पशु-पक्षियों को नहीं मारना चाहिए: स्वामी

Publish Date:Sat, 18 May 2013 06:22 PM (IST) | Updated Date:Sun, 19 May 2013 12:27 AM (IST)

संस, पलवल : पशु-पक्षी कष्ट निवारण समिति के संयोजक स्वामी श्रद्धानंद सरस्वती ने कहा कि यजुर्वेद में कहा गया है कि पशु-पक्षियों को नहीं मारना चाहिए, उनकी रक्षा करनी चाहिए। पशु पशु हमारे मित्र हैं, हितकारक हैं। इस धरती पर सभी को जीने का समान अधिकार है। उन्होंने कहा कि सरकार और प्रशासन की उदासीनता के चलते आज प्रतिदिन असंख्य पशु-पक्षियों को मारा जा रहा है। कई पक्षियों की तो प्रजातियां ही खत्म कर दी गई हैं। उन्होंने कहा कि वे कई बार समिति के प्रतिनिधिमंडल के साथ उपायुक्त को भी ज्ञापन दे चुके हैं कि पलवल में अवैध रूप से चल रही मांस की दुकानों को शहर से बाहर करवाया जाए तथा इन पर अंकुश लगाया जाए। उन्होंने कहा कि अब इस मामले को लेकर आंदोलन ही बचा है। समिति द्वारा इस मामले को लेकर विशाल आंदोलन किया जाएगा। आगामी रणनीति तैयार की जाएगी तथा उसके बाद आंदोलन किया जाएगा।

बंद किए जाने वाले स्कूलों की सूची जारी करने की मांग

संस, पलवल : लीगल एड एडवोकेट सुभाष शर्मा ने उपायुक्त से मांग की है कि जिन स्कूलों को शिक्षा विभाग ने बंद करने वाली सूची में डाला है, जिले के उन स्कूलों की सूची नाम सहित जारी की जाए। उन्होंने कहा कि ऐसा करने से लोग उन स्कूलों के प्रति सावधान हो जाएंगे तथा अपने बच्चों को उनमें दाखिला नहीं दिलाएंगे। इससे बच्चों का भविष्य भी खराब नहीं होगा। उन्होंने कहा कि स्कूलों को बंद करने के लिए कई बार आदेश आए हैं, लेकिन स्कूलों के नामों को सार्वजनिक नहीं किया जाता है। उन्होंने मांग की है कि इस बारे में सख्त कदम उठाए जाएं तथा बंद किए जाने वाले स्कूलों के नामों की सूची जारी की जाए।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए क्लिक करें m.jagran.com परया

कमेंट करें

Web Title:

(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

 

अपनी भाषा चुनें
English Hindi
Characters remaining


लॉग इन करें

यानिम्न जानकारी पूर्ण करें

Name:
Email:

Word Verification:* Type the characters you see in the picture below

 

    वीडियो

    स्थानीय

      यह भी देखें
      Close
      नहीं मिली पशु-पक्षियों को छत
      नगर निगम नहीं ले रहा पशु-पक्षियों की सुध
      शिक्षा के अधिकार का सभी को पालन करना चाहिए