PreviousNext

दिल्ली: घरेलू सहायिका के साथ दरिंदगी, घर में कैद कर विदेश गई एयर होस्टेस

Publish Date:Wed, 30 Oct 2013 03:02 AM (IST) | Updated Date:Wed, 30 Oct 2013 10:20 AM (IST)
दिल्ली: घरेलू सहायिका के साथ दरिंदगी, घर में कैद कर विदेश गई एयर होस्टेस
नेताजी नगर में एक एयर होस्टेस द्वारा नाबालिग घरेलू सहायिका को बेल्ट से पीटने और घर में कैद रखने का मामला सामने आया है। पुलिस ने आरोपी बीरा थोईबी (22) के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया। ए

नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। नेताजी नगर में एक एयर होस्टेस द्वारा नाबालिग घरेलू सहायिका को बेल्ट से पीटने और घर में कैद रखने का मामला सामने आया है। पुलिस ने आरोपी बीरा थोईबी के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया। एयर होस्टेस के ऑस्ट्रेलिया में होने की वजह से उसे गिरफ्तार नहीं किया जा सका।

पढ़ें: 'दीदी मुझे निर्वस्त्र कर बाहर झाड़ू लगवाती थी'

गत रविवार बीरा मुख्य दरवाजे और छत को जाने वाली सीढि़यों के दरवाजे पर ताला जड़ कर एयर इंडिया की फ्लाइट से ऑस्ट्रेलिया चली गई। वह बुधवार को लौटेगी। पीड़ित 13 वर्षीय किशोरी दो दिन से घर के अंदर कैद थी।

सोमवार शाम वह किसी तरह सीढ़ी के दरवाजे का ताला तोड़कर बाहर आई और पास में रहने वाले एक व्यक्ति को आपबीती सुनाई। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस किशोरी को अस्पताल ले गई। चिकित्सकीय परीक्षण में उसके शरीर पर मारपीट करने के कुछ पुराने निशान मिले।

पुलिस ने पीड़िता को लाजपत नगर स्थित चाइल्ड वेलफेयर कमेटी के समक्ष पेश किया। बुधवार को मजिस्ट्रेट के समक्ष बयान दर्ज कराया जाएगा। पुलिस के मुताबिक बीरा व किशोरी दोनों मणिपुर की हैं। दोनों के परिजन एक-दूसरे को जानते हैं।

बेल्ट से पीटती थी एयर होस्टेस

एयर होस्टेस अपनी घरेलू सहायिका को न केवल बेल्ट से पीटती थी, बल्कि उसे घर में कैद कर देती थी। उसे न तो खाना दिया जाता था और न ही पानी।

पीड़िता दो साल से कर रही है काम

पुलिस के मुताबिक 22 वर्षीय बीरा थोईबी मणिपुर की राजधानी इंफाल की रहने वाली है। पीड़िता भी इंफाल की है। पीड़िता व बीरा थोईबी के परिजन एक-दूसरे को जानते हैं। दो साल पहले बीरा की चचेरी बहन घरेलू सहायिका को इंफाल से दिल्ली लाई थी। उसने उसे बीरा के हवाले कर दिया था। बीरा नेताजी नगर के सी-16 फ्लैट में रह रही है। फ्लैट उसके किसी रिश्तेदार का है। बीरा यहां करीब ढाई साल से रह रही है। यहां के सरकारी फ्लैटों में टेक्सटाइल व अन्य मंत्रालयों के कर्मचारी रहते हैं। माना जा रहा है उपरोक्त फ्लैट का मालिक भी किसी मंत्रालय में नौकरी करता है।

छह धाराओं के तहत मामला दर्ज

पुलिस ने बीरा के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 323 (मारपीट), 340 (गलत तरीके से बंधक बनाना), 370 (4 व 7) (दास के रूप में किसी को खरीदना या बेचना), 16 बंधुआ मजदूरी एक्ट, 23 व 26 जुवेनाइल जस्टिस एक्ट व 14 चाइल्ड लेबर एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है।

संगम विहार के ग्लोबल होम में रखा

पीड़िता को समाज कल्याण विभाग के संगम विहार में स्थित ग्लोबल होम में रखा गया है। उसके परिजनों को भी सूचित कर दिया गया है।

पढ़ी-लिखी नहीं है पीड़िता

पुलिस का कहना है कि पीड़ित किशोरी पढ़ी-लिखी नहीं है। उसे 11 साल की उम्र में उसे दिल्ली लाया गया था। उसकी एक आंख खराब है।

'मैं मम्मी के पास जाना चाहती हूं'

दीदी मुझे बेल्ट से मारती है। पैसा नहीं देती। मम्मी से भी बात करने नहीं देती। वह सुबह के समय घर से निकलती है और देर रात लौटती है। घर वापस लौटने पर रात 11 से तीन बजे तक मुझसे मसाज करवाती हैं। उसके बाद सो जाती है। सुबह आठ बजे जब वह उठती है तब मैं चाय नाश्ता बनाती हूं। वह मुझे बहुत तंग करती है। रविवार से मैं भूखे-प्यासे घर में बंद हूं। मैं मम्मी के पास जाना चाहती हूं। मैं यहां नहीं रह सकती हूं। -घरेलू सहायिका

वह अक्सर पहली मंजिल से नीचे उतरकर बच्चों के साथ खेलती है। उसके साथ अत्याचार किया जाता है, इसकी जानकारी हमें नहीं है। इधर एक दो दिन से वह नीचे नहीं आई थी। एयर होस्टेस हम लोगों से बात नहीं करती है। उसे सुबह कार लेने आती है और देर रात छोड़ जाती है। हमें कभी नहीं लगा कि वह घरेलू सहायिका है, क्योंकि उसके पहनावे से हमें लगता था कि वह एयर होटेस्स की छोटी बहन है।'

-पड़ोस की रहने वाली महिलाएं

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:Delhi: police rescue 13-year-old abused maid(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

आइएम का हर तीन महीने में धमाके का मंसूबादस-दस हजार रुपये देकर छात्रों से रखवाए गए बम
अपनी प्रतिक्रिया दें
  • लॉग इन करें
अपनी भाषा चुनें




Characters remaining

Captcha:

+ =


आपकी प्रतिक्रिया
    यह भी देखें

    संबंधित ख़बरें