आम बजट 2016-17

    नई घोषणाएं

    पूर्ण सूची देखें
    • IDBI बैंक में हिस्सा 50% से कम करेंगेः जेटली

    • 13 तरह के सेस खत्म किए गए

    • 45% टैक्स देकर मामले सुलझेंगेः जेटली

    • छोटी कारों पर 1% सेस

    • बैटरी को छोड़कर सभी कारें महंगी

    • SUV पर 4% टैक्स बढ़ा

    • सेक्शन 87a के तहत छूट सीमा 2 लाख से बढ़कर पांच लाख हुई

    • एक करोड़ से अधिक की आय वालों पर 15% सरचार्ज

    • कारें, सिगरेट, कपड़े, ज्वेलरी महंगे

    • कारें, सिगरेट, कपड़े, ज्वेलरी महंगे

    • अाम बजट2016: EPF पर बड़ा एलान, पहले 3 साल तक कर्मच...

      नए रोजगार सृजन के लिए सरकार ने रोजगार के पहले तीन साल में नियोक्ता की ओर से कामगारों के वेतन के 8.33 प्रतिशत का भुगतान ईपीएस में करने का फैसला किया है और इसके लिए 1,000 करोड़ रुपए दिए हैं। ...और पढ़ें »

    • बजट जनता के सपनों के करीब, आएगा गुणात्मक बदलाव: PM

      एक दिन पहले ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने परीक्षा में पास होने का भरोसा जताया था। सोमवार को बजट पेश होने के बाद पीएम ने इसे जनता के सपनों के करीब बता दिया। उन्होंने कहा कि यह बजट गांव, गरी... ...और पढ़ें »

    • ताकि स्वस्थ रहें महिलाएं

      अपील से आगे बढ़कर अब सरकार क्रियान्वयन के स्तर पर उतर आई है। सरकार ने अगले तीन वर्षो में पांच करोड़ बीपीएल परिवार में गैस कनेक्शन पहुंचाने का निर्णय लिया है।...और पढ़ें »

    सुषमा ने नवाज शरीफ को दिखाया आईना, कहा- कोई नहीं छीन सकता कश्मीर

    Publish Date:Tue, 27 Sep 2016 12:36 AM (IST) | Updated Date:Tue, 27 Sep 2016 09:44 AM (IST)

    जागरण ब्यूरो, नई दिल्ली। संयुक्त राष्ट्र के मंच से भारत ने सोमवार को पाकिस्तान के आतंकी 'शौक' पर करारा प्रहार करते हुए कहा कि इस तरह के देशों को अंतरराष्ट्रीय समुदाय में कोई जगह नहीं मिलनी चाहिए। हिंदी में दिए अपने ओजपूर्ण भाषण में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने पांच दिन पहले इसी मंच से पाकिस्तानी पीएम नवाज शरीफ के भाषण का बिंदुवार जवाब दिया।

    शरीफ के कश्मीर राग पर सुषमा ने कहा कि कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है और कोई भी इसे हमसे नहीं छीन सकता। सुषमा का यह बयान इसलिए अहम है कि पाकिस्तान बार-बार कश्मीर मसले पर संयुक्त राष्ट्र से हस्तक्षेप की मांग करता रहता है।

    सुषमा के भाषण के मुरीद हुए केजरीवाल तो विश्वास बोले 'भारतीय सिंहनी'

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बलूचिस्तान पर पहले ही साफ कर चुके हैं कि भारत के लिए अब वह अछूता मुद्दा नहीं है। लेकिन सुषमा स्वराज इस मुद्दे को अब संयुक्त राष्ट्र में भी ले गई हैं। पिछले हफ्ते कश्मीर में भारत के खिलाफ मानवाधिकार हनन का आरोप लगा चुके शरीफ को सुषमा ने दो टूक कहा, उन्हें अपने घर में भी झांक कर देखना चाहिए कि बलूचिस्तान में क्या हो रहा है? बलूचियों पर होने वाला अत्याचार यातना की पराकाष्ठा है। सुषमा ने पाकिस्तान की तरफ इशारा करते हुए कहा, 'कुछ देशों के लिए आतंक को मदद करना शौक बन गया है।

    विश्व समुदाय में ऐसे देशों को कोई जगह नहीं मिलनी चाहिए। दुनिया को यह देखना होगा कि कौन आतंकियों को पैसा दे रहा है? कौन उन्हें हथियार दे रहा है? ऐसे देशों की पहचान करनी होगी और अगर कोई देश विश्व समुदाय के साथ शामिल नहीं होना चाहता तो उसे अलग-थलग करना होगा।'

    पढ़ेंः UN में गरजीं सुषमा स्वराज, कहा कश्मीर का ख्वाब देखना छोड़ दे पाकिस्तान

    मित्रता का हाथ बढ़ाया तो मिला क्या

    हमने दुश्मनी छोड़ मित्रता के आधार पर सारे मसले सुलझाने की कोशिश की। ईद की शुभकामनाएं दीं तो कभी क्रिकेट की शुभकामनाएं दीं। हमने पिछले दो बरस में मित्रता का पैमाना खड़ा किया, लेकिन हमें मिला क्या? पठानकोट, उड़ी और बहादुर अली? बहादुर अली तो जिंदा सुबूत है कि सीमा पार से आतंकी आया है।

    भाषण के प्रमुख अंश

    -कौन है आतंकवाद का शौकीन देश? आतंकियों के कोई बैंक खाते नहीं हैं, उनकी कोई फैक्ट्री नहीं है, फिर उन्हें हथियार कौन देता है? कौन धन मुहैया कराता है? कौन सहारा, संरक्षण देता है?

    -दुनिया में कुछ ऐसे देश हैं जो आतंकियों को बोते, उगाते और पालते हैं। आतंकवाद का निर्यात भी करते हैं। आतंकवाद के ऐसे शौकीन देशों की पहचान होनी चाहिए। और, उन्हें अलग-थलग कर देना चाहिए।

    -आज आतंकवाद ने राक्षस का रूप धारण कर लिया है। उसके अनगिनत मुंह हैं, अनगिनत पैर हैं, अनगिनत हाथ हैं।

    नवाज को सीधा जवाब:

    मानवाधिकार पर 21 सितंबर को पाकिस्तानी प्रधानमंत्री ने भारत के संदर्भ में दो बातें कहीं। पहली, मेरे देश में मानवाधिकार का उल्लंघन हो रहा है। मैं कहना चाहूंगी कि जिनके घर शीशे के होते हैं, उन्हें दूसरों पर पत्थर नहीं फेंकना चाहिए। एक बार बगल में झांककर देखें। क्या-कुछ हो रहा है वहां। बलूचिस्तान में जनता पर अत्याचार किए जा रहे हैं। वहां यातनाओं की पराकाष्ठा हो रही है।

    पढ़ेंः जानिए, संयुक्त राष्ट्र महासभा में सुषमा स्वराज के भाषण की 10 बड़ी बातें

    वार्ता की शर्तो पर

    शरीफ ने कहा कि हमें शर्ते मंजूर नहीं हैं। मैं यह कहना चाहती हूं कि किस शर्त की बात की जा रही है? मोदी जी के शपथ समारोह के लिए हमने नवाज शरीफ को बुलाया, क्या कोई शर्त रखी थी? मैं बातचीत के लिए इस्लामाबाद गई थी, तब क्या कोई शर्त रखी थी? काबुल से भारत आते वक्त मोदी जी पाकिस्तान गए थे तो क्या कोई शर्त लगा कर गए थे?

    नवाज बनाम सुषमा

    -शरीफ 21 सितंबर को 19 मिनट बोले थे। 8 मिनट भारत के खिलाफ बोले थे।

    -सुषमा 20 मिनट बोलीं। 8 मिनट तक पाक के आतंकी चेहरे को बेनकाब किया।

    -नवाज ने कश्मीर के आतंकी बुरहान वानी को कश्मीर की आवाज बताया, आतंकवाद को आजादी का संघर्ष बताया। परमाणु ताकत का दंभ दिखाया था।

    -सुषमा ने आतंकवाद को पूरी दुनिया और मानवता का दुश्मन बताया। इसे उखाड़ फेंकने का संकल्प जताते हुए कहा कि सिर्फ इच्छाशक्ति की कमी है।

    -नवाज ने कश्मीर में आंदोलनों, प्रदर्शनों को समर्थन जारी रखने का एलान किया था।

    -सुषमा ने बलूचिस्तान में दी जा रही यातनाओं को आतंकवाद की पराकाष्ठा बताया।

    दुनिया के लिए दो बातें जरूरी

    1. सीसीआईटी : आतंकवाद के खिलाफ व्यापक वैश्विक संधि का यह प्रस्ताव 20 साल से लंबित है। 1996 में इसे पेश किया गया था, लेकिन कुछ नहीं हुआ। आतंकवाद के खिलाफ कोई अंतरराष्ट्रीय कानून नहीं बना जो आतंकवादियों को सजा दे सके।

    2. संयुक्त राष्ट्र : 1945 में कुछ ही देशों के हितों की रक्षा के लिए यह बना था। आज की वास्तविकता और परिस्थितियों के अनुसार इसमें बदलाव करना होगा। सुरक्षा परिषद की स्थायी और अस्थायी सदस्यता का विस्तार होना चाहिए।

    मोदी अौर केजरीवाल ने सराहा

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संयुक्त राष्ट्र महासभा में ओजस्वी भाषण देने के लिए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज की सराहना की। सुषमा के भाषण के तुरंत बाद पीएम ने ट्वीट किया, 'संयुक्त राष्ट्र में विविध वैश्विक मुद्दों की दृढ़, प्रभावी और उत्कृष्ट अभिव्यक्ति के लिए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को बधाई।' संयुक्त राष्ट्र के मंच पर भारत के नजरिये को बहुत अच्छे तरीके से रखने के लिए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी सुषमा को बधाई दी।

    जानिए, क्या कहा विदेश मंत्री ने

    ''पाकिस्तान शायद सोचता है कि ज्यादा आतंकी हमले कराकर वह भारत की भूमि हथिया सकता है। लेकिन पाकिस्तान यह सपना देखना छोड़ दे। जम्मू-कश्मीर भारत का अभिन्न हिस्सा है और रहेगा।''

    - सुषमा स्वराज

    पढ़ेंः संयुक्त राष्ट्र में सुषमा स्वराज के भाषण के मुरीद हुए केजरीवाल

    यूएन में सुषमा स्वराज के भाषण से तिलमिलाया पाक, बताया झूठ का पुलिंदा

    Publish Date:Tue, 27 Sep 2016 06:54 AM (IST) | Updated Date:Tue, 27 Sep 2016 10:09 AM (IST)

    नई दिल्ली, (जेएनएन)। संयुक्त राष्ट्र महासभा में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के भाषण के बाद पाकिस्तान तिलमिला गया है। पाक विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता नफीस जकारिया ने एक के बाद एक कई ट्वीट कर सुषमा स्वराज के भाषण की आलोचना की।

    जकारिया ने ट्वीट कर कहा कि भारत यह दावा करता है कि कश्मीर उसका अभिन्न अंग है। अगर ऐसा है तो ये सुरक्षा परिषद के एजेंडे में क्यों है।

    सुषमा की स्पीच के तुरंत बाद ही जकारिया ने ट्वीट कर कहा ये अजीब है कि भारतीय विदेश मंत्री यूएन में यूएन के प्रस्तावों को ही अस्वीकार कर रही है।

    बलूचिस्तान पर की गई सुषमा की टिप्पणी पर जकारिया ने ट्वीट कर कहा कि बलूचिस्तान के संदर्भ में भारत पाकिस्तान में अपनी विध्वंसक गतिविधियों को अंजाम देता रहा है। जो संयुक्त राष्ट्र के सिद्धांतों और अंतरराष्ट्रीय कानून का उल्लंघन है।

    सुषमा ने शरीफ को दिखाया आईना, कहा- कोई नहीं छीन सकता कश्मीर

    'पाकिस्तान के बारे में भारत ने बोला झूठ'

    संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान की प्रतिनिधि मलीहा लोधी ने भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के भाषण के बाद पाकिस्तान का पक्ष रखा। उन्होंने सुषमा स्वराज के भाषण को 'झूठ और आधारहीन आरोपों का पुलिंदा' बताया है।

    भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के भाषण के बाद मलीहा लोधी ने ट्विटर पर लिखा, "सबसे बड़ा झूठ ये है कि कश्मीर भारत का अविभाज्य हिस्सा है।"

    मलीहा लोधी ने ट्विटर पर लिखा, "कश्मीर के विवाद को अंतरराष्ट्रीय तौर पर मान्यता मिली हुई है। ये संयुक्त राष्ट्र एजेंडा के सबसे पुराने विषयों में है।"

    मलीहा लोधी ने आगे लिखा है, "दूसरा झूठ ये है कि कश्मीर में मानवाधिकारों का कोई उल्लंघन नहीं हो रहा है। जबकि उल्लंघन दस्तावेजों में दर्ज हैं।

    "उन्होंने संयुक्त राष्ट्र में बलूचिस्तान का मुद्दा उठाए जाने पर सवाल किया है। मलीहा ने ट्विटर पर लिखा है, " बलूचिस्तान का मुद्दा उठाना, जो कि एक आंतरिक मुद्दा है, संयुक्त राष्ट्र के चार्टर के सिद्धांतों और अंतरराष्ट्रीय नियमों का खुला उल्लंघन है।"

    सुषमा के भाषण के मुरीद हुए केजरीवाल तो विश्वास बोले 'भारतीय सिंहनी'

    उन्होंने ये भी कहा है कि भारतीय विदेश मंत्री का ये दावा कि सही नहीं है कि उनके देश ने पाकिस्तान पर बातचीत के लिए कोई शर्त नहीं लगाई है।

    UN में गरजीं सुषमा स्वराज, कहा कश्मीर का ख्वाब देखना छोड़ दे पाकिस्तान

    प्रेसिडेंशियल डिबेट में ट्रंप-हिलेरी के बीच जोरदार बहस, जानें- 10 बड़ी बातें

    Publish Date:Mon, 26 Sep 2016 05:02 PM (IST) | Updated Date:Tue, 27 Sep 2016 09:55 AM (IST)

    वाशिंगटन (रॉयटर)। अमेरिकी राष्ट्रपति पद के लिए पहली प्रेसिडेंशियल डिबेट में रिपब्लिकन पार्टी के उम्मीद्वार डोनाल्ड ट्रंप ने सभी को यह कहकर चौंका दिया कि यदि इस चुनाव में डेमोक्रेट उम्मीद्वार हिलेरी क्लिंटन जीती तो उन्हें वह अपना पूरा समर्थन देंगे। आज शुरू हुई इस बहस में दोनों के बीच देश की अार्थिक नीतियों से लेकर सुरक्षा और विदेश नीति को लेकर जबरदस्त बहस हुई। राष्ट्रपति पद के लिए 8 नवंबर को चुनाव होने हैं। दोनों नेताओं के बीच जारी बहस अमरीकी चुनावी प्रक्रिया का अहम हिस्सा है।

    न्यूयार्क में हुई इस डिबेट को करोड़ों लोगों ने अपने टीवी सेट पर भी देखा। चुनाव के दिन नजदीक आते-आते दोनों उम्मीदवारों की लोकप्रियता में बहुत कम अंतर रह गया है। फिलहाल इसमें क्लिंटन, ट्रंप से कुछ ही आगे हैं। यह बहस भारतीय समयानुसार आज सुबह करीब 6.30 बजे शुरू हुई। न्यूयॉर्क में हेम्पस्टीड स्थित होफस्ट्रा यूनिवर्सिटी में चल रही इस बहस पर अमेरिका ही नहीं, दुनियाभर की नजरें टिकी हुई हैं। हिलेरी क्लिंटन के रूप में किसी बड़ी पार्टी ने पहली बार एक महिला को अपना उम्मीदवार बनाया है। इस बहस के अहम दस बिंदुओं पर एक नजर:-

    कानून व्यवस्था पर सवाल

    बहस में ट्रंप ने कहा कि हमारे देश में कानून व्यवस्था बहुत बड़ी चुनौती बन गई है। सड़कों पर खुलेआम गैंग घूम रहे हैं। हमें और पुलिस चाहिए। बेहतर सामुदायिक संबंध चाहिए। शिकागो समेत कई जगहों पर कई बार गोलीबारी हुई है जिसमें कई लोगों की मौत हुई है और कई घायल भी हुए हैं। कुछ ही समय में अमेरिका के विभिन्न राज्यों में 2200 मर्डर हुए, लेकिन रोककर तलाशी लेने की वजह से यह 500 पर सिमट गए। 'रोको और तलाशी लो' की नीति से अमेरिकी सुरक्षा पर बेहद गहरा असर पड़ा है। उन्होंने कहा कि वह अमेरिका को दोबारा से महान बनाना चाहता हैं और वह ऐसा करने में सक्षम हैं। इसके जवाब में हिलरी का कहना था कि हमें उन लोगों से हाथों से हथियार वापस लेने होंगे, जिनके हाथों में वे नहीं होने चाहिएं। मैं अपने देश की ऐसी नेता बनना चाहती हूं, जिस पर देशवासी घर या विदेश, दोनों जगह भरोसा कर सकें।

    प्रवासियों पर सवाल

    प्रवासियों पर अपने बयान को लेकन आलोचना झेलने वाले ट्रंप ने साफतौर पर कहा कि हमें अपने देश में आनेवाले प्रवासियों खासतौर पर मुस्लिम प्रवासियों पर रोक लगानी होगी। उनका कहना था कि हमारे यहां गैरकानूनी अप्रवासी हैं और उनके पास बंदूकें हैं। हमें बेहद सर्तक रहना होगा। इस वक्त हमारी पुलिस बेहद डरी हुई है। हम क्या कर रहे हैं, क्या हमारे यहां जंग छिड़ी है? ट्रंप का कहना था कि हम पूरी दुनिया की पुलिस नहीं बन सकते। हम दुनिया के देशों की हिफाजत नहीं कर सकते जबकि वे हमें इसकी कोई कीमत नहीं चुका रहे हैं।

    नस्लीय टिप्पणी पर बहस

    ट्रंप ने आरोप लगाया कि मैंने हिलेरी को बराक ओबामा के खिलाफ डिबेट्स की तैयारियां करते देखा है। आपने उनके साथ अपमानजनक बर्ताव किया हैै। उनका आरोप था कि हमारे राजनेताओं की वजह से अफ्रीकी-अमेरिकी समुदाय के लोगों को नीचा देखना पड़ा है। इसके जवाब में हिलेरी का कहना था कि ट्रंप के खिलाफ 1973 में नस्लीय भेदभाव के मामले में केस दर्ज होने के साथ उनका करियर शुरू हुआ। जस्टिस डिपार्टमेंट ने उनके खिलाफ दो बार केस किया। हिलेरी ने ट्रंप पर उनका नस्लीय बर्ताव करने का लंबा रिकार्ड बताया। उन्होंने कहा कि हमें समुदायों के बीच दोबारा से भरोसा कायम करना होगा। इस डिबेट के लिए तैयारी करने के लिए ट्रंप ने मेरी आलोचना की। लेकिन मैंने एक और चीज के लिए तैयारी की है। मैंने अमेरिकी प्रेजिडेंट बनने की तैयारी की है। उनका कहना था कि यह बेहद नकारात्मक है कि ट्रंप ने देश के अश्वेत समुदाय की ऐसी नकारात्मक तस्वीर पेश की है।

    परमाणु हथियारोंं पर राय

    इस बहस के दौरान रिपब्लिकन उम्मीद्वार डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि परमाणु हथियारों से दुनिया को सबसे बड़ा खतरा है। लेकिन ग्लोबल वार्मिंग के लिए यह जिम्मेदार नहीं हैं। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि अगर अपने को सुरक्षित रखना है तो उसके लिए अपने को परमाणु हथियार संपन्न करना बेहद जरूरी है।

    अमेरिका में नौकरियां बढ़ाने पर बहस

    ट्रंप ने आरोप लगाया कि हिलेरी के पास नौकरियां पैदा करने की कोई योजना नहीं है। लेकिन मैं नौकरियां वापस दिला सकता हूं, आप ऐसा नहीं कर सकतीं। हिलेरी ने वादा किया कि वो पूँजी निवेश बढ़ाएंगी और दावा किया एक करोड़ नौकरियां पैदा करेंगी। जहाँ ट्रंप ने कहा कि नौकरियां अमेरिका से बाहर जा रही हैं, वहीं क्लिंटन ने कहा कि ट्रंप ने हाउसिंग संकट को भी अपने फ़ायदे के लिए इस्तेमाल करने की कोशिश की थी। इस आर्थिक संकट के दौरान नौ लाख लोगों को नौकरी से हाथ धोना पड़ा था, 50 लाख को घर गंवाना पड़ा था और एक अनुमान के मुताबिक 13 खरब डॉलर का नुक़सान हुआ।

    टैक्स छिपाने, ईमेल डिलीट करने पर बहस

    हिलेरी ने आरोप लगाया कि ट्रंप अपनी ही दुनिया में जी रहे हैं और टैक्स छिपा रहे हैं। इसके जवाब में ट्रंप ने कहा कि जब क्लिंटन अपने फ़ोन से डिलीट किए गए 30 हजार ईमेल सार्वजनिक कर देंगी तो वो भी अपनी रिटर्न सामने ले आएंगे। इस पर हिलेरी ने माना कि उनसे ईमेल डिलीट होने के मामले में ग़लती हुई थी और वो दोबारा ऐसा नहीं करेंगी।

    यूएस को कर्जदार बनाने पर बहस

    हिलेरी ने कहा कि ट्रंप ने अपने अरबपति पिता की मदद से बिजनेस शुरू किया था लेकिन ट्रंप ने इसे एक 'छोटा सा लोन' बताया. हिलेरी ने कहा कि एक छोटा सा बिजनेस चलाने वाला पिता भले ही आपको मिलियन डॉलर की बेल न दिला सके लेकिन आपको मेहनत और ईमानदारी से काम करने का महत्व जरूर सिखा सकता है। हिलेरी ने कहा कि हमें एक ऐसी अर्थव्यवस्था तैयार करनी होगी, जो हर किसी के लिए हो, सिर्फ बड़े लोगों के लिए नहीं। हिलेरी ने कहा कि ट्रंप के पास जिस इकोनॉमिस्ट प्रोजेक्ट का प्लान है, वो देश के कर्ज को $5,000,000,000,000 बढ़ा देगा। डोनाल्ड ट्रंप ने हमलावर होते हुए कहा कि हिलेरी क्लिंटन और ओबामा की नीतियों ने पिछले 8 सालों में 9 ट्रिलियन तक कर्ज बढ़ा दिया है. ट्रंप ने कहा कि ओबामा ने 8 साल में यूएस के कर्ज को दोगुना कर दिया है।

    ट्रंप का सरकार पर वार

    इस बहस में बोलते हुए रिपब्लिकन उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप ने अमेरिकी की मौजूदा सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि अमेरिका मुश्किल दौर से गुजर रहा है। मौजूदा समय में सत्ता उन लोगों के हाथ में है जिन्हें अर्थनीति की जानकारी नहीं है। ट्रंप ने कहा कि अमेरिका की तरक्की उन लोगों के हाथ में सुरक्षित है जिन्हें अर्थनीति की बेहतर जानकारी है। ये सौभाग्य की बात है कि रिपब्लिकन पार्टी के पास अर्थनीति की बेहतर समझ है।

    बहस पर टिकी सभी की नजरें

    अमेरिका के 56 फीसदी लोग हिलेरी को नापसंद करते हैं। जबकि डोनाल्ड ट्रंप को 63 फीसदी लोग नापसंद करते हैं। अमिरिकी टेलीविजन इतिहास में ऐसे बहुत ही कम मौके आएं है, जिसमें 100 मिलियन से ज्यादा दर्शकों की मौजूदगी दर्ज की गई हो। इसमें रुट सीरीज के कई एपीसोड और सुपरबाउल के फाइनल शामिल हैं। लेकिन सोमवार को होने वाली यह राष्ट्रपति उम्मीदवारों की डिबेट इन सभी रिकार्ड को तोड़कर पहला राजनीतिक तमाशा बन सकती है, जो सुपरबाउल की सीमा को भी पार कर सकती है।

    पढ़ें- अमेरिकी चुनाव: पहले प्रेसिडेंशियल डिबेट के लिए सज गया है मंच

    कुछ लोगों को रास नहीं आते ट्रंप

    डिबेट के रिकार्ड दर्शक होने की पहली वजह महिला और पुरुष उम्मीदवार के बीच होने वाला मुकाबला। जबकि दूसरी वजह है कि ट्रंप छिछला राजनीति ज्ञान। गौरतलब है कि डोनाल्ड ट्रंप की राजनीति के फील्ड से नहीं आते हैं। लेकिन ट्रंप का मुसलमान और बाकी के खिलाफ बयान देना भी कई लोगों को पसंद आता है, जो दर्शक संख्या को बढ़ा रहे हैं। इस डिबेट के दर्शक अकेले राष्ट्रपति उम्मदावारों के अंधभक्त नहीं है, बल्कि कई आलोचक भी होंगे

    अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव से जुड़ी सभी खबरों को पढ़ने के लिए क्लिक करें

    यूएस पॉलिटिक्स पर नजर रखने वालों की सोच

    कुछ राजनीतिक जानकारों का मानना है कि हिलेरी जब पॉलिसी विस्तार और उसके कानूनी पहलू को लेकर बोलेंगी तो वो ट्रंप पर भारी पड़ेगी। ओपिनियन पोल में भी हिलेरी ट्रंप से आगे हैं। विशेषज्ञों का मानना है कि डिबेट से कोई उम्मीदवार की दावेदारी तय नहीं हो जाती है। लेकिन मतदाताओं को लुभाया जरुर जा सकता है। यह डिबेट न्यूयार्क की एक बड़े प्राइवेट विश्वविद्यालय होफ्स्ट्रा में हो रही है। जिसका मोटो है आई स्टैंड स्टीडफास्ट।

    पढ़ें- अमेरिकी राष्ट्रपति, वैज्ञानिकों ने ट्रंप को लेकर दुनिया को चेताया

    पानी से लबालब हुआ सूखाग्रस्‍त लातूर, अगले पांच साल तक नहीं होगी कमी

    Publish Date:Tue, 27 Sep 2016 10:37 AM (IST) | Updated Date:Tue, 27 Sep 2016 10:45 AM (IST)

    औरंगाबाद। अगले पांच सालों में पानी से भरी ट्रेन को लातूर जाने की जरूरत नहीं पड़ने वाली है क्योंकि इस साल लातूर में बारिश ने अपनी दरियादिली दिखायी है। पिछले कुछ दिनों से लगातार हो रही भारी बारिश से मराठवाड़ा में पानी का स्तर लातूर के लाइफलाइन कहे जाने वाले मांजरा डैम समेत सभी जलस्रोतों में बढ़ गया है। बांधों व अन्य स्रोतों में मौजूदा पानी का स्तर इतना हो गया है कि अगले पांच सालों तक यहां के लोगों की पानी की जरूरतें पूरी करेगा।

    पानी से लबालब 'मांजरा डैम'

    मांजरा डैम में 9 हजार मिलियन क्यूबिक फीट की स्टोरेज कैपसिटी है जो कि 2012 से ही सूखा पड़ा था। अब यहां इसकी क्षमता के 97 फीसद तक पानी आ गया है। अधिकारियों ने यहां से 5,190 क्यूबिक फीट प्रति सेकेंड पानी छोड़ना शुरू कर दिया। लातूर को प्रतिदिन 60 मिलियन लीटर पानी की आवश्यकता है और लगातार कुछ सालों से सूखा होने के कारण सरकार ने सांगली जिले के मिराज से ट्रेन के जरिए वहां पानी भेजना शुरू किया है।वहां सूखा के कारण इंडस्ट्री भी बंद पड़े थे और ट्रेड व बिजनेस भी प्रभावित था।

    अगले पांच साल तक नहीं होगा सूखा

    लातूर के ग्राउंड वाटर सर्वे एंड डेवलपमेंट एजेंसी के सीनियर जियोलॉजिस्ट, मोहम्मद सरफराज ने कहा,’मांजरा डैम अब अपनी क्षमता के अनुसार 100 फीसद पानी से भर गया है। यहां की दूसरी बड़ी डैम लोअर टर्ना भी भरने वाली है। जिले के आठ अन्य मीडियम प्रोजेक्ट भी अपनी क्षमता के अनुसार पर्याप्त भर चुका है। जिले में पानी की कमी नहीं है और अब आगे के पांच सालों तक शहर को सूखा का सामना नहीं करना होगा। उन्होंने आगे बताया की भूजल का स्तर जो कि 3.5 मीटर नीचे चला गया था वह भी अपनी जगह पर आ गया है। लातूर के जिला कलेक्टर पांडुरंग पोल ने कहा, ‘जिला में 113 फीसद औसत बारिश हुई है। भूजल का स्तर बढ़ा है। मैं यह नहीं बता सकता कि यह कब तक खत्म होगा पर हां अभी के लिए लातूर में पानी की कमी नहीं है।‘ उन्होंने आगे बताया,’अब हमें रबी मौसम व इंडस्ट्री के लिए पानी सप्लाई के बारे में सोचना होगा।‘

    गन्ना की जगह किसी और अनाज की खेती

    प्रशासन योजना बना रही है कि किसानों के पास जाकर उनसे गन्ने की जगह किसी और अनाज की खेती का आग्रह करें क्योंकि गन्ने की खेती के लिए पानी की अधिक आवश्यकता होती है। पोल ने बताया कि सूखे के कारण कई किसानों ने गन्ने की खेती छोड़ दूसरे अनाजों की खेती शुरू कर दी है। लेकिन अच्छे बारिश के कारण कुछ फिर से गन्ने की खेती का सोच रहे हैं।

    इस दौरान एक रोचक घटना सामने आयी है मांजरा डैम पर अपने पंपिंग स्टेशन से लातूर नगर निकाय पानी नहीं निकाल सकती है। उन्होंने हाल में ही 800kv ट्रांसफार्मर लगाया था जो अगस्त में चोरी हो गयी। इसके लिए उन्होंने पुलिस में शिकायत दर्ज करायी है। अब पंपिंग स्टेशन के लिए दो गार्ड नियुक्त किए गए हैं।

    25 लाख लीटर पानी लेकर लातूर पहुंची 'जलदूत एक्सप्रेस'

    तीन साल से सूखा झेल रहे लातूर में चार इंच बारिश, लोगों ने पटाखे फोड़कर मनाया जश्न

    सुषमा के भाषण के मुरीद हुए केजरीवाल तो विश्वास बोले 'भारतीय सिंहनी'

    Publish Date:Tue, 27 Sep 2016 08:35 AM (IST) | Updated Date:Tue, 27 Sep 2016 11:29 AM (IST)

    नई दिल्ली (जेएनएन)। तकरीबन हर मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को घेरने वाले मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज द्वारा संयुक्त राष्ट्र संघ में दिए गए भाषण का स्वागत करने के साथ उसकी सराहना भी की है। केजरीवाल ने ट्वीट करके इस भाषण के लिए सुषमा स्वराज को बधाई भी दी है। केजरीवाल ने अपने ट्वीट में लिखा है- सुषमा स्वराज जी ने संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) में बहुत ही बेहतर ढंग से भारत का पक्ष रखा। मेरी ओर से सुषमाजी को बधाई।'

    वहीं, आम आदमी पार्टी के नेता कुमार विश्वास ने तो सुषमा स्वराज को भारतीय सिंहनी तक कह दिया है। कवि से नेता बने कुमार विश्वास ने इस भाषण को ऐतिहासिक बताया और कहा कि सुषमा स्वराज ने पाकिस्तान के कमजोर पक्ष को तार-तार कर के रख दिया।

    सुषमा ने शरीफ को दिखाया आईना, कहा- कोई नहीं छीन सकता कश्मीर

    विश्वास ने इस भाषण को नवाज शरीफ और पाकिस्तानी सियासतदानों के लिए चेतावनी बताया है। विश्वास ने सुषमा को एक प्रखर वक्ता बताते हुए उनकी सटीक और सधी हुई हिंदी की भी प्रशंसा की है।

    वहीं, कुमार विश्वास ने सुषमा के हिंदी में दिए भाषण की अलग से सराहना की है।

    गौरतलब है कि संयुक्त राष्ट्र के मंच से विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने सोमवार को पाकिस्तान के आतंकी 'शौक' पर करारा प्रहार करते हुए कहा कि इस तरह के देशों को अंतरराष्ट्रीय समुदाय में कोई जगह नहीं मिलनी चाहिए। हिंदी में दिए अपने ओजपूर्ण भाषण में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने पांच दिन पहले इसी मंच से पाकिस्तानी पीएम नवाज शरीफ के भाषण का बिंदुवार जवाब दिया।

    HC से AAP सरकार ने कहा- केजरीवाल-सोमनाथ पर नहीं दर्ज होना चाहिए केस

    शरीफ के कश्मीर राग पर सुषमा ने कहा कि कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है और कोई भी इसे हमसे नहीं छीन सकता। सुषमा का यह बयान इसलिए अहम है कि पाकिस्तान बार-बार कश्मीर मसले पर संयुक्त राष्ट्र से हस्तक्षेप की मांग करता रहता है।

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बलूचिस्तान पर पहले ही साफ कर चुके हैं कि भारत के लिए अब वह अछूता मुद्दा नहीं है। लेकिन सुषमा स्वराज इस मुद्दे को अब संयुक्त राष्ट्र में भी ले गई हैं।

    पिछले हफ्ते कश्मीर में भारत के खिलाफ मानवाधिकार हनन का आरोप लगा चुके शरीफ को सुषमा ने दो टूक कहा, उन्हें अपने घर में भी झांक कर देखना चाहिए कि बलूचिस्तान में क्या हो रहा है? बलूचियों पर होने वाला अत्याचार यातना की पराकाष्ठा है।

    सुषमा ने पाकिस्तान की तरफ इशारा करते हुए कहा, 'कुछ देशों के लिए आतंक को मदद करना शौक बन गया है। विश्व समुदाय में ऐसे देशों को कोई जगह नहीं मिलनी चाहिए। दुनिया को यह देखना होगा कि कौन आतंकियों को पैसा दे रहा है? कौन उन्हें हथियार दे रहा है? ऐसे देशों की पहचान करनी होगी और अगर कोई देश विश्व समुदाय के साथ शामिल नहीं होना चाहता तो उसे अलग-थलग करना होगा।'

    अश्विन निकल गए सबसे आगे, दुनिया के सारे स्पिनर उनके पीछे-पीछे

    Publish Date:Tue, 27 Sep 2016 09:34 AM (IST) | Updated Date:Tue, 27 Sep 2016 11:20 AM (IST)

    नई दिल्ली, संजय सावर्ण। भारतीय ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने भारत-न्यूजीलैंड पहले टेस्ट के दौरान एक गजब का वर्ल्ड रिकॉर्ड अपने नाम किया। पहले टेस्ट में अश्विन की धारदार गेंदबाजी के सामने मेहमान टीम टिक नहीं पाई और उन्हें बड़ी हार का सामना करना पड़ा।

    ये अनोखा वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया अश्विन ने

    आर. अश्विन ने पहले टेस्ट मैच के दौरान अपने टेस्ट करियर में 200 विकेट पूरे किए। एक स्पिनर के तौर पर टेस्ट क्रिकेट में सबसे कम गेंद फेंककर 200 विकेट लेने वाले वो दुनिया के पहले खिलाड़ी बने। अश्विन ने टेस्ट क्रिकेट में अपने 200 विकेट पूरे करने के लिए 10,291 गेंदें फेंकी। अश्विन से पहले ये कमाल का रिकॉर्ड ऑस्ट्रेलिया के स्टुअर्ट मैकगिल के नाम पर था। मैकगिल ने टेस्ट क्रिकेट में अपने 200 विकेट 10,511 गेंदों में लिए थे। आइए एक नजर डालते हैं दुनिया के उन पांच टॉप गेंदबाजों पर जिन्होंने टेस्ट में सबसे कम गेंदें फेंककर अपने 200 विकेट पूरे किए।

    आर. अश्विन (भारत)- 10,291 गेंद- 200 विकेट

    स्टुअर्ट मैकगिल (ऑस्ट्रेलिया)- 10,511 गेंद- 200 विकेट

    ग्रेम स्वान (इंग्लैंड)- 12,259 गेंद- 206 विकेट

    नाथन लियॉन (ऑस्ट्रेलिया)- 12,419 गेंद- 204 विकेट

    शेन वॉर्न (ऑस्ट्रेलिया)- 12,470 गेंद- 201 विकेट

    इस भारतीय गेंदबाज ने टेस्ट में किए हैं 200 शिकार, देखें तस्वीरें

    क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

    खेल की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

    शाहिद के बाद अब सुष्मिता सेन को बीएमसी ने थमाया नोटिस

    Publish Date:Tue, 27 Sep 2016 09:39 AM (IST) | Updated Date:Tue, 27 Sep 2016 10:04 AM (IST)

    नई दिल्ली। हाल ही में विद्या बालन को डेंगू होने की खबर आई थी और शाहिद कपूर के घर से डेंगू का लार्वा मिलने के बाद मुंबई महानगर पालिका ने उन्हें नोटिस भेज दिया था, तो लो अब सुष्मिता सेन के फ्लैट की गैलरी और छत पर से भी डेंगू का लार्वा पाए जाने के बाद बीएमसी ने उन्हें भी नोटिस भेजा दिया है।

    बाथरूम में नहाते हुए अमीषा पटेल ने सोशल मीडिया पर शेयर की अपनी फोटो

    बीएमसी के एक सीनियर ऑफिसर ने बताया, 'नगर निकाय ने मुंबई नगर निगम कानून की धारा 381-बी के तहत सुष्मिता सेन को नोटिस जारी किया है। खार पश्चिम में उनके घर में डेंगू, चिकनगुनिया जैसी बीमारियों के प्रसार के लिए जिम्मेदार एडीस इजिप्टी मच्छरों के लार्वा मिलने के बाद यह कदम उठाया गया है।' इसके साथ ही उन्होंने कहा, 'कानून की धारा के तहत अधिकतम 20,000 रुपये का जुर्माना के साथ सुष्मिता के खिलाफ अदालती मामला दर्ज कराया जा सकता है।'

    रोकटोक से सख्त चिढ़ है टाइगर की इस हीरोइन को

    बता दें देश में चिकनगुनिया और डेंगू जैसी गंभीर बीमारी से कई लोगो की जान चली गई है और कई हजार को अस्पताल के बेड पर इस बीमारी से जूंझ रहे हैं। ऐसे में बॉडीवुड के इन सितारों के घर से डेंगू का लार्वा पाया जाना बेहद निराशाजनक है।

    25 अक्टूबर को भारत में लॉन्च होगी होंडा अकॉर्ड, बुकिंग शुरू

    Publish Date:Tue, 27 Sep 2016 08:54 AM (IST) | Updated Date:Tue, 27 Sep 2016 09:00 AM (IST)

    नई दिल्ली: होंडा की नई लक्ज़री सेडान कार अकॉर्ड हाइब्रिड का इंतज़ार काफी समय से भारतीय कार बाज़ार में किया जा रहा था और अब इसका इंतजार खत्म होने को है जी हां होंडा नई एकॉर्ड को 25 अक्टूबर को भारत में लॉन्च करेगी और इसकी बुकिंग भारत में शुरु कर दी है यानी अगर आप अपनी इस पसंददीदा सेडान को अपना बनाना चाहते है तो जल्दी ही इसकी बुकिंग करा दीजिये क्योकि जिस नए अवतार में यह 5 साल बाद एक बार फिर लॉन्च होने जा रही है उसे देखकर तो यही लगता है की होंडा की नई एकॉर्ड भारत में जबरदस्त प्रदर्शन कर सकती है।

    भारत में पहली बार होंडा ने अकॉर्ड को साल 2008 में लॉन्च किया था कार तो काफी बढ़िया थी लेकिन अपनी ज्यादा कीमत के चलते भारत में इसकी उम्मीद के मुताबिक नहीं हो पायी इसलिए होंडा ने इसे बंद कर दिया।
    और अब एक बार फिर 9th जेनेरेशन होंडा की एकॉर्ड तैयार है भारतीय सड़कों पर फर्राटा भरने को उम्मीद है कीमत के ममाले में इस इस बार निराश नहीं करेगी। इसके बाहरी लुक्स से लेकर कैबिन तक को पूरी तरह से नया डिजाइन दिया है कार में फ्रंट ग्रिल के साथ नया बंपर, नए हेडलैंप, मिलेंगे साथ ही कैबिन ज्यादा लक्ज़री फील देगा फीचर्स के रूप में यहां आपको टचस्क्रीन इंफोटेनमेंट सिस्टम, रिवर्स पार्किंग कैमरा, और 6 एयरबैग जैसे बढ़िया फीचर्स मिलेंगे।

    इंजन की बात करें तो अकॉर्ड हाइब्रिड में 4 सिलिंडर, 2.0 लीटर का i-VTEC इंजन होगा यह इंजन ट्विन इलेक्ट्रिक मोटर, ई-सीवीटी यूनिट और 1.3KW लिथियम बैटरी से लैस होगा। ये कंबाइंड आउटपुट 196hp की ताकत देगा जिसमें 141hp पेट्रोल इंजन की होगी।

    नई अकॉर्ड हाइब्रिड 23.8kmpl माइलेज देगी। इसके अलावा कंपनी होंडा अकॉर्ड को सिर्फ पेट्रोल इंजन वर्जन में भी लॉन्च करेगी। होंडा अकॉर्ड हाइब्रिड की अनुमानित कीमत 28 लाख रुपये के आसपास हो सकती है और इस कार का मुकाबला टोयोटा कैमरी हाइब्रिड से होगा।