अपनी बात

  • एक नए समाज का निर्माण

    एक नए समाज का निर्माणUpdated on: Wed, 12 Apr 2017 12:47 AM (IST)

    मंडल आयोग की सिफारिशों के लागू होने के बाद समाज एक तरह से दो भागों में बंट गया। इस प्रकार इससे अमृत और विष दोनों निकले। और पढ़ें »

  • उत्तर बनाम दक्षिण भारतीय

    उत्तर बनाम दक्षिण भारतीयUpdated on: Wed, 12 Apr 2017 12:47 AM (IST)

    हाल में राज्यसभा के पूर्व सांसद तरुण विजय की ओर से अलजजीरा चैनल में की गई टिप्पणी पर तिल का ताड़ बना दिया गया। और पढ़ें »

  • तनाव मुक्ति

    तनाव मुक्तिUpdated on: Wed, 12 Apr 2017 12:47 AM (IST)

    मनुष्य का जीवन उतार-चढ़ाव से भरा है। इसलिए उसके जीवन में तनाव व अवसाद सामान्य-सी बात है, लेकिन हमें हरदम इनसे मुक्ति का प्रयास करना चाहिए। और पढ़ें »

  • समस्या का सही समाधान नहीं कर्ज माफी

    समस्या का सही समाधान नहीं कर्ज माफीUpdated on: Tue, 11 Apr 2017 01:18 AM (IST)

    मौजूदा व्यवस्था में किसान कर्ज लेते रहेंगे और सरकारें उसे माफ करती रहेंगी। कर्ज माफी किसान की समस्या का निदान नहीं है। और पढ़ें »

  • संवादहीनता से जूझती कांग्रेस

    संवादहीनता से जूझती कांग्रेसUpdated on: Tue, 11 Apr 2017 12:18 AM (IST)

    उत्तर प्रदेश के चुनाव परिणामों के बाद कांग्रेस जिस मोड़ पर खड़ी है वह मामूली राजनीतिक परिस्थिति नहीं। और पढ़ें »

  • परमात्मा की शक्ति

    परमात्मा की शक्तिUpdated on: Tue, 11 Apr 2017 12:18 AM (IST)

    जब मनुष्य की सभी उम्मीदें खत्म हो जाती हैं और वह स्वयं को लाचार महसूस करता है तब उसे परमात्मा की शक्ति पर भरोसा करना चाहिए। और पढ़ें »

  • समस्या का सही समाधान नहीं कर्ज माफी

    समस्या का सही समाधान नहीं कर्ज माफीUpdated on: Mon, 10 Apr 2017 11:56 PM (IST)

    कर्ज माफी किसान की समस्या का निदान नहीं है। आय बढ़ने के बावजूद किसान कर्ज के बोझ तले दबते जा रहे हैं।  और पढ़ें »

  • बेड़ियां तोड़तीं मुस्लिम औरतें

    बेड़ियां तोड़तीं मुस्लिम औरतेंUpdated on: Mon, 10 Apr 2017 12:57 AM (IST)

    मुस्लिम औरतों ने अपने हक में अपनी आवाज बुलंद करनी शुरू कर दी है। यह एक खुशनुमा सवेरे की दस्तक है।  और पढ़ें »

  • ईवीएम पर उतरती हार की खीझ

    ईवीएम पर उतरती हार की खीझUpdated on: Mon, 10 Apr 2017 12:57 AM (IST)

    राजनीतिक पार्टियों के भ्रष्टाचार, गुंडाराज, भाई-भतीजावाद और जाति-मजहब की राजनीति से परेशान अवाम ने चुनावों में उनको माकूल जवाब दिया। और पढ़ें »

  • जनहित

    जनहितUpdated on: Mon, 10 Apr 2017 12:57 AM (IST)

    मनुष्य को कभी भी यह नहीं भूलना चाहिए कि उसका अस्तित्व समाज से है, समाज का उससे नहीं। और पढ़ें »

  • विदेश नीति का मजबूत होता मोर्चा

    विदेश नीति का मजबूत होता मोर्चाUpdated on: Sun, 09 Apr 2017 12:56 AM (IST)

    सीरिया के ताजा हालात दुनिया को और अधिक चिंता में डालने वाले हैं। सीरिया पर अमेरिका एवं रूस के बीच तनातनी बढ़ने के आसार हैं। और पढ़ें »

  • गांधी को दोहराने की दरकार

    गांधी को दोहराने की दरकारUpdated on: Sun, 09 Apr 2017 12:56 AM (IST)

    मैंने कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि हजारों किसानों की कड़ी मेहनत के बाद नील तैयार होता है। गांधी का चंपारण दौरा ऐतिहासिक साबित हुआ। और पढ़ें »

  • निराशा से बचें

    निराशा से बचेंUpdated on: Sun, 09 Apr 2017 12:55 AM (IST)

    स्वप्न देखना मनुष्य की जन्मजात प्रकृति है। मान-सम्मान पाने की अत्यधिक लालसा हमें कुंठित जीवन जीने के लिए विवश कर देती हैं। और पढ़ें »

  • हिन्दी की बढ़ती स्वीकार्यता

    हिन्दी की बढ़ती स्वीकार्यताUpdated on: Sat, 08 Apr 2017 04:51 AM (IST)

    गैर हिंदी भाषियों की यह गलतफहमी दूर होती दिख रही है कि हिंदी उन पर जबरन थोपी जा रही है और पढ़ें »

  • चीन की अनावश्यक उग्रता

    चीन की अनावश्यक उग्रताUpdated on: Sat, 08 Apr 2017 04:26 AM (IST)

    दलाई लामा के अरुणाचल दौरे पर आंखें तरेरने वाले चीन को समझना चाहिए कि यह दौरा उसे चिढ़ाने के लिए नहीं है और पढ़ें »

यह भी देखें

    जागरण RSS

    अपनी बातRssgoogle plusyahoo ad
    नजरियाRssgoogle plusyahoo ad

    और देखें