जयकारे के बीच निकली बालाजी की शोभा यात्रा

Publish Date:Sat, 20 May 2017 02:47 AM (IST) | Updated Date:Sat, 20 May 2017 02:47 AM (IST)
जयकारे के बीच निकली बालाजी की शोभा यात्राजयकारे के बीच निकली बालाजी की शोभा यात्रा
34 वां पंचाहनिका वार्षिक ब्रह्मोत्सव समारोह के तीसरे दिन शुक्रवार की शाम को गाजे-बाजे के साथ भगवान बालाजी, माता लक्ष्मी एवं माता भूदेवी की उत्सव मूर्तियों का भव्य श्रृंगार कर शोभा

जागरण संवाददता, चक्रधरपुर : 34 वां पंचाहनिका वार्षिक ब्रह्मोत्सव समारोह के तीसरे दिन शुक्रवार की शाम को गाजे-बाजे के साथ भगवान बालाजी, माता लक्ष्मी एवं माता भूदेवी की उत्सव मूर्तियों का भव्य श्रृंगार कर शोभा यात्रा निकाली गई।

वहीं सुबह में मंदिर के पुरोहित अनंत नारायणचार्युल ने वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ एक लाख तुलसी पत्तों से भगवान बालाजी, माता पद्मावती एवं माता आंडालू की उत्सव मूर्तियों की तुलसी अर्चना की। इसके बाद सुहागिन महिलाओं ने सामूहिक कुमकुम अर्चना की। कुमकुम पूजा करने के बाद महिलाओं ने अपना उपवास महाभोग ग्रहण कर तोड़ा। महाभोग खाने के लिए सैकड़ों श्रद्धालु मंदिर पहुंचे और प्रसाद ग्रहण किया।

-------------

पति की दीर्घ आयु के लिए पूजा

मंदिर परिसर में 151 सुहागिन महिलाओं ने उपवास रख कर माता लक्ष्मी की ध्यान कर कुमकुम पूजा की। पूजा के दौरान महिलाओं ने लक्ष्मी यंत्र, श्री चक्र, पान पत्ता, फल फूल, सुपारी, कुमकुम, ¨सदूर एवं दीप जला कर माता लक्ष्मी की पूजा की। पूजा के दौरान महिलाओं ने माता लक्ष्मी से अपने पति की दीर्घ आयु, सौभाग्य, परिवार कल्याण एवं वैभव की कामना की। वहीं कुछ कुंवारी कन्याओं ने भी पूजा की।

सैकड़ों श्रद्धालुओं ने महाभोग ग्रहण किया

आंध्रा एसोसिएशन द्वारा दक्षिण भारतीय परंपरा के अनुसार महाभोग में कदम (खिचड़ी), चक्र पोंगली, पुलिहारा, दधोजनम् बना कर भगवान बालाजी को भोग चढ़ाया गया। उसके बाद सैकड़ों श्रद्धालुओं ने मंदिर परिसर में बैठ कर बड़े प्रेम से महाभोग ग्रहण किया।

----------

मूर्तियों का हुआ नगर भ्रमण

भगवान बालाजी, माता लक्ष्मी एवं माता भूदेवी की उत्सव मूर्तियों का भव्य श्रंगार कर नगर भ्रमण कराने के लिए शोभा यात्रा निकाली गई शोभा यात्रा के दौरान ट्रक को फूलों से सजाया गया। उसके बाद नादेश्वरम की मधुर धुन के साथ शोभा यात्रा निकली। इस दौरान गो¨वदा -गो¨वदा के जयकारे लगाए गए। शोभा यात्रा के दौरान सैकड़ों महिलाएं भगवान बालाजी के भजन गाते हुए चल रही थीं। शोभा यात्रा बालाजी मंदिर से होते हुए रेलवे ऑफिसर्स क्लब, रेलवे स्टेशन, भारत भवन, पवन चौक होते हुए वापस मंदिर पहुंच कर समाप्त हुई।

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:ddd ddd(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

यह भी देखें