PreviousNext

विरोध के बीच निकलता है रास्ता, टैक्स से बढ़ती हैं सुविधाएं

Publish Date:Sun, 10 Sep 2017 01:35 AM (IST) | Updated Date:Sun, 10 Sep 2017 01:35 AM (IST)
विरोध के बीच निकलता है रास्ता, टैक्स से बढ़ती हैं सुविधाएंविरोध के बीच निकलता है रास्ता, टैक्स से बढ़ती हैं सुविधाएं
रांची : अटल बिहारी वाजपेयी के प्रधानमंत्रित्व काल का हवाला देते हुए उप राष्ट्रपति एम वेंकैया

रांची : अटल बिहारी वाजपेयी के प्रधानमंत्रित्व काल का हवाला देते हुए उप राष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने कहा कि तब देश के राष्ट्रीय उच्च पथों को पीपीपी मोड पर सुदृढ़ करने तथा उसके एवज में टोल टैक्स वसूले जाने की बात का जमकर विरोध हुआ था। इससे इतर जब लोगों को इसका लाभ पहुंचा, सभी ने इसे स्वीकार किया। उन्होंने कहा कि तब वे ग्रामीण विकास मंत्री हुआ करते थे। गांवों में सड़क के बदले टैक्स लेना संभव नहीं था। इसके बावजूद देश के समेकित विकास को केंद्र में रखकर प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना की शुरूआत हुई और देश के गांव शहरों से जुड़ने लगे। इससे जहां किसानों की आमदनी बढ़ी, वहीं देश को भी इसका अप्रत्यक्ष लाभ मिला। उन्होंने कहा कि कई बार ऐसे मौके आते हैं, जब हमें विरोध सहना पड़ता है, परंतु इस बीच रास्ते भी निकल पड़ते हैं।

उन्होंने स्पष्ट किया कि टैक्स से सुविधाएं बढ़ती हैं। बेहतर जन सुविधा के लिए यह आवश्यक है। सरकार की सोच स्पष्ट है समाज के अलग-अलग वर्गो का ख्याल रखकर टैक्स के प्रावधान किए गए हैं, जो जितनी सुविधाएं लेगा, वह उतना टैक्स भरेगा। इसमें किसी को आपत्ति नहीं होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि पहले गांव की सरकार को राशि के लिए मोहताज रहना पड़ता था। मुखिया, बीडीओ, डीसी, वित्त मंत्री, मुख्यमंत्री, प्रधानमंत्री राशि के लिए एक-दूसरे पर निर्भर थे। अब पंचायतों को सीधी राशि दी जा रही है। इससे गांव का विकास हो रहा है। उन्होंने कहा कि सवाल यह कि जब गांवों को सुविधाएं नहीं मिलेंगी। सड़कों का विस्तार नहीं होगा, न टीचर, न डॉक्टर, न कलेक्टर और न ही ट्रैक्टर पहुंचेगा।

मुख्यमंच के बदले दर्शक दीर्घा पहुंच गए उपराष्ट्रपति

अब आप इसे सुरक्षा की चूक करार दें या प्रशासनिक लापरवाही, उप राष्ट्रपति निर्धारित ठीक 11 बजे के करीब समारोह स्थल पर पहुंच गए। लोक कलाकारों ने नृत्य-गीत के साथ उन्हें अंदर तक लाया। भारी सुरक्षा, जन प्रतिनिधियों और अफसरों से घिरे उपराष्ट्रपति मुख्य मंच न पहुंचकर दर्शक दीर्घा पहुंच गए। इस बीच उन्होंने लोगों का अभिवादन भी किया। आगे रास्ता बंद था, सो सभी को लौटना पड़ा। इसके बाद वे मुख्य मंच पर पहुंचे।

अब तो लिखा हुआ पढ़ना होगा, पर बोलने की है आदत : वेंकैया

उपराष्ट्रपति ने कहा कि जन प्रतिनिधि होने के नाते बोलने की आदत रही है। राजनीति का 40 वर्षो का पुराना अनुभव है। सुरक्षा और लाव लश्कर लेकर चलने में भरोसा नहीं रखता, पर सवाल प्रोटोकाल का है। अब तो भाषण भी लिखा लिखाया मिलता है। उन्होंने कहा कि सुरक्षा, सुरक्षा और सुरक्षा, अब इसमें भी बदलाव की जरूरत है। इस पर विचार होगा।

ऊपर से खूबसूरत, जमीन पर कुछ बदला-बदला सा नजारा

उपराष्ट्रपति ने शुक्रवार को साक्षरता पर आयोजित एक कार्यक्रम में पूछे गए सवालों का हवाला दिया। उन्होंने कहा कि किसी ने पूछा कि झारखंड ऊपर से देखने में कैसा लगता है। मैंने कहा ऊपर से हरियाली, जंगल, पहाड़, नदी, नाले, झरने बेहद खूबसूरत लगते हैं। इससे इतर जमीन पर नजारा बदला-बदला सा लगता है। खुली नालियां, अस्त-व्यस्त ट्रैफिक, झूलते तार आदि अच्छे नहीं लगते। स्मार्ट सिटी से शहर की खूबसूरती बढ़ेगी और लोगों का नजरिया भी बदलेगा।

लोग एक्सरसाइज भूल गए, साइकलिंग करें, स्वस्थ रहेंगे

उप राष्ट्रपति ने कहा कि बदलते जमाने के साथ बहुत कुछ बदल गया। आज की भागमभाग भरी जिंदगी में घर से निकलते ही लोग साइकिल, मोटरसाइकिल, बस, कार, ट्रेन, प्लेन पर बैठते हैं, उतरते हैं, फिर दफ्तरों में बैठते हैं और रात में सो जाते हैं। पहले किसी को बुलाने के लिए चलकर जाना पड़ता था। फिर जब फोन का प्रचलन हुआ, घंटियां बजते ही सब दौड़ पड़ते थे, अब मोबाइल का जमाना है, बिना भागदौड़ की बात हो रही है। पहले स्नान के लिए पानी भरना पड़ता था, अब माथे पर झरने बहते हैं। पहले जमीन पर बैठकर खाते थे, अब डाइनिंग टेबल आ गया है। पहले बाहर जाते थे, अब कमोड का इस्तेमाल होने लगा है। उन्होंने कहा कि शारीरिक श्रम घटने से बीमारियां बढ़ी हैं। यूके में आज 13 फीसद लोग साइकलिंग करते हैं। इस लिहाज से हर शहर में साइकिल का अलग ट्रैक होना चाहिए। इससे एक्सरसाइज होगा और आप स्वास्थ्य रहेंगे।

इन्होंने भी की शिरकत

ग्रामीण विकास मंत्री नीलकंठ सिंह मुंडा, कल्याण मंत्री डॉ. लुइस मरांडी, राजस्व मंत्री अमर कुमार बाउरी, श्रम मंत्री राज पलिवार, कृषि मंत्री रणधीर सिंह, स्वास्थ्य मंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी, लोकसभा सांसद रामटहल चौधरी, राज्यसभा सांसद महेश पोद्दार, रांची की महापौर आशा लकड़ा, प्रधान सचिव नगर विकास अरुण कुमार सिंह, निदेशक सूडा राजेश कुमार शर्मा आदि।

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:smart city program vice president venkaiah naidu in ranchi news(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

2018 से नए मेडिकल कॉलेजों, 2019 से एम्स में शुरू होगी पढ़ाईनिर्माण श्रमिकों की असमय दुर्घटना मृत्यु पर पांच लाख
यह भी देखें