PreviousNext

UP governor: भाजपा ने पेश किया यूपी सरकार बनाने का दावा

Publish Date:Sat, 18 Mar 2017 09:31 PM (IST) | Updated Date:Sat, 18 Mar 2017 11:44 PM (IST)
UP governor: भाजपा ने पेश किया यूपी सरकार बनाने का दावाUP governor: भाजपा ने पेश किया यूपी सरकार बनाने का दावा
भाजपा प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य और भाजपा उपाध्यक्ष दिनेश शर्मा ने राज्यपाल रामनाईक से मुलाकात ककर सरकार बनाने का दावा पेश किया।

लखनऊ (जेएनएन)। योगी आदित्यनाथ को भाजपा विधायक दल का नेता चुने जाने के बाद शनिवार शाम उनकी अगुआई में भारतीय जनता पार्टी के प्रतिनिधिमंडल ने राजभवन में राज्यपाल राम नाईक के सामने प्रदेश में सरकार बनाने का दावा पेश किया। प्रतिनिधिमंडल ने राज्यपाल को पत्र सौंपकर बताया कि लोकभवन में आयोजित बैठक में योगी आदित्यनाथ को सर्वसम्मति से भाजपा विधायक दल का नेता चुना गया है। पत्र में योगी आदित्यनाथ को प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में और उनके मंत्रिमंडल के शपथग्रहण के लिए आवश्यक निर्देश जारी करने का अनुरोध किया गया। राज्यपाल ने अनुरोध को स्वीकार करते हुए प्रतिनिधिमंडल को बताया कि रविवार को  अपराह्न 2.15 बजे कांशीराम स्मृति उपवन में शपथग्रहण समारोह का आयोजन होगा।उल्लेखनीय है कि उत्तर प्रदेश की सत्ता में चौदह साल से वनवास झेल रही भारतीय जनता पार्टी ने इस बार प्रचंड जनादेश आने के बाद यूपी की कमान प्रखर हिंदूवादी नेता योगी आदित्यनाथ को सौंपी है। वह इस प्रदेश के 32 वें मुख्यमंत्री बनने जा रहे हैं।
राज्यपाल ने योगी से यह भी अनुरोध किया कि वह अपने प्रस्तावित मंत्रिमंडल में शामिल होने वाले मंत्रियों की सूची भी प्रस्तुत करें ताकि उन्हें सांविधानिक व्यवस्था के अनुसार शपथ दिलायी जा सके। प्रतिनिधिमंडल में भाजपा विधायक दल की बैठक के लिए पर्यवेक्षक नियुक्त किये गए केंद्रीय शहरी विकास व सूचना प्रसारण मंत्री वेंकैया नायडू व पार्टी के राष्ट्रीय महामंत्री भूपेंद्र यादव, केंद्रीय मंत्री कलराज मिश्र, प्रदेश प्रभारी ओम माथुर, प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य, महापौर डॉ. दिनेश शर्मा व विजय पाठक सहित अन्य लोग उपस्थित थे। इस अवसर पर राज्यपाल ने मनोनीत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और केशव प्रसाद मौर्य व डॉ. दिनेश शर्मा का अंग वस्त्र व श्रीफल देकर स्वागत किया और उन्हें बधाई दी।
 ...तो कराने होंगे पांच उपचुनाव
भाजपा के पक्ष में भले ही रिकार्ड बहुमत मिला परंतु मुख्यमंत्री व उप मुख्यमंत्री पद पर आसीन नेताओं को उपचुनाव की परीक्षा में उत्तीर्ण होना पड़ेगा। मुख्यमंत्री चुने गए योगी आदित्यनाथ और उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य व दिनेश शर्मा में से कोई विधायक नहीं है। आदित्यनाथ व केशव प्रसाद मौर्य लोकसभा में सदस्य है और डा.दिनेश शर्मा लखनऊ नगर निगम में महापौर। इन तीनों नेताओं को अपने पदों पर बने रहने के लिए विधानपरिषद अथवा विधानसभा में से किसी एक सदन का सदस्य छह माह के भीतर अनिवार्य रूप से बनना होगा। विधायक बनने के लिए उपचुनाव कराना होगा, वहीं सांसद योगी आदित्यनाथ और केशव प्रसाद मौर्य को लोकसभा की सदस्यता से त्यागपत्र देना होगा। ऐसे में दोनों के द्वारा रिक्त की गई संसदीय सीट इलाहाबाद और फूलपुर में भी उपचुनाव कराना होगा।

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:BJP claimes to create government(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

ब्राह्मण, क्षत्रिय और पिछड़ों के संतुलन वाला मंत्रिमंडल बनने के संकेतयोगी के सीएम बनने पर शाही इमाम और ओवैसी दें राय: आजम
यह भी देखें