Dainik Jagran Hindi News

www.jagran.com
August 21,2014
1 | 2 | 3 | 4 | 5 | 6 | 7 | 8 | 9 | 10 | Next »

टिहरी गढ़वाल

घर में घुसकर महिला से छेड़छाड़, चेन लूटी

संवाद सूत्र, छाम: थौलधार विकास खंड की गुसांई पट्टी के गैर गांव में एक व्यक्ति ने महिला के घर में घुसकर उससे छेड़छाड़ की और गले की चेन लूटकर फरार हो गया। राजस्व पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज करने के बाद आरोपी को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया। कोर्ट ने उसे चौदह दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया। गैर गांव निवासी कसरी देवी पत्नी विनोद सिंह ने बीती 19 अगस्त को राजस्व पुलिस चौकी कंडारखाल में दर्ज रिपोर्... और पढ़ें »

Updated on: Thu, 21 Aug 2014 01:00 AM (IST)
        

हत्यारोपी के लाई डिटेक्टर टेस्ट को कोर्ट की मंजूरी

जागरण संवाददाता, नई टिहरी: हत्या के एक आरोपी के अनुरोध पर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट शादाब बानौ की अदालत ने उसका लाई डिटेक्टर टेस्ट कराने की अनुमति दे दी। पुलिस दिल्ली में आरोपी का टेस्ट कराएगी। काबिलेगौर है कि घनसाली थाना क्षेत्र के ढाबसौड़ निवासी राकेश मेंगवाल की इसी साल 16 जून को संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी। उसका शव खाई से बरामद हुआ था। मृत के परिजनों ने गांव के ही राय सिंह नामक व्यक्... और पढ़ें »

Updated on: Wed, 20 Aug 2014 08:51 PM (IST)
        

सांसद ने आपदा से हुए नुकसान का लिया जायजा

समाचार सहयोगी, चंबा: सांसद माला राज्य लक्ष्मी शाह ने आपदा प्रभावित बागी गांव पहुंचकर आपदा से हुए नुकसान का जायजा लिया साथ ही ग्रामीणों की समस्याओं से रूबरू हुई। उन्होंने प्रभावितों के हर संभव मदद का आश्वासन दिया। बुधवार को प्रखंड के आपदा प्रभावित बागी गांव पहुंचकर सांसद शाह ने प्रभावित क्षेत्रों में नुकसान का जायजा लिया। उसके बाद सासद ने ग्रामीणों के साथ बैठक की। उन्होंने कहा कि प्रभावितों की हर ... और पढ़ें »

Updated on: Wed, 20 Aug 2014 06:12 PM (IST)
        

ग्रामीणों ने लोनिवि के ईई का घेराव किया

संवाद सूत्र, नैनबाग: जौनपुर व नैनबाग में बंद मोटर खुलवाने को लेकर जन प्रतिनिधियों ने लोनिवि के अधिशासी अभिायंता का घेराव किया। अधिशासी अभियंता के दो सप्ताह के अंदर बंद पड़ी सड़कों को खोलने के आश्वासन दिए जाने पर जन प्रतिनिधि शांत हुए। बुधवार को लोनिवि के नैनबाग स्थित गेस्ट हाउस में पहुंचे अधिशासी अभियंता का क्षेत्र के जनप्रतिनिधि व ठेकेदारों ने घेराव कर दिया। इस दौरान उन्होंने अधिशासी अभियंता को ... और पढ़ें »

Updated on: Wed, 20 Aug 2014 04:40 PM (IST)
        

एसआरटी में सितंबर में होंगे छात्रसंघ चुनाव

नई टिहरी: एसआरटी परिसर बादशाहीथौल में सितंबर में छात्रसंघ चुनाव कराए जाएंगे। छात्रसंघ चुनाव के लिए डॉ. सुबोध कुमार को मुख्य चुनाव अधिकारी नियुक्त किया गया है। बुधवार को बादशाहीथौल स्थित गढ़वाल विवि के स्वामी रामतीर्थ परिसर (एसआरटी) में प्रशासनिक समिति की बैठक आयोजित की गई। बैठक में परिसर के निदेशक प्रो. आरसी रमोला ने बताया कि डॉ. सुबोध कुमार मुख्य चुनाव अधिकारी होंगे। उनके साथ डॉ. गीताली पडियार,... और पढ़ें »

Updated on: Wed, 20 Aug 2014 04:13 PM (IST)
        

जरुरत थी गाड़ी की, दे दी बर्फ काटने की कुल्हाड़ी

जागरण संवाददाता,नई टिहरी:आपदा के समय प्रबंधन के दावे तो हर बार किए जाते है,लेकिन टिहरी में आपदा प्रबंधन के लिए एक विशेष वाहन तक नहीं है। बर्फ काटने वाली कुल्हाड़ी की कोई जरुरत न होने के बावजूद यहां थोक के भाव में दी गई हैं। आपदा की दृष्टि से संवेदनशील टिहरी गढ़वाल में आपदा प्रबंधन का काम जुगाड़ भरोसे चल रहा है। आपदा के दौरान अचानक कहीं जाने के लिए एक विशेष वाहन तक आपदा प्रबंधन टीम के पास नहीं है। ... और पढ़ें »

Updated on: Wed, 20 Aug 2014 04:12 PM (IST)
        

गांव के समीप बसाए जाएंगे 18 परिवार: धनै

संवाद सहयोगी, चंबा : कैबिनेट मंत्री दिनेश धनै ने आपदा प्रभावित बागी गाव का भ्रमण कर नुकसान का जायजा लिया। उन्होंने ग्रामीणों को आश्वासन दिया कि 18 प्रभावित परिवारो को गाव के पास सौड़ तोक में बसाया जाएगा। साथ ही मुख्यमंत्री से केदारनाथ आपदा की तर्ज पर राहत राशि देने का प्रयास किया जाएगा। यदि यह संभव न हुआ तो सीएम राहत कोष से सहायता दिलाई जाएगी। मंगलवार को प्रभावित क्षेत्र के भ्रमण के दौरान पर्यटन... और पढ़ें »

Updated on: Tue, 19 Aug 2014 07:47 PM (IST)
        

बढ़ी ग्रामीणों की मुश्किलें

संवाद सहयोगी, चम्बा: हेंवलनदी के दूसरी ओर बसे ग्रामीणों को मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। नदी में बने पुलों के बहने से ग्रामीण अपने घरों में कैद होकर रह गए हैं। पुल के अभाव में वे इधर-उधर नही जा पा रहे हैं। हेंवलनदी नदी में बने आधा दर्जन पुल बह जाने से दूसरी ओर बसे ग्रामीणों को मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। स्थिति यह है कि वे अपने घरों में ही कैद होकर रह गये है। सिल्लासौड़ गांव को जोड़ने... और पढ़ें »

Updated on: Tue, 19 Aug 2014 07:47 PM (IST)
        

भविष्य की चिंता ने उड़ाई नींद

संवाद सहयोगी, चम्बा: आपदा प्रभावित बागी गांव में हालात तो सामान्य हो गए हैं, लेकिन अब चिंता इस बात को लेकर हैं कि जब घर आंगन ही नही रहे तो जीवन पटरी पर कैसे लौट पाएगा। भविष्य की चिंता को लेकर ग्रामीणों की नींद उड़ी हुई है। प्रखंड के बागी गांव में पंद्रह अगस्त के दिन बादल फटने से भले ही कोई जनहानि न हुई हो, लेकिन लोग बेघर तो हुए ही हैं। स्थिति यह है कि आज एक दर्जन से अधिक परिवारों के पास रहने के ल... और पढ़ें »

Updated on: Tue, 19 Aug 2014 07:47 PM (IST)
        

आपदा के मारे, भगवान के सहारे

संवाद सहयोगी, नई टिहरी: किरोड़ गांव के कमल सिंह का पैतृक घर बारिश की भेंट चढ़ गया तो उसने परिवार सहित नजदीक ही ससुराल में शरण ली। वहीं, धर्मेद्र सिंह व राजेंद्र गांव में ही दूसरों के घरों में रात बिता रहे हैं। सौड़ गांव के गोविंद सिंह का परिवार बारातघर में शरण लिए है तो बागी गांव के एक दर्जन परिवारों ने स्कूल को आशियाना बनाया है। कई आपदा प्रभावित क्षेत्रों में अभी सक्षम अधिकारी भी नहीं पहुंच पाए हैं... और पढ़ें »

Updated on: Tue, 19 Aug 2014 07:47 PM (IST)
        

नित नई आपदा से जूझ रहे दूरस्त क्षेत्र के ग्रामीण

संवाद सहयोगी, नई टिहरी: बंद सड़क ने ग्रामीणों की दुश्वारियां बढ़ा दी है। आपदा के मारे ग्रामीण अब नई चुनौतियों से भी जूझ रहे हैं। पंद्रह-बीस दिनों से वाहन मार्ग बंद होने से प्रभावितों को नित नई-नई समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। बीमारों को सड़क तक पहुंचाना और खाद्यान्न सामग्री को गांव तक ढोना इसके लिए उनका संघर्ष जारी है। सड़क बंद होने के कारण कोई अधिकारी व जन प्रतिनिधि गांव की सुध लेने नहीं पहुंच ... और पढ़ें »

Updated on: Tue, 19 Aug 2014 09:51 AM (IST)
        

आपदा पीड़ितों ने लिए राहत राशि के चेक

जागरण संवाददाता, नई टिहरी: बागी गांव में आपदा पीड़ितों को प्रशासन ने राहत राशि के चेक वितरित किए। इस दौरान प्रशासन ने क्षेत्र में फसल क्षति व अन्य नुकसान का जायजा लिया। चंबा ब्लॉक के बागी गांव में आपदा पीड़ितों ने बीते रविवार प्रशासन की टीम से राहत राशि के चेक लेने से इंकार कर दिया था। ग्रामीणों का कहना था कि एक लाख रुपये में वह अपना नया मकान कैसे बनाएंगे। सोमवार को प्रशासन के समझाने के बाद ग्रामी... और पढ़ें »

Updated on: Mon, 18 Aug 2014 06:31 PM (IST)
        

राजस्व टीम पर फूटा ग्रामीणों का गुस्सा

संवाद सूत्र, देवप्रयाग: बादल फटने से मुश्किल हालत में जी रहे बौंठ, मरोड़ा, डोब व किरोड़ गांववासियों का गुस्सा तीन दिन बाद पहुंची राजस्व टीम पर फूट पड़ा। इन गांवों की सुध लेने अभी तक न सरकारी और ना ही कोई जन प्रतिनिधि पहुंचा है। भरपूर पट्टी के इस क्षेत्र में 15 अगस्त को बादल फटने गांव में मलबा आया वहीं गदेरे ने भी विकराल रूप ले लिया, इसमें करीब 12 हेक्टेयर कृषि भूमि बह गई साथ ही ढाई हजार मीटर सिंचाई ... और पढ़ें »

Updated on: Mon, 18 Aug 2014 06:26 PM (IST)
        

चॉपर से खीचेंगे डोबरा पुल के वायर

जागरण संवाददाता, नई टिहरी: देश के सबसे बड़े सस्पेंशन पुलों में से एक डोबरा चांटी पुल चॉपर की मदद से तैयार किया जाएगा। लोनिवि के सामने टिहरी बांध की विशाल झील के ऊपर पुल के दोनों सिरों को वायर से जोड़ना सबसे बड़ी चुनौती है। ऐसे में चॉपर की मदद से झील के दूसरी तरफ वायर खिंचवाने की योजना पर भी विचार किया जा रहा है। टिहरी बांध झील के ऊपर बन रहा डोबरा चांटी पुल लोनिवि सहित पूरी सरकार के लिए बड़ी चुनौती ब... और पढ़ें »

Updated on: Mon, 18 Aug 2014 05:32 PM (IST)
        

आपदा प्रभावित ग्रामीण बैठे गांव में अनशन पर

संवाद सूत्र, घनसाली : वर्र्षो से आपदा की मार झेल रहे भिलंगना प्रखंड के सीमांत गांव पिनस्वाड़ के ग्रामीणों ने विस्थापन सहित अन्य मांगों को लेकर सोमवार से गांव में ही भूख हड़ताल शुरू कर दी है। विस्थापन की मांग को सहित अन्य मांगों को लेकर जब शासन-प्रशासन ने प्रभावितों की मांगों पर गौर नहीं किया तो आक्रोशित ग्रामीणों ने सोमवार से ग्रामीण शंकर सिंह, जितार सिंह, सावन सिंह, शिव राज, चंदर सिंह, धन सिंह न... और पढ़ें »

Updated on: Mon, 18 Aug 2014 05:25 PM (IST)
        

नित नई आपदा से जूझ रहे दूरस्त क्षेत्र के ग्रामीण

संवाद सहयोगी, नई टिहरी: बंद सड़क ने ग्रामीणों की दुश्वारियां बढ़ा दी है। आपदा के मारे ग्रामीण अब नई चुनौतियों से भी जूझ रहे हैं। पंद्रह-बीस दिनों से वाहन मार्ग बंद होने से प्रभावितों को नित नई-नई समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। बीमारों को सड़क तक पहुंचाना और खाद्यान्न सामग्री को गांव तक ढोना इसके लिए उनका संघर्ष जारी है। सड़क बंद होने के कारण कोई अधिकारी व जन प्रतिनिधि गांव की सुध लेने नहीं पहुंच ... और पढ़ें »

Updated on: Mon, 18 Aug 2014 05:17 PM (IST)
        

राज्य में बारिश ने मचाई तबाही

संवाद सहयोगी, चम्बा: भारी बारिश ने सकलाना क्षेत्र की सौंग नदी ने भारी तबाही मचाई है। बाढ़ से काश्तकारों के मकानों के अलावा, खेत खलिहान को भारी नुकसान पहुंचा है। उधर हेंवलनदी ने लोगों के लिए मुश्किलें पैदा कर दी हैं। कई दुकानें व मकान खतरे की जद में हैं। नागणी से लेकर खाड़ी तक कई जगहों में भारी नुकसान हुआ है। हेंवलनदी के ऊफान पर होने से दर्जनों दुकानें व मकान खतरे की जद में है। गत दिनों हुई भारी ब... और पढ़ें »

Updated on: Mon, 18 Aug 2014 04:39 PM (IST)
        

डोबरा पुल को पहाड़ी से खतरा, होगा ट्रीटमेंट

जागरण संवाददाता, नई टिहरी: डोबरा चांटी पुल के एक एबेडमेंट को पहाड़ी से हो रहे भूस्खलन के चलते खतरा हो गया है। ऐसे में अब लोनिवि पहाड़ी का ट्रीटमेंट कराने की तैयारी कर रहा है। आगामी सप्ताह में शासन से अनुमति मिलने के बाद काम शुरू किया जाएगा। टिहरी बांध झील पर बनने वाले डोबरा-चांटी पुल निर्माण के लिए इन दिनों जोर-शोर से तैयारियां चल रहीं हैं। डोबरा की तरफ बने एबेडमेंट के पास पड़ी दरारों के बाद अब चा... और पढ़ें »

Updated on: Mon, 18 Aug 2014 01:00 AM (IST)
        

प्रशासन की टीम को प्रभावितों ने लौटाया

संवाद सहयोगी, चंबा: आपदा प्रभावित बागी गांव में प्रभावितों को राहत चेक बांटने गई प्रशासन की टीम को ग्रामीणों ने बैरंग लौटाया। ग्रामीणों ने कहा कि वह रकम के बजाय उनके घर बनाकर दें। इस दौरान प्रशासन की टीम को ग्रामीणों के आक्रोश का सामना भी करना पड़ा। रविवार दोपहर प्रशासन की ओर से तहसीलदार सतीश कुमार व नायब तहसीलदार रेखा प्रभावित ग्रामीणों को एक-एक लाख के चेक देने बागी गांव पहुंचे लेकिन ग्रामीणों न... और पढ़ें »

Updated on: Mon, 18 Aug 2014 01:00 AM (IST)
        

मणियाण गांव की ओर नहीं प्रशासन का ध्यान

जागरण टीम, नई टिहरी : बादल फटने से आपदा का शिकार हुए बाणी गांव को लेकर तो प्रशासन काफी गंभीर है। लेकिन, उसके नजदीकी मठियाण गांव की सुध किसी ने नहीं ली है। पिछले दिनों हुई बारिश से यहां ग्रामीणों के मकान क्षतिग्रस्त हो गए। वहीं प्रभावित गांवों में सड़क पेयजल, गूल आदि क्षतिग्रस्त हो गई हैं। जिले के कई जगहों पर संचार सेवा भी बाधित हुई है। बारिश के चलते नरेन्द्रनगर प्रखंड की पोखरी-मणगांव, चाका-कैंथै... और पढ़ें »

Updated on: Mon, 18 Aug 2014 01:00 AM (IST)
        
(News from Tehri-garhwal, Uttarakhand)
1 | 2 | 3 | 4 | 5 | 6 | 7 | 8 | 9 | 10 | Next »
यह भी देखें