंबई में बॉलीवुड ने दी श्रद्धांजलि। शोक सभा आयोजित। पूरे देश में प्रदर्शन शुरू। श्रद्धांजलि और शोक सभा। पीएम और सोनिया शव देखने पहुंचे। आनन-फानन में दाह संस्कार।

31 दिसंबर

पूरे देश में नहीं दिखा न्यू इयर का जोश। दिल्ली में शोक की लहर।

01 जनवरी

पीड़िता का अस्थि विसर्जन।

02 जनवरी

फास्ट ट्रैक कोर्ट का उद्घाटन

03 जनवरी

1000 पेज की चार्जशीट साकेट कोर्ट में हो सकती है पेश।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:full information about delhi gang rape case(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

निमोनिया से तड़प रही बच्ची को चूहों ने खाया, मौतमेरा करियर खत्म करना चाहते हैं मेरे विरोधी : हनी सिंह
अपनी प्रतिक्रिया दें
  • लॉग इन करें
अपनी भाषा चुनें




Characters remaining

Captcha:

+ =


आपकी प्रतिक्रिया
    यह भी देखें

    संबंधित ख़बरें