PreviousNext

हरियाणा में राष्ट्रपति चुनाव के लिए मतदान पूरा, सभी 90 विधायकों ने वोट डाले

Publish Date:Mon, 17 Jul 2017 09:16 AM (IST) | Updated Date:Mon, 17 Jul 2017 08:27 PM (IST)
हरियाणा में राष्ट्रपति चुनाव के लिए मतदान पूरा, सभी 90 विधायकों ने वोट डालेहरियाणा में राष्ट्रपति चुनाव के लिए मतदान पूरा, सभी 90 विधायकों ने वोट डाले
हरियाणा विधानसभा में राष्‍ट्रपति चुनाव के लिए मतदान का कार्य पूरा हो गया। राज्‍य के सभी 90 विधायकों ने मतदान किया। 57 विधायक पहली बार मतदान किया।

जेएनएन, चंडीगढ़। राष्‍ट्रप‍ति चुनाव के लिए हरियाणा विधानसभा परिसर में मतदान का कार्य पूरा हो गया है। मतदान विधानसभा परिसर में कड़ी सुरक्षा में हुआ। राज्‍य के सभी 90 विधायकों ने मतदान किया। मुख्‍यमंत्री मनोहरलाल सहित 57 विधायकों ने पहली बार राष्‍ट्रपति चुनाव में मतदान किया। दूसरी आेर, चुनाव में क्राॅस वो‍टिंग की संभावनाएं जताई गई हैं। पूर्व मुख्‍यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा और कांग्रेस विधायक दल की नेता किरण चौधरी ने भी मतदान किया। विधानसभा में नेता विपक्ष अभय चौटाला ने भी मतदान किया।

राष्ट्रपति चुनाव के लिए वोटिंग के बाद भाजपा विधायक।

मुख्यमंत्री और उनकी कैबिनेट के आठ मंत्रियों समेत 57 विधायकों ने पहली बार डाला वोट

मुख्यमंत्री मनोहर लाल के अलावा उनकी कैबिनेट के आठ मंत्रियों ने पहली बार वोट डाला है। राष्ट्रपति चुनाव के लिए मतदान शाम पांच बजे तक चला। 90 सदस्यीय विधानसभा के सभी विधायकों ने अपने मताधिकार को प्रयोग किया। भाजपा के डा. कमल गुप्ता ने सबसे पहले डाला वोट। दूसरे नंबर पर लतिका शर्मा ने मतदान किया। राज्‍य के मंत्री नायब सिंह सैनी भी पहले वोट डालने वालों में शामिल रहे। कांग्रेस की गीता भुक्‍कल ने सबसे अाखिर में मतदान किया।

हुड्डा और किरण सहित कांग्रेस विधायकों ने डाले वोट

मतदान करने के बाद पूर्व मुख्‍यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा और कुलदीप शर्मा।

 पूर्व मुख्‍यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा मतदान के लिए कई कांग्रेस विधायकों के साथ पहुंचे। हुड्डा ने मतदान किया और उनके बाद कई कांग्रेस विधायकों ने अपने वोट डाले। कांग्रेस विधायक दल की नेता किरण चौधरी पहले ही मतदान के लिए विधानसभा पहुंचीं और मतदान किया। वह हुड्डा समर्थक विधायकों से अलग पहुंचीं।

इनेलाे के विधायकों ने नेता विपक्ष अभय चौटाला की अगुवाई में मतदान करने पहुंचे। उनके साथ पार्टी विधायक और उनकी भाभी नैना चौटाला भी मतदान करने पहुंचीं। इनेलो के सभी विधायकों ने मतदान किया। इनेलो विधायकों के मतदान करने के लिए पहुंचने से पहले ही पार्टी के बागी विधायक नगेंद्र भड़ाना अकेले मतदान करने पहुंचे और वोट डालने के बाद चले गए।

राष्ट्रपति पद के एनडीए के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद के चुनाव एजेंट के रूप में हरियाणा के कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ विधानसभा में नियुक्त हैं। चुनाव से पहले हुड्डा और चौटाला के आवास पर विपक्षी दलों के विधायकों की अलग-अलग मीटिंग हुई।

राष्ट्रपति चुनाव के लिए मतदान करने के दौरान कांग्रेस विधायक किरण चौधरी।

मतदान के दौरान जबरदस्त सुरक्षा व्यवस्था रही। मतदान से पहले स्निफर डॉग्स से करवाई विधानसभा सदन की तलाशी। चुनाव पर इंक कंट्रोवर्सी का साया भी दिखा और विधायकों ने पूरी सावधानी बरती। विधानसभा पहुंचे कांग्रेस के पर्यवेक्षक चरणदास महंत को एंट्री नहीं मिल पाई और इस कारण वे पार्टी विधायकों से बातचीत नहीं कर पाए।

राज्य श्रम आयुक्त पंकज अग्रवाल को इस चुनाव के लिए सहायक रिटर्निंग अधिकारी बनाया गया है। अमूमन विधानसभा सचिव ही सहायक रिटर्निंग अधिकारी बनाए जाते हैं, लेकिन पिछले राज्यसभा चुनाव में स्याही बदलने व पेन के विवाद के चलते इस बार विधानसभा सचिव आरके नांदल को चुनाव की जिम्मेदारी से अलग रखा गया है।

राष्‍ट्रपति चुनाव में मतदान करने के बाद अभय चौटाला, नैना चौटाला व अन्‍य इनेलो विधायक।

राष्ट्रपति चुनाव के लिए किसी भी पार्टी द्वारा व्हिप जारी करने का प्रावधान नहीं होता और सभी विधायक अपनी मर्जी से वोट डालने के लिए आजाद होते हैं, इसलिए संभावना जताई जा रही है कि इस चुनाव में क्रास वोटिंग भी हुई है। हालांकि राजनीतिक दलों ने अप्रत्यक्ष रूप से अपनी पार्टी के विधायकों के लिए मतदान को लेकर दिशा निर्देश जारी कर रखे थे।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कोविंद के चंडीगढ़ आगमन के दौरान कम से कम 75 विधायकों के वोट डलवाने का भरोसा उन्हें दिलाया था। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष डा. अशोक तंवर ने अपनी पार्टी के 17 से अधिक वोट यूपीए उम्मीदवार मीरा कुमार को पडने की संभावना जताई।

यह भी पढ़ें: राष्ट्रपति चुनाव में नजर आएगा इंक कंट्रोवर्सी का खौफ, कड़ी सुरक्षा

भाजपा व कांग्रेस नेताओं के इन दावों के चलते एक दूसरे के वोट में सेंधमारी के भी कयास लगाए जा रहे हैं। विधानसभा में भाजपा के 47 विधायक हैं। पांच आजाद विधायकों और एक बसपा विधायक ने भी भाजपा को बिना शर्त समर्थन देने का एलान किया था। इनेलो के 19 और शिरोमणि अकाली दल (बादल) का एक और कांग्रेस के 17 विधायक हैं। पांच आजाद विधायकों में से चार का समर्थन कोविंद को दिए जाने की संभावना है, जबकि अनुमान है कि इनेलो के 19 और अकाली दल व बसपा का एक-एक वोट भी कोविंद को दिए गए हैं।

मतदान करने के बाद पत्रकारों से बात करते राज्‍यमंत्री नायब सिंह सैनी।


विधानसभा में दलवार विधायकों की स्थिति

भाजपा - 47
इनेलो - 19
कांग्रेस - 17
आजाद - 5
बसपा - 1
शिरोमणि अकाली दल - 1
सदस्यों की कुल संख्या- 90
एक विधायक के वोट की वैल्यू - 112
हरियाणा के विधायकों की वोट वैल्यू - 10080

हरियाणा की विशेष खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:Voting begins for presidential election among probability of cross voting(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

गुटों में बंटे कांग्रेसियों ने आकाओं के समक्ष लगाई हाजिरीश्रमिकों को बताए जाएंगे अधिकार
यह भी देखें