Dainik Jagran Hindi News

www.jagran.com
July 23,2014
« Previous | 1 | 2 | 3 | 4 | 5 | 6 | 7 | 8 | 9 | 10 | Next »

उत्तरकाशी

सुस्ती में बीआरओ भी कम नहीं

deanger zone

संवाद सहयोगी, उत्तरकाशी: बीते साल आपदा से ध्वस्त गंगोत्री राजमार्ग की मरम्मत को लेकर बीआरओ की लापरवाही की पोल अब खुलने लगी है। बीते सप्ताह से भर से मामूली बारिश से भी राजमार्ग कई घंटों के लिए बंद हो रहा है। गंगोत्री राजमार्ग की हालत आपदा के एक साल से ज्यादा समय बीतने के बाद भी नहीं सुधारी जा सकी। इस बार मानसून के दौरान हो रही भारी बारिश से राजमार्ग फिर राहगीरों की जान के लिए खतरा बनने लगा है। ... और पढ़ें »

Updated on: Wed, 16 Jul 2014 06:01 PM (IST)
        

समिति का कार्यकाल अक्टूबर तक बढ़ाया

उत्तरकाशी : उत्तराखंड चतुर्थ वर्गीय राज्य कर्मचारी संघ उद्यान एवं खाद्य प्रसंस्करण विभाग की समिति का कार्यकाल अक्टूबर तक बढ़ाया गया है। समिति का इसी महीने दोबारा चुनाव होना था। मंगलवार को रेडक्रास भवन में आयोजित बैठक में समिति ने समिति के पुनर्गठन को फिलहाल टालने का फैसला लिया। बैठक की अध्यक्षता करते हुए प्यार सिंह राणा ने कहा कि समिति की ओर से कर्मियों के हितों को लेकर कई बड़ी मांगें शासन से मनव... और पढ़ें »

Updated on: Wed, 16 Jul 2014 05:34 PM (IST)
        

गंगोत्री 12 और यमुनोत्री हाईवे दस घंटे बाद खुला

road block

उत्तरकाशी : रात भर हुई बारिश से गंगोत्री हाईवे एक बार फिर भूस्खलन से 12 घंटे तक बाधित रहा। वहीं यमुनोत्री हाईवे भी तीन जगहों पर दस घंटे तक बंद रहा। इसके चलते दोनों हाईवे पर विभिन्न जगहों पर घंटों तक सैकड़ों यात्री व स्थानीय लोग फंसे रहे। मंगलवार रात एक बजे से गंगोत्री हाईवे लगातार तीसरे दिन नेताला, बड़ेथी व लालढांग व नलूणा में भूस्खलन से बंद रहा। नेताला को छोड़कर अन्य जगहों पर बीआरओ की मशीनों ने दस ... और पढ़ें »

Updated on: Wed, 16 Jul 2014 05:33 PM (IST)
        

इंद्रावती नदी उफनाई सुरक्षा कार्य बाधित

heavirain

जागरण संवाददाता, उत्तरकाशी : बीते सोमवार की रात्रि को हुई बारिश से इंद्रावती नदी में उफान आ गया। जिससे भागीरथी और इंद्रावती के संगम पर बाढ़ सुरक्षा कार्यो को नुकसान पहुंचा। वहीं लंबगांव मोटर मार्ग पर भी आवागमन बंद हो गया। लगातार बारिश से इंद्रावती नदी का जलस्तर सोमवार की सुबह अचानक बढ़ गया। तेज प्रवाह वाली इंद्रावती के बढ़े हुए जल प्रवाह ने संगम पर चल रहे बाढ़ सुरक्षा कार्यो को बाधित कर दिया। सुर... और पढ़ें »

Updated on: Wed, 16 Jul 2014 01:00 AM (IST)
        

अच्छे दिन आने में लगेगा समय

baba ram dave

जागरण संवाददाता, उत्तारकाशी : योग गुरु बाबा रामदेव ने कहा कि नरेंद्र मोदी सशक्त प्रधानमंत्री हैं, लेकिन देश को पटरी पर आने में समय लगेगा। उन्होंने कहा कि पहाड़ में सड़कों की हालत को बेहद खराब है। प्रदेश सरकार को इस ओर ध्यान देने की जरूरत है। मंगलवार की दोपहर को बाबा रामदेव उत्तारकाशी पहुंचे। यहां कैलाश आश्रम में कुछ देर विश्राम करने के बाद वे गंगोत्री की ओर रवाना हुए। यहां से वह बुधवार को गोमुख या... और पढ़ें »

Updated on: Wed, 16 Jul 2014 01:00 AM (IST)
        

पेयजल टैंक में घुसा बस्तियों का गंदा पानी

dddddd

संवाद सहयोगी, उत्तरकाशी: गोफियारा स्थित जल संस्थान के टैंक में बस्ती की नालियों का गंदा पानी भरने से संस्थान के कर्मचारियों में काफी रोष है। इसके लिए उन्होंने जिला प्रशासन तथा बस्ती वाले लोगों को जिम्मेदार ठहराया। सोमवार रात तेज बारिश होने से गाफियारा स्थित बस्ती का पूरा पानी टैंक में आ गया था। इससे पूरे दिन भर शहर क्षेत्र के नलों में गंदा पानी आता रहा। जिन इलाकों में इस टैंक से आपूर्ति हो रही है ... और पढ़ें »

Updated on: Tue, 15 Jul 2014 07:31 PM (IST)
        

फूंका यूपीएससी का पुतला

protest

जागरण संवाददाता, श्रीनगर गढ़वाल: संघ लोक सेवा आयोग की ओर से ली जाने वाली परीक्षाओं में हिंदी और अन्य क्षेत्रीय भाषाओं की उपेक्षा करने और केवल अंग्रेजी को तरजीह देने के विरोध में विद्यार्थी परिषद कार्यकर्ताओं ने सोमवार को श्रीनगर के गोला पार्क में यूपीएससी का पुतला फूंककर विरोध में नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन भी किया। परिषद कार्यकर्ताओं ने चेतावनी देते हुए कहा कि यूपीएससी ने यदि हिंदी को तरजीह देने ... और पढ़ें »

Updated on: Mon, 14 Jul 2014 06:28 PM (IST)
        

ठेकेदारों ने सिंचाई विभाग से मांगा काम का भुगतान

protest

जागरण संवाददाता, उत्तरकाशी : बाढ़ सुरक्षा कार्यो का भुगतान न होने से गुस्साए ठेकेदारों ने सिंचाई विभाग दफ्तर के विरोध प्रदर्शन किया। ठेकेदारों का आरोप है कि प्रशासन ने कई जगहों पर उनसे जबरन काम करवाया, लेकिन अब बजट को लेकर सिंचाई विभाग और प्रशासन दोनों ही जिम्मेदारी लेने से बच रहे हैं। वर्ष 2012 में असीगंगा व भागीरथी की बाढ़ के बाद तटबंधों के निर्माण का काम शुरू करने वाले ठेकेदारों ने अब हाथ खड़े ... और पढ़ें »

Updated on: Mon, 14 Jul 2014 06:17 PM (IST)
        

अधूरे पुलों से जिंदगी वीरान

breze incomplite

जागरण संवाददाता, उत्तरकाशी : गंगोत्री वैकल्पिक हाईवे पर तीन अधूरे पुल जी का जंजाल बने हैं। बीआरओ ने इन पुलों पर पांच साल पहले ही काम शुरू कर दिया था, लेकिन बजट के अभाव में इनका काम बीच में ही लटक गया। इस कारण वैकल्पिक हाईवे का निर्माण भी पूरा नहीं हो सका है। आपदा के लिहाज से संवेदनशील उत्तरकाशी जिला मुख्यालय में बाईपास मार्ग के बेहद जरूरत है। इसके लिए करीब दस वर्ष पूर्व बीआरओ ने बड़ेथी तेखला वैकल्... और पढ़ें »

Updated on: Mon, 14 Jul 2014 06:03 PM (IST)
        

कलश यात्रा पहुंची उत्तरकाशी

ganga kalash yatra in uttarkashi

उत्तारकाशी : गोस्वामी तुलसीदास जयंती पर श्रीराम प्रचार समिति की ओर से गंगा कलश यात्रा सोमवार को उत्तरकाशी पहुंची। यहां स्थानीय लोगों ने यात्रा का भव्य स्वागत किया। यात्रा का संचालन कर रहे रवि शास्त्री ने बताया कि बीते साल आपदा में मारे गए लोगों की आत्मा शांति के लिए तथा गंगा को प्रदूषण मुक्त बनाने को संकल्प लेकर गंगा कलश यात्रा छह सदस्यों के साथ ऋषिकेश से शुरू होकर सोमवार को उत्तरकाशी पहुंची। सम... और पढ़ें »

Updated on: Mon, 14 Jul 2014 06:03 PM (IST)
        

भागीरथी का जलस्तर उफान पर

flood safety work in bhagirathi

जागरण संवाददाता, उत्तरकाशी : अपर भागीरथी घाटी में हुई भारी बारिश से रविवार को भागीरथी का जलस्तर उफान पर रहा। इसके चलते तटवर्ती इलाकों में हो रहे बाढ़ सुरक्षा कार्य जलमग्न हो गए। वहीं मातली में आधी अधूरी दीवार के कारण बस्ती को खतरा पैदा हो गया। रविवार को तड़के हुई बारिश से भागीरथी के बढ़े हुए जलस्तर ने बाढ़ सुरक्षा कार्यो के लिए परेशानी बढ़ा दी। पानी बढ़ने के कारण मनेरी भाली प्रथम चरण परियोजना के च... और पढ़ें »

Updated on: Mon, 14 Jul 2014 01:22 AM (IST)
        

सीमित सीटों के विरोध में कुलसचिव का पुतला फूंका

उत्तरकाशी : राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय में बीए एवं बीएससी संकाय में सीमित सीटों के विरोध में छात्र संगठन ओम ग्रुप ने रविवार को कालेज परिसर के बाहर विवि के कुलसचिव का पुतला फूंका। इसके साथ ही शीघ्र ही दोनों संकाय में सीटें न बढ़ाने पर उग्र आंदोलन की भी चेतावनी दी है। महाविद्यालय में नए सत्र से ड्रेस कोड एवं सीमित सीटें होने के कारण छात्रों में लगातार आक्रोश बढ़ता जा रहा है। रविवार को ओम ग... और पढ़ें »

Updated on: Mon, 14 Jul 2014 01:22 AM (IST)
        

मानदेय न मिलने पर शिक्षा मित्रों में रोष

उत्तरकाशी : पांच माह से मानदेय न मिलने पर शिक्षा मित्रों ने रोष प्रकट किया। उन्होंने मुख्य शिक्षा अधिकारी को ज्ञापन सौंपकर शीघ्र मानदेय देने की मांग की। संगठन के अध्यक्ष चंदन सिंह कुंडरा का कहना है कि शिक्षा मित्रों को माह मार्च से अभी तक का मानदेय नहीं मिला है जिससे अब आजीविका पर संकट गहराने लगा है। इसके साथ ही उन्होंने बीटीसी एवं डीएलएड प्रशिक्षण प्राप्त करने वाले शिक्षा मित्रों को सहायक अ... और पढ़ें »

Updated on: Sun, 13 Jul 2014 06:25 PM (IST)
        

आपदा के कार्यो को आगे बढ़ाना प्राथमिकता: डीएम

press meet

जागरण संवाददाता, उत्तरकाशी : जिले के नवनियुक्त जिलाधिकारी सी रविशंकर ने कहा कि आपदा से जुड़े कार्यो को सही ढंग से पूरा करना उनकी प्राथमिकता रहेगी। इसके लिए वे जल्द ही सभी विभागों से बैठक कर आगे की कार्यवाही करेंगे। 2009 बैच के आईएएस सी रविशंकर इससे पूर्व सिडकुल हरिद्वार के जीएम रहे। उत्तरकाशी में बतौर डीएम कार्यभार ग्रहण करने के बाद सी रविशंकर ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि आपदा के बाद पुनर्नि... और पढ़ें »

Updated on: Sun, 13 Jul 2014 06:25 PM (IST)
        

मिट्टी की दीवार से होगी सुरक्षा

cunstrtion

जागरण संवाददाता, उत्तरकाशी : भागीरथी में बाढ़ सुरक्षा कार्य सुरक्षा के नाम पर मखौल उड़ाया जा रहा है। इसका नमूना मातली बस्ती को बचाने के लिए बनाई जा रही सुरक्षा दीवार है। इस काम में सीमेंट व पत्थर की दीवार खड़ी करने की बजाए मिट्टी डाल दी गई है। इससे मातली बस्ती पर खतरा लगातार मंडरा रहा है। बीते साल जून माह में भागीरथी नदी की बाढ़ ने मातली गांव की तटवर्ती बस्ती को बड़े पैमाने पर नुकसान पहुंचाया था। जि... और पढ़ें »

Updated on: Sun, 13 Jul 2014 06:25 PM (IST)
        

अग्निकांड पीड़ितों का बांटी राहत सामग्री

उत्तरकाशी : जखोल अग्निकांड पीड़ितों को भुवनेश्वरी महिला आश्रम प्लान की ओर से राहत सामग्री वितरित की गई। इस मौके पर ग्रामीणों को आग से बचाव के गुर सिखाए गए। बीते दिनों जखोल गांव में अग्निकांड में 20 परिवार बेघर हो गए थे। गुरुवार को एसबीएमए प्लान ने मोरी प्रखंड के जखोल गांव में पहुंचकर 20 परिवारों को कंबल, बर्तन, राशन, कपड़े वितरित किए। इस मौके पर एसबीएमए प्लान के आपदा प्रबंधन कार्यक्रम के समन्वयक ... और पढ़ें »

Updated on: Thu, 10 Jul 2014 06:24 PM (IST)
        

उत्तराखंड में ही हुआ महापुराणों का विस्तार

संवाद सहयोगी, उत्तरकाशी: ऋषि मुनि आज भी पहाड़ में भगवान की तपस्या में जुटे हुए हैं। अष्टादश महापुराण के कथानांक का उल्लेख करते हुए कथावाचक दुर्गेश आचार्य ने दावा किया कि उत्तराखंड में ही महापुराणों का विस्तार हुआ है। विश्वशांति सद्भावना धाम आश्रम एनआइएम रोड़ में आयोजित श्रीमद्भागवत महापुराण कथा में संत डॉ. दुर्गेश आचार्य महाराज ने कहा कि श्रीमद्भागवत महापुराण व समस्त अष्टादश महापुराण का विस्तार... और पढ़ें »

Updated on: Thu, 10 Jul 2014 05:47 PM (IST)
        

विकास भवन में बिजली गुल

जागरण संवाददाता, उत्तरकाशी : जिले में विकास योजनाओं का संचालन करने वाला विकास भवन खुद बदहाल है। बीते तीन दिनों से बिजली न होने के कारण विकास भवन में अधिकांश कार्य ठप पड़े हुए हैं। वहीं कर्मचारी भी गर्मी के कारण अपनी कुर्सियों पर बैठने में कतरा रहे हैं। लदाड़ी स्थित विकास भवन पहले ही कई खामियों से जूझ रहा है। सफाई व पेयजल आपूर्ति की समस्या यहां लंबे समय से बनी हुई है। अब बीते तीन दिनों से विकास भवन ... और पढ़ें »

Updated on: Thu, 10 Jul 2014 05:16 PM (IST)
        

मदद को पुलिस विभाग आगे आया

police

संवाद सहयोगी, उत्तरकाशी: आंख के कैंसर से जूझ रहे नैताला के 12 वर्षीय विजय की मदद को पुलिस विभाग आगे आया है। पुलिस महानिदेशक ने विजय लाल के इलाज की जिम्मेदारी लेते हुए उसे मंगलवार को देहरादून स्थित मैक्स अस्पताल में भर्ती करवा दिया। मैक्स में उसकी आंख का ऑपरेशन होगा। दैनिक जागरण ने बीती आठ जुलाई के अंक में 'गरीबी ने छीनी आंखों की रोशनी' शीर्षक से नैताला निवासी विजय लाल की बीमारी की खबर को प्रमुखत... और पढ़ें »

Updated on: Thu, 10 Jul 2014 01:17 AM (IST)
        

सिंचाई योजना पर भड़के ग्रामीण

villagers angry

जागरण संवाददाता, उत्तरकाशी : सिरोर गांव की पंपिंग सिंचाई योजना दुरुस्त न होने पर ग्रामीणों ने बुधवार को मनेरी में जुलूस निकालकर प्रदर्शन किया। ग्रामीणों ने मांग पूरी न होने पर उग्र आंदोलन की भी चेतावनी दी है। बीते एक साल से बंद पड़ी पंपिंग सिंचाई योजना की मरम्मत न होने के कारण सिरोर गांव के लोग सिंचाई के लिये तरस रहे हैं। यह व्यवस्था जल विद्युत निगम की ओर से वर्षो पहले की गई थी। मनेरी भाली परियोजन... और पढ़ें »

Updated on: Thu, 10 Jul 2014 01:17 AM (IST)
        
(News from Uttarkashi, Uttarakhand)
« Previous | 1 | 2 | 3 | 4 | 5 | 6 | 7 | 8 | 9 | 10 | Next »
यह भी देखें