PreviousNext

MCD चुनाव: खत्म हुआ प्रचार, मतदान को लेकर किए गए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

Publish Date:Fri, 21 Apr 2017 06:54 PM (IST) | Updated Date:Sat, 22 Apr 2017 09:25 AM (IST)
MCD चुनाव: खत्म हुआ प्रचार, मतदान को लेकर किए गए सुरक्षा के पुख्ता इंतजामMCD चुनाव: खत्म हुआ प्रचार, मतदान को लेकर किए गए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम
निगम चुनाव में तीनों ही प्रमुख दलों ने दिल्ली की सफाई को अपना मुद्दा बनाया है। मतदान शांतिपूर्ण संपन्न कराने के लिए चाक चौबंद व्यवस्था की है। सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं।

नई दिल्ली [जेएनएन]। भारतीय जनता पार्टी, कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के लिए प्रतिष्ठा का सवाल बने दिल्ली नगर निगम चुनाव के लिए प्रचार आज समाप्त हो गया। अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी (आप) पहली बार निगम चुनाव में ताल ठोंक रही है और उसके आने से मुकाबला त्रिकोणीय हो गया है।

भाजपा, कांग्रेस और 'आप' के अलावा योगेंद्र यादव की स्वराज इंडिया भी पूरे दमखम के साथ चुनाव मैदान में हैं। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकंपा), जनता दल (यू), समाजवादी पार्टी (सपा), बहुजन समाज पार्टी (बसपा), वामपंथी दलों के अलावा कुछ अन्य पार्टियों ने भी कई वार्डों में उम्मीदवार खड़े किए हैं।

यह भी पढ़ें: राजनाथ सिंह बोले- AAP सरकार ने दिल्ली में कीचड़ किया, अब खिलेगा कमल

तीनों ही प्रमुख दलों के लिए निगम चुनाव प्रतिष्ठा का सवाल है। दिल्ली विधानसभा चुनाव में प्रचंड बहुमत से जीतने वाली 'आप' पार्टी जहां पंजाब और गोवा विधानसभा चुनाव की हार से उबरने की कोशिश में हैं वहीं भाजपा उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में पार्टी को मिली ऐतिहासिक जीत के बाद तीसरी बार निगम पर काबिज होने का सपना देख रही है। 2015 में दिल्ली विधानसभा चुनाव में कांग्रेस का पूरी तरह सूपड़ा साफ हो गया था। अब पार्टी निगम चुनाव के जरिए अपनी खोई जमीन को हासिल करने की कोशिश में है।

हालांकि चुनाव से पहले कांग्रेस के दिग्गज नेता और पूर्व मंत्री अरविंदर सिंह लवली और दिल्ली युवा कांग्रेस के अध्यक्ष अमित मलिक के भाजपा में शामिल होने से कांग्रेस को करारा झटका लगा है। दिल्ली महिला कांग्रेस अध्यक्ष बरखा शुक्ला सिंह के आरोपों से भी पार्टी को नुकसान होने की आशंका है।

यह भी पढ़ें: MCD चुनाव: 'आप' विधायक राजेश ऋषि का दावा, तीनों निगमों में मिलेगी सत्ता

निगम चुनाव में तीनों ही प्रमुख दलों ने दिल्ली की सफाई को अपना मुद्दा बनाया है। भाजपा ने सत्ता में आने पर अगले पांच साल तक किसी प्रकार का नया कर नहीं लगाने और जरूरतमंदों को 10 रुपए में भोजन देने जैसे लोक-लुभावने वादे किए हैं।

कांग्रेस ने भी जीतने पर अगले पांच साल तक कोई न कर नहीं लगाने, भागीदारी योजना को फिर से लागू करने और वर्तमान संसाधन का बेहतर दोहन कर निगम को एक साल में वित्तीय रूप से आत्मनिर्भर बनाने के साथ ही भ्रष्टाचार को खत्म करने का भरोसा दिया है। पार्टी ने रेहड़ी-पटरी वालों के लिए लाइसेंस देने के साथ प्राथमिक शिक्षा और स्वास्थ्य सेवाएं बेहतर बनाने का वादा किया है। 

शांतिपूर्ण मतदान के लिए चाक चौबंद व्यवस्था

दिल्ली राज्य चुनाव आयोग ने 23 अप्रैल को मतदान शांतिपूर्ण संपन्न कराने के लिए चाक चौबंद व्यवस्था की है। सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। दिल्ली पुलिस के अलावा अर्धसैनिक बल भी तैनात रहेंगे। कुल 13 हजार 22 मतदान केन्द्रों पर वोट डाले जाएंगे। इस बार निगम चुनावों में कुल 2537 उम्मीदवार मैदान में हैं।

MCD चुनाव से जुड़ी खबरों को पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

एमसीडी चुनाव को लेकर दिल्ली पुलिस ने पुख्ता सुरक्षा इंतजाम किए हैं। दिल्ली पुलिस के स्पेशल सीपी दीपेंद्र पाठक ने कहा कि तमाम तरह के लीगल एक्शन लिए गए हैं। चेकिंग जारी है और दिल्ली पुलिस हर खतरे से निपटने के लिए तैयार है। पुलिस आतंकी खतरे से भी निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार है। EVM की सुरक्षा पर कहा पुलिस अधिकारी ने कहा कि सेफ पोलिंग होगी पूरी सुरक्षा रहेगी।

मुख्य बिंदु एक नजर में

कुल 13 हजार 22 बूथ है।

दिल्ली में 770 भवनों में  573  संवेदनशील बूथ हैं।

197 अति संवेदनशील बूथ हैं।

संख्या से हिसाब से संवेदनशील 3284 बूथ हैं।

अति संवेदनशील 1464 बूथ हैं।

97 हजार फोर्स लगाई गई है।

कुल 40 हजार पैरामिलिट्री फोर्स शामिल है।

20 हजार होम गार्ड की तैनाती रहेगी।

चुनाव को लेकर पूरी तैयारी की गई है

2 लाख शराब की बोतल बरामद हुई हैं।

276 मामले दर्ज हुए हैं।

254 लोग गिरफ्तार हुए हैं।

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:Campaign end for MCD Election High security arrangements for voting(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

MCD चुनाव: प्रचार खत्म, अब सोशल मीडिया पर शुरू हुई सियासी भिड़ंतMCD चुनाव: थम गया शोर, उम्मीदवारों ने झोंकी ताकत, अब जनता की बारी
यह भी देखें

जनमत

पूर्ण पोल देखें »