PreviousNext

तकनीक से अब दिमाग को मिल सकेगी जुबान

Publish Date:Wed, 19 Apr 2017 11:44 AM (IST) | Updated Date:Wed, 19 Apr 2017 01:09 PM (IST)
तकनीक से अब दिमाग को मिल सकेगी जुबानतकनीक से अब दिमाग को मिल सकेगी जुबान
जापान की तोयोहाशी यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्नोलॉजी के शोधकर्ताओं ने तकनीक विकसित की है जो बोलने में अक्षम लोगों के लिए यह तकनीक वरदान साबित हो सकती है।

वैज्ञानिकों ने ऐसी तकनीक विकसित की है, जो दिमाग की तरंगों का विश्लेषण कर पता लगाती है कि व्यक्ति क्या बोलने का प्रयास कर रहा है। बोलने में अक्षम लोगों के लिए यह तकनीक वरदान साबित हो सकती है। जापान की तोयोहाशी यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्नोलॉजी के शोधकर्ताओं ने तकनीक विकसित की है। इससे दिमाग की ईईजी की मदद से शून्य से नौ तक की गिनती को 90 फीसद तक सही पढ़ा। यह 18 प्रकार की जापानी बोलियों को पहचानने में सक्षम है। इसमें 61 फीसद सटीक पाया गया। इस तकनीक की मदद से वैज्ञानिक भविष्य में ईईजी आधारित टाइप राइटर बनाने की दिशा में काम कर रहे हैं। अब तक इस तरह की तकनीक डाटा की कमी के कारण बेहतर ढंग से काम नहीं कर पाई हैं। अब वैज्ञानिकों ने ऐसा फ्रेमवर्क तैयार किया है, जो न्यूनतम डाटा की मदद से भी बेहतर नतीजा देने सक्षम है।

-प्रेट्र 

यह भी पढ़ें : एथलीट के लिए स्पोर्ट्स ड्रिंक से बेहतर पानी

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:technology will help mind(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

एथलीट के लिए स्पोर्ट्स ड्रिंक से बेहतर पानीअब गर्म मौसम में भी कूल रहेंगे घर के इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस
यह भी देखें

जनमत

पूर्ण पोल देखें »