जितेंद्र तोमर मामले में निगम चुनाव बाद बड़ी कार्रवाई

Publish Date:Tue, 21 Mar 2017 01:00 AM (IST) | Updated Date:Tue, 21 Mar 2017 01:00 AM (IST)
जितेंद्र तोमर मामले में निगम चुनाव बाद बड़ी कार्रवाईजितेंद्र तोमर मामले में निगम चुनाव बाद बड़ी कार्रवाई
आशुतोष झा, नई दिल्ली दिल्ली सरकार के पूर्व कानून मंत्री जितेंद्र सिंह तोमर की एलएलबी डिग्री तिलका

आशुतोष झा, नई दिल्ली

दिल्ली सरकार के पूर्व कानून मंत्री जितेंद्र सिंह तोमर की एलएलबी डिग्री तिलका मांझी भागलपुर विश्वविद्यालय ने रद कर दी है। सीनेट की सोमवार को हुई बैठक में इस पर मुहर लगने के बाद अब विश्वविद्यालय द्वारा सिर्फ अधिसूचना जारी करने का औपचारिकता बाकी रह गई है। इसकी सूचना मात्र से शुरू से ही तोमर के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग ने भी जोर पकड़ लिया है।

जितेंद्र सिंह तोमर के मंत्री बनने के कुछ महीने बाद ही इनके पास फर्जी डिग्री का मामला उठा था। प्रारंभिक जांच में शिकायत सही पाई गई तो तोमर को मंत्री पद से हटा दिया गया। जबकि कांग्रेस व विपक्ष में बैठी भाजपा आपराधिक मामला चलाने की बात पर अड़ गए थे। अब चूंकि विश्वविद्यालय ने तोमर की डिग्री को रद कर दिया है। जिसके बाद आपराधिक मामला तक दर्ज होने की संभावना बढ़ गई है, कांग्रेस व भाजपा नेता निगम चुनाव में इस मुद्दे को भी उछालने की तैयारी में हैं। हालांकि सूत्रों की मानें तो सरकार इस मामले को लेकर अभी कोई बड़ा फैसला लेने के मूड में नहीं है। निगम चुनाव बाद इस पर कोई कार्रवाई की जाएगी। इसके अलावा आम आदमी पार्टी के विधायकों में भी जितेंद्र सिंह तोमर को लेकर एक राय नहीं है। विधायकों के एक गुट का मानना है कि जितेंद्र सिंह तोमर की डिग्री का मामला अदालत में चल रहा है। जबकि विधायकों का दूसरा खेमा जिन्हें अभी सरकार में अन्य-अन्य पदों की जिम्मेदारी मिली है वह जितेंद्र सिंह तोमर के मामले में चुप्पी साधे हुए हैं। चर्चा इस बात की भी हो रही है कि जितेंद्र सिंह तोमर की डिग्री के मामले में अगर अभी केजरीवाल तुरंत कोई कार्रवाई करते हैं तो कांग्रेस व भाजपा के नेता जिस तरह विरोध कर रहे हैं वह निगम चुनाव में इसका श्रेय लेने की कोशिश करेंगे।

बाक्स-

दिल्ली सरकार के पूर्व मंत्री जितेंद्र सिंह तोमर की कानून की डिग्री रद होने के बाद अब जरूरी है कि उनके विरूद्ध कानूनी कार्रवाई हो और फर्जी डिग्री की झूठी जानकारी देकर चुनाव लड़ने के कारण जितेंद्र तोमर की विधानसभा सदस्यता भी रद की जाए। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने चुनाव पूर्व दिल्ली की जनता से वायदा किया था कि मैं किसी भी कलंकित व्यक्ति को विधानसभा में नहीं बैठने दूंगा। अत: उन पर सख्त कानूनी कार्रवाई की अरविंद केजरीवाल को पहल करनी चाहिए।

- मनोज तिवारी, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
    Web Title:(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

    कमेंट करें

    यह भी देखें