PreviousNext

मध्य प्रदेश में पहली बार रोबोट ने संभाली ट्रैफिक व्यवस्था, जानिए खासियत

Publish Date:Mon, 19 Jun 2017 10:02 AM (IST) | Updated Date:Mon, 19 Jun 2017 11:41 AM (IST)
मध्य प्रदेश में पहली बार रोबोट ने संभाली ट्रैफिक व्यवस्था, जानिए खासियतमध्य प्रदेश में पहली बार रोबोट ने संभाली ट्रैफिक व्यवस्था, जानिए खासियत
मध्य प्रदेश के इंदौरा में पहली बार रोबोट ने पूरी ट्रैफिक व्यवस्था को संभाला।

नईदुनिया (इंदौर)। रविवार शाम बर्फानी धाम (रिंग रोड) चौराहे से निकलने वाले लोग हैरान रह गए। बिना सिग्नल वाले इस चौराहे पर एक रोबोट पूरी ट्रैफिक व्यवस्था संभाल रहा था, जिसने भी यह नजारा देखा, वहीं पर गाड़ी रोककर देखता रहा। हालांकि ट्रैफिक पुलिस का यह ट्रायल था, जो पूरी तरह सफल रहा।

डीएसपी (ट्रैफिक) प्रदीप सिंह चौहान ने बताया कि एक निजी इंजीनियरिंग कॉलेज ने डेढ़ साल की मेहनत के बाद इस रोबोट को तैयार किया है। हमने इसका नाम ट्रैफिक रोबोट सिस्टम रखा है। इसकी खासियत है कि इसे एक बार सेट कर देने के बाद इसकी देखरेख की जरूरत नहीं होती है। यह ट्रैफिक अपने हिसाब से मैनेज कर लेता है।

इसमें टाइमर और लाइट सिस्टम के साथ कैमरे भी लगे हैं, जिन्हें आरएलवीडी (रेड लाइट वायलेशन डिटेक्शन सिस्टम) से अटैच किया जा सकेगा। इससे लालबत्ती में सिग्नल पार करने वाले वाहन चालकों के खिलाफ चालानी कार्रवाई की जा सकेगी। अभी इसका ट्रायल किया जा रहा है। इसे लगाने से चौराहे पर पुलिस बल की जरूरत नहीं होगी। हालांकि इस सिस्टम पर नियंत्रण के लिए दो इंजीनियरों को तैनात करना होगा।

 पेटेंट के लिए किया आवेदन

रोबोट बनाने वाले राहुल तिवारी ने बताया कि उनकी जानकारी के अनुसार अभी तक भारत में ऐसा कोई रोबोट नहीं बनाया गया है, इसलिए उन्होंने इसके पेटेंट के लिए आवेदन किया है। सब कुछ ठीक रहा तो वह कुछ और रोबोट तैयार करके पुलिस को देंगे।

यह है रोबोट की खासियत

  • 500 किलो लोहे से बना है
  • घूमता रहता है ऊपरी हिस्सा
  • टाइमर और कैमरों से लैस
  • इसकी भुजाएं ट्रैफिक खुलने के हिसाब से एडजस्ट होती रहती हैं
  • वाईफाई से जोड़कर कैमरों का व्यू लैपटॉप, टेबलेट और आरएलवीडी सिस्टम से देखा जा सकता है
  • एक बार इंस्टाल करने के बाद इसे हटाया भी जा सकता है और दूसरे स्थान पर ले जाया जा सकता है
  • अभी यह 12 वॉट के बिजली कनेक्शन से चलता है
  • भविष्य में इसे सोलर सिस्टम से अपडेट कर दिया जाएगा

यह भी पढ़ें: स्कूली पढ़ाई में फिसड्डी साबित हुआ बुद्धिमान रोबोट

यह भी पढ़ें: इस चर्च में पादरी नहीं रोबोट देता है आशीर्वाद

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:First time Robots managed traffic system in Madhya Pradesh(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

50 हजार रुपए रिश्वत लेते सेना का कर्नल गिरफ्तार, CBI ने दर्ज किया केससंकीर्ण राजनीति का दुष्परिणाम है दार्जिलिंग में उभरता असंतोष
यह भी देखें