PreviousNext

अलगाववादियों की भाषा बोल रही है कांग्रेस: भाजपा

Publish Date:Fri, 17 Feb 2017 09:03 PM (IST) | Updated Date:Fri, 17 Feb 2017 09:21 PM (IST)
अलगाववादियों की भाषा बोल रही है कांग्रेस: भाजपाअलगाववादियों की भाषा बोल रही है कांग्रेस: भाजपा
सेनाध्यक्ष ने चेतावनी दी थी कि आतंकियों के खिलाफ अभियान के दौरान सुरक्षा बलों पर हमला करने वाले कश्मीरी युवाओं के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

जागरण ब्यूरो, नई दिल्ली। आतंकियों के खिलाफ आपरेशन के दौरान व्यवधान डालने वाले कश्मीरी युवकों को सेनाध्यक्ष जनरल बिपिन रावत की चेतावनी का विरोध करने पर भाजपा ने कांग्रेस को आड़े हाथों लिया है। भाजपा ने आरोप लगाया है कि कांग्रेस पर तुच्छ राजनीतिक लाभ के लिए अलगाववादियों की भाषा बोल रही है। केंद्रीय मंत्री व जम्मू-कश्मीर से सांसद जितेंद्र सिंह ने इस मुद्दे पर कांग्रेसी नेताओं के बयान का हवाला देते हुए राहुल गांधी से स्थिति साफ करने की मांग की है।

गौरतलब है कि बुधवार को सेनाध्यक्ष ने चेतावनी दी थी कि आतंकियों के खिलाफ अभियान के दौरान सुरक्षा बलों पर हमला करने वाले कश्मीरी युवाओं के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। कांग्रेस, पीडीपी और अलगाववादी हुर्रियत ने इसकी निंदा की थी। कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि कश्मीर में अभी संयम की जरूरत है, वहां सभी लोग आतंक के समर्थक नहीं है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद और संदीप दीक्षित ने भी इसी तरह के बयान दिए थे।

यह भी पढ़ें: सुप्रीम कोर्ट में पांच नए जजों ने ली शपथ, 3 पद अब भी खाली

इसके साथ ही अलगाववादी हुर्रियत नेता यासीन मलिक ने सेना प्रमुख के बयान की निंदा करते हुए कहा था कि कश्मीर में पत्थरबाजी एक अहिंसक आंदोलन है और इस बयान से कश्मीर की आवाम डरी हुई है। जबकि नेशनल कांफ्रेंस ने ऐसे धमकी भरे बयान की जगह कश्मीरी युवकों से संवाद कायम करने की जरूरत बताई थी।

सेना प्रमुख के बयान के खिलाफ बोलने वाले केंद्र में सबसे बड़े विपक्ष दल कांग्रेस और जम्मू-कश्मीर में प्रमुख विपक्षी दल नेशनल कांफ्रेंस के नेताओं को आड़े हाथों लेते हुए जितेंद्र सिंह ने उनपर अलगाववादियों की भाषा बोलने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि सत्ता से दूर होने के बाद नेशलन कांफ्रेंस ने अलगाववादियों की भाषा अपना ली है और कांग्रेस भी यही कर रही है।

यह भी पढ़ें: बांग्लादेशी चित्रकार होंगे राष्ट्रपति भवन के मेहमान

जनरल रावत का बचाव करते हुए उन्होंने कहा कि सेनाध्यक्ष कश्मीरी युवाओं के धमकी नहीं दे रहे थे, बल्कि आतंकी मुठभेड़ से दूर रहने की सलाह दे रहे थे, ताकि उन्हें कोई नुकसान नहीं हो। वहीं, गृह राज्यमंत्री किरन रिजिजू ने साफ कर दिया है कि कश्मीर जैसे संवेदनशील मुद्दे पर सियासत नहीं की जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि सेना प्रमुख का बयान राजनीतिक नहीं, बल्कि देश के हित में था।

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:BJP said Congress Speaking language of separatists(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

उत्साहित 'आप' ने शुरू किया पांच राज्यों का अभियानडीएल के राष्ट्रीय रजिस्टर के लिए अभी तैयार नहीं हैं राज्य
यह भी देखें