बेटा आमरण अनशन पर मां की डिप्रेशन से मौत

Publish Date:Tue, 21 Mar 2017 02:08 AM (IST) | Updated Date:Tue, 21 Mar 2017 02:08 AM (IST)
बेटा आमरण अनशन पर मां की डिप्रेशन से मौतबेटा आमरण अनशन पर मां की डिप्रेशन से मौत
जागरण संवाददाता, जम्मू : स्थायी नियुक्ति की मांग को लेकर आमरण अनशन पर बैठे कांट्रेक्चुअल लेक्चरर विन

जागरण संवाददाता, जम्मू : स्थायी नियुक्ति की मांग को लेकर आमरण अनशन पर बैठे कांट्रेक्चुअल लेक्चरर विनोद की मां की हृदय गति रुकने से मौत हो गई। बताया जाता है कि बेटे के अनशन को लेकर मां परेशान थी।

विनोद कुमार मूलत: कठुआ के रहने वाले हैं। वह प्लस टू कांट्रेक्चुअल लेक्चरर्स को स्थायी किए जाने की मांग को लेकर 35 दिनों से प्रदर्शनी मैदान जम्मू में आमरण अनशन पर बैठे हैं। उन्हें तीन बार हालत बिगड़ने के बाद जीएमसी अस्पताल में भी भर्ती करवाना पड़ा, लेकिन उन्होंने अपना आमरण अनशन समाप्त नहीं किया। उधर, बेटे की बिगड़ती हालत व सरकार की जिद को देखते हुए विनोद की मां भी अवसाद (डिप्रेशन) की रोगी बनने लगी थी। इस दौरान न तो विनोद घर जाकर अपनी मां से मिल सका और न उनकी मां प्रदर्शनी मैदान में बेटे को देख सकी। मां की बिगड़ती हालत को देखकर गवर्नमेंट वर्कर्स इंप्लाइज यूनियन फेडरेशन के प्रधान कुलवंत सिंह ने मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती को इस मामले में हस्तक्षेप कर विनोद का आमरण अनशन समाप्त करने की गुहार लगाई थी। कुलवंत सिंह का कहना है कि अगर सरकार समय रहते इस मामले में हस्तक्षेप कर लेक्चरर्स के मामले पर गौर कर उनका अनशन समाप्त करवाती तो आज एक बेटे की मां इस तरह तड़प कर दम नहीं तोड़ती। वहीं फोरम के प्रधान अरुण बख्शी का कहना है कि सरकार की जिद के कारण विनोद को इतना बड़ा हादसा सहना पड़ रहा है। वहीं, इस मामले के पेश आने के बाद प्लस टू कांट्रेक्चुअल लेक्चरारों ने आंदोलन तेज करने की चेतावनी दी है।

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
    Web Title:(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

    कमेंट करें

    यह भी देखें