रुद्रप्रयाग

  • मानदेय देने की उठाई मांग

            
    Updated on: Tue, 24 May 2016 09:06 PM (IST)

    रुद्रप्रयाग: आशा कार्यकत्री जिला संगठन की बैठक में आशाओं ने प्रोत्साहन राशि के बजाय मानदेय देने की मांग उठाई। जिला मुख्यालय में आयोजित बैठक में आशाओं ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग के एनआरएचएम परियोजना में वर्ष 2005 से गांवों में आशा कार्यकत्री अपना कार्य पूरी ईमानदारी से कर रही हैं। लेकिन उन्हें मानदेय के बजाय मात्र प्रोत्साहन राशि ही दी जा रही है। जिससे उन्हें अपने परिवार के भरण-पोषण करने में खासी ... और पढ़ें »

  • मनरेगा रोजगार सेवकों का कार्यबहिष्कार शुरू

            
    Updated on: Tue, 24 May 2016 07:58 PM (IST)

    संवाद सहयोगी, रुद्रप्रयाग: नियमितिकरण की मांग को लेकर मनरेगा रोजगार सेवकों ने जिले के तीन ब्लाकों के सम्मुख कार्यबहिष्कार शुरू कर दिया है। जिसका असर मनरेगा के तहत होने वाले तमाम कार्यो पर पडे़गा। तय कार्यक्रम के तहत मनरेगा रोजगार सेवक ऊखीमठ, अगस्त्यमुनि व जखोली विकासखंड कार्यालयों के सम्मुख एकत्रित हुए, जिसके बाद नियमितिकरण की मांग को लेकर सरकार के खिलाफ जोरदार प्रदर्शन कर नारेबाजी की। इस अवसर पर... और पढ़ें »

  • गौरीकुंड व सोनप्रयाग पार्किंग में फैली अव्यवस्था

            
    Updated on: Tue, 24 May 2016 07:49 PM (IST)

    रुद्रप्रयाग: मंगलवार को केदारनाथ में यात्रियों की भीड़ उमड़ी। जिसके चलते गौरीकुंड व सोनप्रयाग में वाहनों का दबाव बढ़ गया। अचानक दबाव बढ़ने से पार्किंग क्षेत्र में व्यवस्था फैलने लगी। पुलिस ने वाहनों को पीछे से एक-एक कर पार्किंग तक पहुंचाया। जिसके व्यवस्था ठीक हुई। मंगलवार को भी तीर्थयात्रियों का केदारनाथ पहुंचने का सिलसिला जारी रहा। सोनप्रयाग व गौरीकुड़ पार्किंग में स्थान सीमित है। अचानक वाहनों का ... और पढ़ें »

  • पानी की बूंद बूंद को तरस रहे लोग

            
    Updated on: Tue, 24 May 2016 06:47 PM (IST)

    तिलवाड़ा: केदारनाथ यात्रा के मुख्य पड़ाव तिलवाड़ा में लंबे समय पेयजल संकट बना हुआ है। स्थानीय लोग जलसंस्थान से कई बार गुहार लगा चुके हैं। लेकिन विभाग इस ओर उदासीन रवैया अपनाए है। माह भर से क्षेत्र में लगे नलों में पानी नहीं आ रहा है। लोग को कई किमी दूर से पानी जुटाना पड़ रहा है। तिलवाड़ा कस्बे के लिए जल संस्थान की ओर से कई पेयजल योजनाओं को स्वीकृति तो मिली, लेकिन वह धरातल पर नहीं उतर सकी। जिससे हर ब... और पढ़ें »

  • मौसम की बेरुखी पर आस्था भारी

            
    Updated on: Tue, 24 May 2016 06:46 PM (IST)

    संवाद सहयोगी, रुद्रप्रयाग: मौसम की बेरुखी के बावजूद केदारधाम पहुंचाने वाले भक्तों के उत्साह में कोई कमी नहीं है। मंगलवार तक 92 हजार से अधिक यात्री बाबा केदार के दर्शन कर चुके हैं। वहीं, व्यवस्थाएं बनाने के लिए पुलिस को खासा पसीना बहाना पड़ रहा है। मंगलवार को तो स्थिति यह रही कि पुलिस को कई स्थानों पर यात्रियों को रोककर उन्हें एक-एककर आगे भेजना पड़ा। ताकि, सोनप्रयाग व गौरीकुंड पर यात्रियों का अधिक दब... और पढ़ें »

  • केदारनाथ समेत पूरे गढ़वाल में पसरा अंधेरा

            
    Updated on: Tue, 24 May 2016 06:43 PM (IST)

    जागरण टीम, गढ़वाल: सोमवार सांय आए तेज तूफान ने पर्वतीय क्षेत्रों में तबाही मचाई है। जगह- जगह पेड़ गिरने से विद्युत लाइनें ध्वस्त हो गई हैं। इससे गढ़वाल में पांचों जनपद में कई स्थानों पर बिजली गुल है। जबकि कुछ स्थानों पर ऊर्जा निगम के अधिकारी लाइन जोड़ने में जुटे हैं। अधिकारियों का दावा है कि जहां अभी तक बिजली आपूर्ति नहीं हुई हैं वहां जल्द ही आपूर्ति बहाल की जाएगी। रुद्रप्रयाग में केदारनाथ समेत पू... और पढ़ें »

  • चोपड़ा राइंका पैदल मार्ग की हालत सुधरे

            
    Updated on: Tue, 24 May 2016 05:04 PM (IST)

    चोपड़ा: ग्रामीणों और विद्यालय प्रशासन ने डीएम को भेजे ज्ञापन में कहा कि चोपड़ा, धारकोट, रतूड़ा को जोड़ने वाला मार्ग 2013 पर आपदा का असर चोपड़ा क्षेत्र पर भी पड़ा था। यहां भी कई पैदल मार्ग एवं सम्पर्क आपदा की भेंट चढ़े थे। सम्पर्क एवं कुछ पैदल मार्गो को ठीक तो करवाया गया, लेकिन राइंका पैदल मार्ग की स्थिति दयनीय बनी हुई है। इससे छात्रों के साथ ही स्थानीय लोग आवाजाही करते समय चोटिल हो जाते हैं। मार्ग क... और पढ़ें »

  • केदारनाथ तीर्थयात्रियों के लिए मेडिकल की अनिवार्यता खत्म

            
    Medical Necessity Of Kedarnath Pilgrims EndUpdated on: Tue, 24 May 2016 10:01 AM (IST)

    रुद्रप्रयाग। केदारनाथ यात्रा के लिए मेडिकल की अनिवार्यता समाप्त कर दी गई है। अब तक 50 साल से अधिक आयु वाले यात्रियों के लिए मेडिकल कराना अनिवार्य था। केदारनाथ में श्रद्धालुओं की बढ़ती तादाद को देखते हुए यह कदम उठाया गया है। नई व्यवस्था आज से ही लागू कर दी गई है। पढ़ें:- केदारनाथ यात्रा के लिए समय में ढील, ज्यादा लोग कर सकेंगे दर्शन वर्ष 2013 में आई आपदा के बाद शासन ने केदारनाथ यात्रा के लिए बायोमै... और पढ़ें »

  • दुर्गाधार में एक माह से पेयजल संकट

            
    Updated on: Mon, 23 May 2016 07:53 PM (IST)

    रुद्रप्रयाग: तल्लानागपुर क्षेत्र के मुख्य बाजार दुर्गाधार में लंबे समय से पेयजल की किल्लत बनी हुई है। क्षेत्रीय ग्रामीणों ने डीएम को भेजे ज्ञापन में कहा कि क्षेत्र के दुर्गाधार में पेयजल की समस्या कम होने का नाम नहीं ले रही है। यहां पिछले एक महीने से भी अधिक समय से पेयजल का संकट बना हुआ है, लेकिन पानी मुहैया कराने के कोई प्रयास अभी तक नहीं हो सके हैं। ग्रामीणों को पानी की एक-एक बूंद के लिए दर-दर ... और पढ़ें »

  • मनरेगा सेवक करेंगे 27 से हड़ताल

            
    Updated on: Mon, 23 May 2016 07:51 PM (IST)

    रुद्रप्रयाग: नियमितिकरण की मांग को लेकर मनरेगा रोजगार सेवकों ने 27 मई से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने का निर्णय लिया है। इस संबंध में मुख्यमंत्री को ज्ञापन भी भेजा है। मनरेगा रोजगार सेवकों ने मुख्यमंत्री को भेजे ज्ञापन में कहा कि प्रदेशभर में मनरेगा योजना का वर्ष 2006-07 से सफल संचालन हो रहा है, लेकिन उन्हें समान कार्य का समान वेतन भी नहीं मिल रहा है। 27 मई से राज्य स्तर पर राज्य कर्मचारी संयुक्त ... और पढ़ें »

  • विकास की एवज में झेल रहे दर्द

            
    Updated on: Mon, 23 May 2016 07:51 PM (IST)

    संवाद सहयोगी, रुद्रप्रयाग: गांवों को सड़क से जोड़ने की कवायद में लोनिवि नियमों को ताक पर रख ग्रामीणों की जान खतरे में डाल रही है। विभाग योजना निर्माण के दौरान मलबे को सीधे गदेरे में फेंक रही है। बारिश के दौरान मलबा सीधे गांवों में आ रहा है। जिले के 40 से अधिक गांव लोनिवि की लापरवाही का नतीजा भुगत रहे हैं। वर्तमान में जिले में लोनिवि, पीएमजीएसवाई, एडीबी एवं मेरा गांव मेरी सड़क योजना के तहत मोटरमार्ग... और पढ़ें »

  • झुका पोल डरा रहा ग्रामीणों को

            
    Updated on: Mon, 23 May 2016 07:18 PM (IST)

    गुप्तकाशी: ऊखीमठ ब्लाक के ग्राम पंचायत लमगौंडी व देवली भणिग्राम के मध्य ऊर्जा निगम की लापरवाही से विद्युत पोल पिछले कई वर्षो से नीचे झुका है। जिससे ग्रामीणों को अचानक पोल गिरने से करंट का भय सता रहा है। क्षेपंस गणेश तिवारी ने बताया विभाग से पोल को सही करने की गुहार लगा चुके हैं। लेकिन विभाग ने अभी तक कोई कार्यवाही नहीं की है। और पढ़ें »

  • सोनप्रयाग व गौरीकुंड में मलबा आने से तीन यात्री घायल

            
    Updated on: Mon, 23 May 2016 06:52 PM (IST)

    संवाद सहयोगी, रुद्रप्रयाग : मुनकटिया में गौरीकुंड हाईवे पर तेज बारिश के कारण मलबा आ गया, जिससे पैदल जा रहे महाराष्ट्र के तीन यात्री घायल हो गए। घायलों को जिला चिकित्सालय लाया गया है। वहीं हाईवे बंद होने से शटल सेवा भी बाधित हो गई है। सोमवार शाम लगभग चार बजे गौरीकुंड समेत पूरे यात्रा मार्ग पर तेज बारिश हुई जिससे सोनप्रयाग से तीन किमी आगे मुनकटिया में पहाड़ी से बड़ी मात्रा में मलबा आ गया। इस दौरान गौ... और पढ़ें »

  • केदारनाथ यात्रियों के लिए मेडिकल की अनिवार्यता खत्म

            
    Updated on: Mon, 23 May 2016 06:36 PM (IST)

    संवाद सहयोगी, रुद्रप्रयाग: केदारनाथ यात्रा के लिए मेडिकल की अनिवार्यता समाप्त कर दी गई है। अब तक 50 साल से अधिक आयु वाले यात्रियों के लिए मेडिकल कराना अनिवार्य था। केदारनाथ में श्रद्धालुओं की बढ़ती तादाद को देखते हुए यह कदम उठाया गया है। नई व्यवस्था सोमवार से ही लागू कर दी गई है। वर्ष 2013 में आई आपदा के बाद शासन ने केदारनाथ यात्रा के लिए बायोमैट्रिक पंजीकरण अनिवार्य कर दिया है। इसके अलावा 50 साल... और पढ़ें »

  • मलबा आने से गौरीकुंड हाईवे व पांच मार्ग बंद

            
    Updated on: Mon, 23 May 2016 06:34 PM (IST)

    रुद्रप्रयाग : सोमवार शाम हुई तेज बारिश व आंधी से जखोली, रुद्रप्रयाग, ऊखीमठ क्षेत्रों में कई घरों की छत उड़ गई, जबकि विद्युत पोल भी क्षतिग्रस्त हो गए। बड़ी संख्या में पेड़ भी टूटे। लगभग चार बजे पहले आंधी हुई और फिर बारिश से जखोली के त्यूंखर में सात आवासीय भवनों की छत उड़ गए, दस विद्युत पोल उखड़ गए। खालियाड़ में भी दस घरों की छत उड़ गई, लौंगा में दर्जनों पेड़ उखड़ गए। अगस्त्यमुनि के चोपड़ा में टेमना में कई प... और पढ़ें »

  • 8432 यात्रियों ने किए बाबा केदार के दर्शन

            
    Updated on: Mon, 23 May 2016 06:28 PM (IST)

    रुद्रप्रयाग: बारिश होने के बाद भी केदार बाबा के दर्शन करने वालों की संख्या में इजाफा ही हो रहा है। सोमवार को कुल 8432 यात्रियों ने बाबा के दर पर पहुंचकर आशीर्वाद लिया। अब तक पिछले पंद्रह दिनों में 85 हजार 457 यात्रियों ने बाबा के दर्शन कर चुके हैं। सोमवार को गौरीकुंड से दर्शन के लिए सुबह 7000 यात्री रवाना हुए। जबकि दर्शन करने वाले यात्रियों की संख्या आठ हजार से अधिक रही। जिसमें 4373 पुरुष, 3840 ... और पढ़ें »

  • बारिश से क्षतिग्रस्त हुआ मोटरमार्ग, ग्रामीण परेशान

            
    Updated on: Mon, 23 May 2016 05:05 PM (IST)

    संवाद सूत्र, तिलवाड़ा: बीते शुक्रवार को हुई भारी बारिश से तिलवाड़ा-जैली-महरगांव मोटरमार्ग पर पुस्ते टूट गए और कई स्थानों पर मलबा जम गया। इससे मोटरमार्ग पर वाहनों की आवाजाही पूरी तरह से बंद हो गई। वहीं तिलवाड़ा-सौंरालमोटरमार्ग भी कई स्थानों पर क्षतिग्रस्त चल रहा है। इससे ग्रामीणों को खासी दिक्कत झेलनी पड़ रही है। सोमवार को क्षेत्रीय ग्रामीणों ने डीएम को भेजे ज्ञापन में कहा कि बीते शुक्रवार को तेज बा... और पढ़ें »

  • संगम पर पर खुली ढोल की पोल

            
    Updated on: Mon, 23 May 2016 10:35 AM (IST)

    रविन्द्र कप्रवान, रुद्रप्रयाग सरकार भले ही चार धाम यात्रा को सुगम और सरल बनाने के लिए बड़े- बड़े दावे कर रही है, लेकिन आपदा के तीन साल बाद भी रुद्रप्रयाग में अलकनंदा- मंदाकिनी संगम पर यात्रियों को स्नान करना खतरे से खाली नहीं है। यात्रा सीजन शुरू होने के बाद संगम पर न तो यहां रेलिंग लगाई गई है और न ही गोताखोर तैनात किए गए हैं। जबकि सीजन में प्रतिदिन सैकड़ों यात्री संगम पर स्नान करते हैं, लेकिन हालात... और पढ़ें »

  • दोपहर दो बजे तक ही हेमकुंड जा पाएंगे यात्री

            
    Updated on: Mon, 23 May 2016 01:01 AM (IST)

    संवाद सहयोगी, गोपेश्वर हेमकुंड साहिब यात्रा मार्ग पर व्यवस्था बनाने के लिए यात्रा वाहन पुलना के बजाए गोविंदघाट में ही रोकने का निर्णय लिया गया है। अलबत्ता दुपहिया वाहन को पुलना तक जाने की छूट होगी। यात्रियों को स्थानीय टैक्सी चालक वाहन सुविधा उपलब्ध कराएंगे। इसके लिए 35 रुपये किराया नियत किया गया है। इसके साथ ही दोपहर दो बजे के बाद कोई भी पैदल यात्री न तो हेमकुंड के लिए जा सकेगा और न उसे गोविंदघा... और पढ़ें »

  • केदारधाम में मोटरचालित कारों का इंतजार

            
    Updated on: Mon, 23 May 2016 01:01 AM (IST)

    संवाद सहयोगी, रुद्रप्रयाग: केदारनाथ जाने वाले यात्रियों को बीते एक बरस से मोटरचालित कारों का इंतजार है। यात्री सुविधाओं के मद्देनजर 25 अक्टूबर 2014 को केदारनाथ में आयोजित कैबिनेट में प्रदेश सरकार ने यह निर्णय लिया था। लेकिन अब तक धाम में प्रदूषणमुक्त इन कारों का संचालन शुरू नहीं हो पाया। अन्यथा केदारपुरी में यात्रियों को बेस कैंप से लेकर मंदिर तक लगभग तीन किलोमीटर की दूरी पैदल नहीं नापनी पड़ती। क... और पढ़ें »

(News from Rudraprayag, Uttarakhand)

जागरण RSS

राष्ट्रीयRssgoogle plusyahoo ad
दुनियाRssgoogle plusyahoo ad
बिजनेसRssgoogle plusyahoo ad
खेलRssgoogle plusyahoo ad
चर्चा मेंRssgoogle plusyahoo ad
जरा हटकेRssgoogle plusyahoo ad

और देखें

यह भी देखें