PreviousNext

यूपी के एटा में ब्लॉक प्रमुख के बेटे को मारी गोली, गंभीर हालत में दिल्ली रेफर

Publish Date:Thu, 16 Mar 2017 01:47 PM (IST) | Updated Date:Fri, 17 Mar 2017 07:10 AM (IST)
यूपी के एटा में ब्लॉक प्रमुख के बेटे को मारी गोली, गंभीर हालत में दिल्ली रेफरयूपी के एटा में ब्लॉक प्रमुख के बेटे को मारी गोली, गंभीर हालत में दिल्ली रेफर
उत्तर प्रदेश में गुंडाराज के नाम से जाने जाने वाली समाजवादी सरकार सत्ता से जा चुकी है, लेकिन अपराधों पर लगाम लगती नहीं दिख रही है।

नई दिल्ली (जेएनएन)। उत्तर प्रदेश में गुंडाराज के नाम से जाने जाने वाली समाजवादी सरकार सत्ता से जा चुकी है, लेकिन अपराधों पर लगाम लगती नहीं दिख रही है। एटा से बड़ी वारदात की खबर आ रही है। यहां पर अलीगंज के ब्लॉक प्रमुख ओमपाल यादव के भांजे गौरव (25) को नंगला पड़ाव पर अज्ञात हमलावरों ने गोली मार दी। गौरव को गंभीर हालत में दिल्ली के अस्पताल के लिए रेफर कर दिया गया है। घायल गौरव दिल्ली के सुल्तानपुरी का रहने वाला है। बुधवार रात्रि वह अपने मामा के यहां अलीगंज आया था। यहां नंगला पड़ाव पर अज्ञात हमलावरों ने उसे गोली मार दी। 

वहीं, एक अन्य घटना में उन्नाव में एक दरिंदे ने दरिंदगी की ऐसी दास्तां लिखी की इंसानियत की भी रूह कांप उठे। जहां पर दुष्कर्म के एक मामले में मुकदमा वापस ना लेने पर एक दरिंदे ने हैवानियत की सारी हदें पार करते हुए दुष्कर्म पीड़ित युवती की दोनों आंखें फोड़ डाली, जिसके बाद युवती को गंभीर हालत में जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 

युवती 15 मई 2015 को मवेशी चराने खेत गई थी। आरोप है कि पड़ोसी गांव जोधाखेड़ा निवासी मुन्ना और मतई ने उससे सामूहिक दुष्कर्म किया। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर दोनों को जेल भेज दिया। 10 जुलाई 2015 से दोनों अभी जेल में ही हैं। तब से आरोपी मुन्ना का भाई पुत्तन युवती और उसके परिवार पर सुलह का लगातार दबाव बना रहा था।

पीडि़त पक्ष ने दबाव को दरकिनार रख पैरवी जारी रखी। इसी की खुन्नस में पुत्तन ने आज उस समय वारदात को अंजाम दिया जब वह दोपहर में दैनिक क्रिया को घर से 100 मीटर दूर बाग गई थी। काफी देर तक घर नहीं पहुंचने पर तलाश शुरू हुई तो छोटी बहन को वह मरणासन्न हाल में पड़ी मिली। पिता उसे सीएचसी मियागंज लेकर गए। जहां से नाजुक हालत में उसे जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया। युवती के पिता ने आरोप लगाया कि सुलह नहीं करने पर ऐसी घिनौनी हरकत की गई है।

सीओ अशोक सिंह ने पुलिस टीम के साथ घटनास्थल की जांच की। ग्रामीणों और परिवारीजन के बयान दर्ज करने के बाद पुलिस ने आरोपी की तलाश शुरू कर दी है। इसी सामूहिक दुष्कर्म से गर्भवती हुई पीडि़ता ने जिला अस्पताल में बच्ची को जन्म दिया था। हालांकि जन्म के 35 दिन बाद ही बच्ची की मौत हो गई थी। 

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:ncr mischievous blind eyes of girl in makhi police station in unnao(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

दिल्ली नगर निगम चुनाव में JDU ने ठोंकी ताल, 27 उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारीउबर कैब ड्राइवर ने दिल्ली की युवती से की छेड़छाड़, पीड़िता ने FB पर लिखा दर्द
यह भी देखें