PreviousNextPreviousNext

आधार कार्ड बचाएगा हजार करोड़ रुपये

Wed, 11 Apr 2012 08:57 PM (IST)
आधार कार्ड बचाएगा हजार करोड़ रुपये

नई दिल्ली। 'आधार' देश की दूरसंचार कंपनियों के हर साल एक हजार करोड़ रुपये बचा सकता है। कंपनियां यह बचत अपने ग्राहकों के नाम-पते के सत्यापन में आधार कार्ड के इस्तेमाल करने से कर सकेंगी। यही नहीं इसके इस्तेमाल से केवाईसी (अपने ग्राहक को जानो) की न्यूनतम पेपरवर्क की परिकल्पना को भी साकार किया जा सकेगा।

भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण [यूआइडीएआइ] की ओर से कराए गए एक शोध में पता चला है कि इस कार्ड के इस्तेमाल से टेलीकॉम कंपनियों को काफी सहूलियत होगी। आधार पहचान पत्र परियोजना की ऑनलाइन सेवा के जरिए फोनधारकों का आसानी से सत्यापन किया जा सकता है।

यूआइडीएआइ की ओर से लागू आधार परियोजना में हर व्यक्ति को एक यूनीक नंबर देने का प्रस्ताव है। प्राधिकरण ने छह करोड़ लोगों को पंजीकृत करने का लक्ष्य रखा है, जिसमें अब तक दो करोड़ का पंजीकरण हो चुका है। यूआइडीएआइ के शोध के मुताबिक, एक बात साफ है कि आधार के इस्तेमाल से ग्राहकों के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त की जा सकती है। इससे कागजी खानापूरी न होने पर लगने वाले अर्थदंड से भी बचा जा सकेगा। यह अर्थदंड उन मोबाइल ऑपरेटरों पर लगता है, जो अपने उपभोक्ताओं के नाम और पते को तय नियमों के आधार पर सत्यापित नहीं करवा पाते। दूरसंचार प्रबंधन, प्रवर्तन एवं निगरानी सेल ने वर्ष 2010-2011 में टेलीकॉम ऑपरेटरों पर सत्यापन में गड़बड़ी के चलते 700 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया है। टेलीकॉम कंपनियां हर महीने तकरीबन तीन करोड़ मोबाइल फोन कनेक्शन जारी करतीं हैं।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए क्लिक करें m.jagran.com परया

कमेंट करें

Tags:adhar, card

Web Title:

(Hindi news from Dainik Jagran, newsbusiness Desk)

राहगीरों के लिए मुसीबत का सबब धंसा एप्रोचकभी जेनरेटर खराब तो कभी कम्प्यूटर
यह भी देखें

प्रतिक्रिया दें

English Hindi
Characters remaining


लॉग इन करें

यानिम्न जानकारी पूर्ण करें



Word Verification:* Type the characters you see in the picture below

    स्थानीय

      यह भी देखें
      Close
      आइपीओ से जुटाए 6,000 करोड़
      कर्मचारियों से 5,000 करोड़ जुटाएगा सहारा
      भारत बना अमेरिका के लिए वरदान, 81 हजार लोगों को दी नौकरी