PreviousNext

बेलगाम अपराधी

Publish Date:Fri, 21 Apr 2017 03:34 AM (IST) | Updated Date:Fri, 21 Apr 2017 03:34 AM (IST)
बेलगाम अपराधीबेलगाम अपराधी
पुलिस ने प्रदेश से कुछ संदिग्ध आतंकियों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है, लेकिन शातिर अपराधियों पर शिकंजा कसना भी आवश्यक है।

 पंजाब में नई सरकार को काम संभाले एक माह से अधिक समय हो चुका है। इस दौरान सरकार ने कई उल्लेखनीय फैसले लिए हैं, जिनका स्वागत किया जाना चाहिए, लेकिन एक क्षेत्र अभी भी ऐसा है, जिसमें हालात कदाचित और बिगड़ गए हैं। यह क्षेत्र है कानून व्यवस्था का। ऐसा प्रतीत होता है कि अपराधी पहले से भी अधिक बेलगाम हो गए हैं। वीरवार को गुरदासपुर में यह देखने को भी मिला, जहां एक अपराधी गैंग के सदस्यों ने मिलकर एक अन्य गैंगस्टर व उसके साथी की सरेआम गोली मारकर हत्या कर दी। चिंता और हैरत की बात यह है कि इस हत्याकांड में हाल ही में नाभा जेल से फरार गैंगस्टर विक्की गौंडर भी शामिल था। यह निस्संदेह पंजाब पुलिस और खुफिया एजेंसियों के लिए चिंता का विषय है। यही नहीं इसके अतिरिक्त भी हाल ही में ऐसी कई घटनाएं सामने आई हैं, जिनके अपराधी अभी तक पकड़े नहीं जा सके हैं। बात चाहे वीरभद्र सिंह की पत्नी के भतीजे के हत्यारों की हो अथवा पिछले दिनों ही चंडीगढ़ में गुरुद्वारे के बाहर दिनदहाड़े होशियारपुर के पिंड खुर्दा के सरपंच की जान लेने वालों की, पुलिस के हाथ खाली ही हैं। सरपंच हत्याकांड इसलिए भी पुलिस को शर्मिदा करने वाला है, क्योंकि इस हत्याकांड की वीडियो वायरल हुई थी, जिसमें हत्यारों के चेहरे स्पष्ट थे। साथ ही यह बात भी सामने आई थी कि इन हत्यारों ने कुछ दिन पहले ही पंजाब में एक अन्य वारदात को अंजाम दिया था। यह पुलिस व खुफिया एजेंसियों के लिए इसलिए भी शर्मनाक है, क्योंकि अपराधी उनकी नाक के नीचे से वारदात को अंजाम देकर निकल जा रहे हैं। पुलिस उनकी तलाश में दर-दर भटकती है और अपराधी फिर बड़ी आसानी से किसी और वारदात को अंजाम दे रहे हैं। यह स्थिति समाज को भयभीत करने वाली है कि आखिर कानून के लंबे हाथ क्यों अपराधियों, खासकर गैंगस्टरों तक नहीं पहुंच पा रहे हैं। यह ठीक है कि पिछले कुछ दिनों में पुलिस ने प्रदेश से कुछ संदिग्ध आतंकियों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है, लेकिन शातिर अपराधियों, गैंगस्टरों पर शिकंजा कसना भी आवश्यक है। सत्ताधारी दल की साख के लिए भी यह बेहद जरूरी है कि वह अपराधियों पर लगाम के लिए ठोस रणनीति अपनाए, क्योंकि उसने प्रदेश की बदहाल कानून व्यवस्था को चुनावी मुद्दा बनाया था और इसे सुधारने का वादा भी किया था।

[ स्थानीय संपादकीय : पंजाब ]

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:Uncontroled criminal(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

लालबत्ती और बिहारसुरक्षा में कोताही
यह भी देखें