Dainik Jagran Hindi News

www.jagran.com
December 10,2016

अचार

मिर्ची के टिपोरे

विधि : मिचरें को धोकर डंठल तोड़ लीजिये। मिर्च को आधा-आधा इंच के टुकडों में काटकर तैयार कर लीजिए। पैन में तेल डालकर गरम कीजिये। गर्म तेल में जीरा डाल दीजिये। जीरा ब्राउन होने के बाद, हींग, हल्दी पाउडर और काट कर रखी हुई हरी मिर्च भी डाल दीजिए। ... और पढ़ें »

Posted on: Mon, 15 Dec 2014 09:52 AM (IST)
        

राई मिर्च का अचार

विधि : सौंफ के बीजों को भून लें। अब इन्हें मोटे पाउडर की शक्ल में कूट लें। सारी सामग्री को खूब अच्छी तरह मिला लें और साफ मर्तबान में भर लें। अचार तुरंत खाने के लिए तैयार है लेकिन अगर आप चाहें तो इसे 3-4 दिनों के लिए धूप में रख दें ताकि सारे स्वाद आपस... और पढ़ें »

Posted on: Mon, 17 Feb 2014 12:22 AM (IST)
        

आम चने का अचार

विधि : कसा आम, पिसी हल्दी और नमक को अच्छे से मिलाकर आधा घंटा रखा रहने दें। उसके बाद मिश्रण द्वारा छोड़े गए पानी को अलग कर दें। इस पानी में काबुली चना और मेथी को रात भर भीगने दें। इधर कसे आम को फ्रिज में रखा रहने दें। अब पिसी मेथी, सौंफ, हींग, कलौंजी,... और पढ़ें »

Posted on: Thu, 06 Feb 2014 11:55 AM (IST)
        

लाल मिर्च का अचार

विधि : मोटी लाल मिर्च का डंठल तोड़कर उसका छेद थोड़ा बड़ा कर लें और उसके सारे बीज अंदर से निकाल लें। राई, सौंफ, अजवायन और साबुत सूखे धनिये को भून कर पीस लें। इसमें नमक, अमचूर पाउडर और मिर्च के बीज डालकर अच्छी तरह मिला लें। इस मिश्रण को मिर्च के ... और पढ़ें »

Posted on: Tue, 28 Jan 2014 10:21 AM (IST)
        

कमल ककड़ी का अचार

विधि : कमल ककड़ी को अच्छी तरह धो कर सुखा लें। फिर कलौंजी, पिसी मिर्च, सौंफ, धनिया, पिसी हल्दी, लाल मिर्च, काली मिर्च, नमक और तेल डाल कर अच्छी तरह मिला लें। तत्पश्चात इस मिश्रण में कमल ककड़ी को अच्छी तरह मिलाएं। एक हवाबंद जार में रख चम्मच की मदद स... और पढ़ें »

Posted on: Mon, 08 Jul 2013 11:23 AM (IST)
        

आम का अचार

विधि : एक छलनी में आम रख उसे मलमल के कपड़े से ढककर धूप में 4 से 6 घंटे रखा रहने दें। चनों को पानी से निकाल कर एक तरफ रख लें। कलौंजी, धनिया, पिसी हल्दी, सौंफ, अजवाइन, मेथी, मिर्च, सरसों का तेल और नमक को अच्छी तरह मिलाएं। फिर इसमें आम के टुकड़े, चना... और पढ़ें »

Posted on: Fri, 21 Jun 2013 11:37 AM (IST)
        

खटटा-मीठा टमाटर का अचार

विधि : - टमाटर को पानी में उबालने के बाद छील लें। प्रत्येक को दो बराबर भागों में काटें। - टमाटर का जूस और बीजे बाहर निकालने के बाद टमाटर के गूदे और जूस को एक किनारे रख दें। - टमाटर के जूस को छानकर बीज से अलग कर लें। अब जूस में शक्कर मिलाकर उसे... और पढ़ें »

Posted on: Mon, 25 Feb 2013 11:11 AM (IST)
        

कटहल का अचार

विधि : कटहल को काटकर साफ कर लें फिर नमक लगाकर 2-3 दिन तक धूप पर सुखाये। एक पैन में तेल गर्म करें इसमें लहसुन डालकर फ्राई करें। अब इसमें कटहल डालकर फ्राई करें। इसमें सभी मसाले और सिरका डालकर मिला दें। जार में भरकर 7-8 दिन के लिए धूप में रख दें। और पढ़ें »

Posted on: Fri, 08 Feb 2013 12:17 AM (IST)
        

गाजर-गोभी का अचार

विधि : गाजर को छीलकर धो लें, लंबाई में छोटे-छोटे टुकड़े काट लें। फूलगोभी को भी काट लें। एक बर्तन में पानी गरम करें जब पानी खौंलने लगे तो गैस बंद कर दें। कटी हुई सब्जियों को पानी में 10 मिनट तक ढक कर रखे रहने दें, उसके बाद छन्नी में निकालकर पानी निथार... और पढ़ें »

Posted on: Mon, 03 Dec 2012 11:44 AM (IST)
        

कच्चे आम का हींग वाला अचार

विधि : कच्चे आम को अच्छी तरह धोकर छील लें और छोटे चौकोर टुकड़ों में काट लें। अब इन टुकड़ों में हल्दी और नमक मिलाकर एक कांच के जार में भर दें। इस कांच के जार को तीन दिन तक रोज धूप में रखें और अचार को रोज एक बार सूखे साफ चम्मच से हिला दें। तीन दिन ... और पढ़ें »

Posted on: Mon, 13 Jun 2011 03:25 PM (IST)
        

बेसनी हरी मिर्च

विधि : मिर्च को धोकर डंठल तोड़कर बड़े टुकड़ों में काट लें। बेसन को सूखा हल्का ब्राउन होने तक भूनिये। कड़ाही में तेल गरम करके हींग, जीरा और राई डाल दें। जीरा और राई जब भुन जाये तो उसमें हल्दी, धनिया, पिसी हुई सौंफ, हरी मिर्च, अमचूर और नमक डालकर अच्छी ... और पढ़ें »

Posted on: Tue, 04 Aug 2009 12:59 AM (IST)
        

नींबू-हरी मिर्च का अचार

विधि : 6 नींबुओं को चार टुकड़ों में काट लें। बाकी 6 नींबुओं का रस निकाल लें। अब एक कांच के बाउल में कटे हुए नींबू, नमक और हल्दी पाउडर डालकर अच्छी तरह मिला लें। अब एक शीशे के जार में सारे नींबू डाल दें इसमें हरी मिर्च भी डाल दें। इसमें नींबुओं का रस भ... और पढ़ें »

Posted on: Fri, 19 Oct 2001 12:00 AM (IST)
        



    ‘देवदास’ की पारो असल जिंदगी में थी इनकी दोस्त, ऐसे लिखी गई उन बदनाम गलियों में घंटों बैठकर ये कहानी

    ‘इस धरती पर एक विशेष प्रकार के प्राणी हैं जो मानो फूस की आग हैं. जो अचानक ही जल उठते हैं और झटपट बुझ भी जाते हैं. उनके पीछे हमेशा एक आदमी रहना चाहिए, जो जरूरत के मुताबिक उनके लिए पानी व फूस जुटा दिया करे..’ ये चंद पक्तियां है शरतचंद्र चट्टोपाध्याय द्वारा लिखी गई कहानी [...]