साहित्य

ये खुशबू हिंदी की है

Posted on:Sun, 03 Jul 2016 10:42 AM (IST)
        

अलग-अलग भाषाओं के उपन्यास हिंदी में अनूदित होते ही रहते हैं पर अब हिंदी उपन्यास अन्य भाषाओँ में खूब अनूदित हो रहे हैं।हिंदी के प्रति दिलचस्पी बढ़ने की ... और पढ़ें »

ऐसे लोग जाते हैं स्वर्ग

Posted on:Sat, 02 Jul 2016 02:47 PM (IST)
        

इसका कारण यही है कि स्त्री पुण्य आत्मा है और स्वर्ग की अधिकारी भी यही महिला है।और पढ़ें »

राजपुरोहित ने तीन बार राजकोष का धन चुराया

Posted on:Thu, 30 Jun 2016 12:00 PM (IST)
        

एक राजा को अपने राजपुरोहित की विद्वता व योग्यता पर बहुत भरोसा था। एक दिन राज-पुरोहित के मन में सवाल आया कि राजा मेरा सम्मान क्यों करते हैं? और पढ़ें »

उन्‍होंने उसे प्यार की भाषा सिखा दी थी...

Posted on:Mon, 27 Jun 2016 12:16 PM (IST)
        

गोविंद भी अब करीब 12 साल का हो चुका था और खेती के काम में उमाकांत की बहुत मदद करता।और पढ़ें »

वे उस घड़ी को कोस रहे थे जब वे रिटायर हुए थे

Posted on:Sat, 25 Jun 2016 11:10 AM (IST)
        

"है भगवान मैं तो तंग आ गई आप से। अगर अभी बंद नहीं किया तो आज खाना नहीं बनाऊंगी। समझ गए। " राम बाबू शांत बैठ गए। वे उस घड़ी को कोस रहे थे जब वे रिटायर ... और पढ़ें »

वह उसे जरूर सजा देता...

Posted on:Fri, 24 Jun 2016 12:21 PM (IST)
        

जब कोई हमारी तारीफ करता है, तो हम खुशी से फूल उठते हैं। लेकिन वही व्यक्ति जब हमें अपशब्द कहने लगता है तो हम उसे कोसने लगते हैं।और पढ़ें »

बुद्धि का सही उपयोग ही हमारी कार्य-कुशलता को बढ़ाता है

Posted on:Wed, 22 Jun 2016 11:38 AM (IST)
        

काम में सफलता पाने के लिए सिर्फ मेहनत ही पर्याप्त नहीं होती है, बुद्धि का सही उपयोग ही हमारी कार्य-कुशलता को बढ़ाता है।और पढ़ें »

हीरा और कोयला सच में दोनों एक चीज हैं

Posted on:Tue, 21 Jun 2016 11:35 AM (IST)
        

पोता दरवाजे पर खिलौनों के साथ खेलता रहता पास बैठी हुई दादी उसे देखकर खुश होती रहती, परंतु जब मुनिया उसके पास आ जाती, दादी नाक-भौं चढ़ा लेतींऔर पढ़ें »

आपसी प्रेम

Posted on:Fri, 17 Jun 2016 01:06 PM (IST)
        

किसी गांव में दो भाई रहते थे। बड़े की शादी हो गई थी। उसके दो बच्चे भी थे, लेकिन छोटा भाई अभी कुंवारा था। दोनों साझा खेती करते थे।और पढ़ें »

खुदा को खोजना नहीं, बल्कि जानना जरूरी है

Posted on:Thu, 16 Jun 2016 11:55 AM (IST)
        

वह व्यक्ति घबरा गया और उसने कहा यह क्या किया आपने? इससे आपको दर्द होगा। जुन्नैदा ने कहा, दर्द दिखता नहीं महसूस होता है। और पढ़ें »

कोई भी धर्म किसी दूसरे धर्म का बाधक नहीं होता है

Posted on:Tue, 14 Jun 2016 11:09 AM (IST)
        

कोई भी धर्म किसी दूसरे धर्म का बाधक नहीं होता है। खोट हमारे मन में होता है कि हम अपने धर्म को श्रेष्ठ और दूसरे धर्म को तुच्छ समझते हैं। और घृणा के पथ ... और पढ़ें »

...तो दुनिया अधिक सुंदर होगी

Posted on:Wed, 08 Jun 2016 12:55 PM (IST)
        

एक किसान के बाग में आम के वृक्ष लगे थे। इन वृक्षों में एक वृक्ष में फल आने बंद हो गए। लेकिन उस पर अनेक पक्षियों के घोसले थे। और पढ़ें »

पापा से कहना...

Posted on:Mon, 06 Jun 2016 12:05 PM (IST)
        

र।त गहराने लगी थी। बूढ़ा सरदार बिस्तर पर लेटा नींद का इंतजार कर रहा था। अपने ही मकान से भायं-भांय की आती हुई आवाज सुनाई दे रही थी उसे। अकेला जो था वह उ... और पढ़ें »

तभी आनंद की अवस्था में पहुंच पाएंगे...

Posted on:Sat, 04 Jun 2016 05:07 PM (IST)
        

भौतिक संसार एक सच है लेकिन उसके आगे भी बहुत कुछ है जो हमें जानना चाहिए।और पढ़ें »

कुछ लोग सिर्फ अपना भला ही देखते हैं

Posted on:Wed, 01 Jun 2016 03:30 PM (IST)
        

कुछ लोग सिर्फ अपना भला ही देखते हैं, कुछ दूसरों का भला तो देखते हैं, पर करते कुछ नहीं है, पर जो दूसरा का भला चाहकर उसके लिए प्रयास भी करते हैं, वही श्... और पढ़ें »

जीवन के आयामों का आइना है पॉल की तीर्थयात्रा

Posted on:Tue, 12 Apr 2016 05:13 PM (IST)
        

तरक्की के इस दौर में, सभ्यता और आधुनिकता के बीच तालमेल बनाने की होड़ मची हुई है। इस दौर में परिवारों का ढांचा भी बदल गया है। और पढ़ें »

उपनिवेशवाद के भरोसे आधुनिकता संभव नहीं

Posted on:Mon, 04 Apr 2016 12:43 PM (IST)
        

भारतीय समाज के पास भीतरी प्रतिरोध और आंदोलनों के बल पर आधुनिकता को प्राप्त करने की कठिन प्रक्रिया का कोई दूसरा विकल्प नहीं है। भारतीय उपन्यासों में भी... और पढ़ें »

बताइये मैं क्या करूं

Posted on:Mon, 04 Apr 2016 12:24 PM (IST)
        

दुनिया की कोई परीक्षा पद्धति ऐसी नहीं जो पूर्णतया निर्दोष हो। होते कौन हैं ये मुझे नाकाम बताने वाले...और पढ़ें »

राष्ट्रपिता के बलिदान और उनकी प्रेरणा का स्मरण करें!

Posted on:Mon, 28 Sep 2015 01:00 PM (IST)
        

गुलामी के आसमान तले हम अपनी एक-एक सांस लेने के लिए मजबूर थे। कहने को भारत हमारी मातृभूमि थी लेकिन इस पर अधिकार था उन अंग्रेजों का जिन्होंने कई सालों त... और पढ़ें »

राष्ट्रपिता से संबंधित कुछ अनछुए पहलू

Posted on:Mon, 28 Sep 2015 01:00 PM (IST)
        

1. महात्मा गांधी जब सात वर्ष के थे तभी उनका विवाह एक व्यापारी की बेटी कस्तूरबा माकनजी से पक्का हो गया था। वर्ष 1869 में महज 13 वर्ष की आयु में इन दोनो... और पढ़ें »

    Jagran English News

    यह भी देखें