साक्षात्कार

उपनिवेशवाद के भरोसे आधुनिकता संभव नहीं

Posted on:Mon, 04 Apr 2016 12:43 PM (IST)
        

भारतीय समाज के पास भीतरी प्रतिरोध और आंदोलनों के बल पर आधुनिकता को प्राप्त करने की कठिन प्रक्रिया का कोई दूसरा विकल्प नहीं है। भारतीय उपन्यासों में भी... और पढ़ें »

बताइये मैं क्या करूं

Posted on:Mon, 04 Apr 2016 12:24 PM (IST)
        

दुनिया की कोई परीक्षा पद्धति ऐसी नहीं जो पूर्णतया निर्दोष हो। होते कौन हैं ये मुझे नाकाम बताने वाले...और पढ़ें »

एक इंजीनियर की उसकी कविता के लिए जनून

Posted on:Tue, 20 Jan 2015 08:42 PM (IST)
        

कवि दिनेश गुप्ता की किताब ' कैसे चंद लफ्जों में सारा प्यार लिखूं मैं' की, जिसका विमोचन पिछले दिनों मुंबई प्रेस क्लब में किया गया। इस अवसर पर हमने दिने... और पढ़ें »

मन की खूबसूरती ज्यादा जरूरी है: कोयल

Posted on:Sat, 29 Nov 2014 11:41 AM (IST)
        

दिल्ली विश्वविद्यालय से पढ़ाई करने वाली कोयल राना वर्ष 2008 में मिस टीन इंडिया, वर्ष 2009 में मिस यूनिवर्सल टीन और फेमिना मिस इंडिया दिल्ली का खिताब ज... और पढ़ें »

दिखानी होगी अपनी काबिलियत

Posted on:Mon, 04 Aug 2014 04:56 PM (IST)
        

पुरूष राजनीतिज्ञों के बीच अपने कार्यो के बल पर उन्होंने अपने लिए ठोस जगह बनाई है। किसी को मदद पहुंचाकर चाहे वह इंसान हो या पशु, उन्हें बेहद सुकून मिलत... और पढ़ें »

अन्याय के खिलाफ आवाज उठाएं

Posted on:Sat, 07 Jun 2014 04:55 PM (IST)
        

बहुत से लोग होते हैं जो जीवन तो जीते हैं, पर उससे दुनिया में क्या फर्क पड़ रहा है। यह नहीं समझते हैं। कम ही लोग होते हैं, जो सार्थक जीवन जीते हैं। यह ब... और पढ़ें »

मुझे बदलाव पसंद है: ज्वाला गट्टा

Posted on:Mon, 28 Apr 2014 12:52 PM (IST)
        

दस बार की नेशनल वुमन्स डबल्स बैडमिंटन चैंपियनशिप विजेता, अर्जुन अवार्ड से सम्मानित और चार बार नेशनल मिक्स्ड डबल्स बैडमिंटन चैपिंयनशिप का खिताब अपने ना... और पढ़ें »

बिन हाथों के रचा कामयाबी का इतिहास

Posted on:Mon, 21 Apr 2014 03:10 PM (IST)
        

मंजिलें उन्हीं को मिलती हैं, सपनों में जिनके जान होती है। पंखों से कुछ नहीं होता, हौसलों से उड़ान होती है।' ये पंक्तियां पंजाब में पटियाला की कुलबिंदर ... और पढ़ें »

सबको आजाद ख्याल होना चाहिए-मृदुला गर्ग

Posted on:Mon, 31 Mar 2014 11:07 AM (IST)
        

हिंदी की सबसे लोकप्रिय लेखिकाओं में से एक हैं मृदुला गर्ग। उपन्यास, कहानी संग्रह, नाटक, निबंध संग्रह और यात्रा संस्मरण मिलाकर उन्होंने कई किताबों की र... और पढ़ें »

खिल रहे हैं नई सोच के रंग

Posted on:Sat, 15 Mar 2014 01:09 PM (IST)
        

प्यार देना स्त्री का स्वभाव है। उसकी शख्सियत में कोमलता है। भावुकता और समझदारी से वह हर रिश्ते को सहेजती है, पर जब आंच आती है उसके आत्म सम्मान पर तो व... और पढ़ें »

अबला नहीं सबला है स्त्री

Posted on:Mon, 10 Mar 2014 12:10 PM (IST)
        

संघर्ष में तपकर खरा सोना बनना ही है मूल स्वभाव स्त्री का। यही भावना ले गई है कई स्त्रियों को सफलता के शिखर पर, उन्होंने न केवल अपने सपनों को जिया है, ... और पढ़ें »

मतों के गुणा-भाग में कलाकार फिट नहीं बैठते

Posted on:Mon, 24 Feb 2014 02:53 PM (IST)
        

ख्यातिलब्ध ख्याल गायक पद्मभूषण पं. राजन-साजन मिश्र का मानना है कि चुनाव का दौर है सो राजनीतिक दलों का मतदाताओं की उम्मीदों में सपनों के बौर लगाने पर ज... और पढ़ें »

मुझे सीखने का जुनून है..

Posted on:Mon, 11 Nov 2013 03:00 PM (IST)
        

दिल्ली यूनिवर्सिटी के श्रीराम कालेज से इकोनॉमिक्स में ग्रेजुएशन, फिर एडवरटाइजिंग व पीआर में पोस्ट ग्रेजुएशन तत्पश्चात लॉ की डिग्री और इंटीरियर डिजाइ... और पढ़ें »

बोले तो केवल आपका काम..

Posted on:Sat, 07 Sep 2013 01:00 PM (IST)
        

नई दिल्ली की एक मल्टीनेशनल कंपनी में काम करने वाली प्रतिमा चौधरी कहती हैं कि जब मैंने इस कंपनी में काम करना शुरू किया था, तब ऐसा महसूस होता था कि इससे... और पढ़ें »

खुद बनाए अपने रास्ते

Posted on:Sat, 20 Jul 2013 03:43 PM (IST)
        

उम्र महज एक संख्या है। आप 50 के हों या 70 के, सोचने का ढंग सकारात्मक है और हर पल नया सीखने को तैयार हैं तो उम्र बाधा नहीं बन सकती। यह बात 73 वर्षीय पद... और पढ़ें »

वर्चस्व की लड़ाई कलम से

Posted on:Mon, 03 Jun 2013 04:15 PM (IST)
        

[प्रज्ञा पाण्डेय]। वरिष्ठ लेखिका शीला रोहेकर का जन्म पूना में हुआ लेकिन उनका बचपन गुजरात में गुजरा एवं शिक्षा भी वहीं हुई। पढ़ाई का माध्यम गुजराती और ... और पढ़ें »

श्रेष्ठ साहित्य का लोकप्रिय न होना खतरनाक

Posted on:Mon, 18 Mar 2013 04:29 PM (IST)
        

[इष्ट देव सांकृत्यायन] कवि-आलोचक विश्वनाथ तिवारी हिंदी के पहले रचनाकार हैं जिन्होंने साहित्य अकादेमी के अध्यक्ष का पदभार संभाला है। स्वभाव से विनम्... और पढ़ें »

मैं सच कहूं तो स्वांत: सुखाय लिखता हूं

Posted on:Mon, 04 Mar 2013 09:05 PM (IST)
        

[डा. ओम निश्चल] व्यंग्य, नाटक, उपन्यास व कहानी हर विधा में नरेन्द्र कोहली को कौन नहीं जानता। उनके लाखों पाठक देश- विदेश में बिखरे हैं। उनके उपन्यास... और पढ़ें »

छोटे शहर का बड़ा लेखक हृदयेश

Posted on:Tue, 09 Oct 2012 03:59 PM (IST)
        

सुप्रसिद्ध कथाकार हृदयेश आज प्रेमचंद की परम्परा के संवाहक और प्रगतिशील जीवन-दृष्टि से सम्पन्न कथाकार माने जाते हैं। उनमें साधारण को असाधारण रूप में... और पढ़ें »

विश्व हिंदी सम्मेलनों पर नौकरशाही हावी

Posted on:Thu, 27 Sep 2012 07:12 PM (IST)
        

नौवें विश्व हिंदी सम्मेलन में शिरकत करने जोहांसबर्ग में पहुंचे वरिष्ठ साहित्यकार महीप सिंह का कहना है कि इस आयोजन का उद्देश्य भटक गया है और इस पर न... और पढ़ें »

    Jagran English News

    यह भी देखें