PreviousNextPreviousNext

कैसा हो नवदंपती का बेडरूम

Publish Date:Wed, 17 Oct 2012 01:00 PM (IST) | Updated Date:Wed, 17 Oct 2012 01:00 PM (IST)
कैसा हो नवदंपती का बेडरूम

1. नवदंपती का बेडरूम सदा दक्षिण-पश्चिम दिशा स्थित नैऋत्य कोण में होना चाहिए। अगर ऐसा संभव न हो तो दक्षिण या पश्चिम दिशा में भी बेडरूम बनाया जा सकता है।

2. इस बात का ध्यान रखें कि नवदंपती का बेडरूम पूर्वोत्तर दिशा में न हो क्योंकि इस दिशा में जल तत्व की प्रमुखता रहती है और जल के समान शीतल गुणों से परिपूर्ण यह दिशा वंश वृद्धि के अनुकूल नहीं है।

3. नवदंपती के बेडरूम में कोई भी एक्वेरियम या फाउंटेन आदि न रखें।

4. इस बात का ध्यान रखें कि सोते समय सिरहाना कभी भी उत्तर दिशा की ओर न हो क्योंकि ऐसा होने पर समान चुंबकीय ध्रुव परस्पर विकर्षण रखते हैं। इससे सोते समय नींद में बाधा आ सकती है।

5. बेडरूम की दीवारों पर सदा मन को प्रफुल्लित करने वाले हलके, उज्ज्वल एवं इस प्रकार के रंगों का प्रयोग करे, जो पति-पत्नी दोनों के मन को भाते हों। यहां कभी भी फीके रंगों का इस्तेमाल न करे।

6. नवविवाहित दंपती के कमरे में काला, गहरा सलेटी व गहरा भूरा रंग नहीं होना चाहिए। बल्कि हलका गुलाबी, हलका पीला, नारंगी, लाल और बैगनी रंगों का प्रयोग नित नई स्फूर्ति प्रदान करने की क्षमता रखता है।

7. बेडरूम में सजावट के लिए उगता हुआ सूरज, बाग-बगीचे, खेलते हुए बच्चे या फूलों आदि के पोस्टर लगाने चाहिए।

8. नवदंपती के बेडरूम में हलके वुडवर्क व फर्नीचरों का प्रयोग करे।

9. पति-पत्नी का फोटोग्राफ कमरे के दक्षिण दिशा की दीवार पर लगाने से उनमें प्रेम, सद्भावना व एक-दूसरे के प्रति उत्तरदायित्व की भावना में वृद्धि होती है।

ृ10. बेड के सामने कभी कोई दर्पण न लगाएं, इससे दांपत्य जीवन में समस्याएं आ सकती है।

11. अगर बेडरूम में शीशा लगाना ही हो तो उसे हमेशा पूर्व या उत्तर दिशा की दीवार पर लगाना चाहिए। यदि किसी कारण से आपके कमरे की सेटिंग कुछ इस प्रकार से बनती हो, जिसमें ड्रेसिंग टेबल बेड के सामने पड़ता हो तो रात को सोने से पहले उस पर कोई चादर या पर्दा डाल दें।

12. यदि बेडरूम में किसी प्रकार के शो केस, कैबिनेट, कबर्ड आदि की आवश्यकता होती है तो स्टोरेज के लिए बनाई गई हर ऐसी चीज को कमरे की दक्षिण या पश्चिम दिशा की दीवार के साथ रखें।

13. युवा दंपती के कमरे की पूर्व या उत्तर दिशा में एक या इससे अधिक एवं बड़ी से बड़ी खिड़कियां होनी चाहिए। जिससे कि उन्हे पूर्वोत्तर की दिशाओं से भवन में प्रवेश करने वाली सकारात्मक ऊर्जा का लाभ मिल सके। इन खिड़कियों पर बहुत हलके रंग क्रीम, हलका पीला, हलका हरा या सफेद रंग के पर्दे प्रयोग करने चाहिए।

14. आजकल लगभग हर कमरे के साथ अटैच्ड टॉयलेट होता है। ऐसे में यह प्रयास करे कि टॉयलेट का दरवाजा हर समय बंद रहे व सीट या कमोड का ढक्कन हर समय ढंका रहे।

15. अपने बेड को कमरे में कुछ इस तरह व्यवस्थित करे कि जिससे सोते समय आपके पांवों के ठीक सामने या सिर के पीछे कोई दरवाजा न हो। पांवों के सामने या सिर के पीछे टॉयलेट का दरवाजा होने से दंपती के कमरे में नकारात्मक ऊर्जा तरंगों की वृद्धि होती है और इससे आत्मीयता में कमी आती है। साथ ही, संबंधों में कड़वाहट भी आ सकती है।

16. बेड की साइड टेबल पर यदि परस्पर प्रेम के प्रतीक फेंगशुई के लवबर्ड का जोड़ा या स्फटिक की बनी गोल आकृति एक जोड़े के रूप में रखी जाए तो पति-पत्नी में प्रेम का बंधन और भी अधिक मजबूत होगा। उनकी गृहस्थी सुख-समृद्धि, आपसी प्रेम व खुशहाली से परिपूर्ण रहेगी।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए क्लिक करें m.jagran.com परया

कमेंट करें

Web Title:Vastu Shastra Tips for Bedroom

(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

फिर से सराहा जा रहा है शास्त्रीय संगीतसैफ को साथ मिली बाइक और वाइफ

 

अपनी भाषा चुनें
English Hindi
Characters remaining


लॉग इन करें

यानिम्न जानकारी पूर्ण करें

Word Verification:* Type the characters you see in the picture below

 

    वीडियो

    स्थानीय

      यह भी देखें
      Close
      घर बनाएं वास्तु के अनुकूल
      समय के साथ चलें
      वास्तु का भी रखें खयाल