PreviousNextPreviousNext

लोनिवि ने जनता की अदालत में जाने का किया फैसला

Publish Date:Tuesday,Jan 14,2014 09:43:30 PM | Updated Date:Wednesday,Jan 15,2014 02:10:19 AM
लोनिवि ने जनता की अदालत में जाने का किया फैसला

जागरण संवाददाता, नई दिल्ली :

दक्षिण दिल्ली में अंधेरिया मोड़ से महिपालपुर तक मार्ग को चौड़ा करने के एक साल से बंद पड़े कार्य को दुबारा शुरू किए जाने को लेकर लोक निर्माण विभाग (पीडब्ल्यूडी) ने जनता की अदालत में जाने का फैसला किया। इस बारे में वसंत कुंज इलाके की जनता से रायशुमारी कराई जाएगी। यदि लोग इस बारे में फैसला देंगे कि सड़क निर्माण का कार्य शुरू किया जाए, तो उनकी आवाज को नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) तक पहुंचाया जाएगा।

इस बारे में लोक निर्माण मंत्री मनीष सिसोदिया ने विभाग से कहा कि रोड की उपयोगिता को देखते हुए मामले को जनता के बीच ले जाना चाहिए, ताकि जनता की बात को भी एनजीटी के सामने प्रस्तुत किया जा सके।

बता दें कि इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा (आइजीआइ) की ओर जाने वाले रोड को अंधेरिया मोड़ से महिपालपुर तक चौड़ा किए जाने का कार्य डेढ़ साल पहले शुरू किया गया था। लेकिन एक साल पहले योजना के बीच आ रहे हरे पेड़ कटने की शिकायत मिलने पर वन विभाग ने काम रुकवा दिया था। बाद में मार्च, 2013 में यूटीपैक से मंजूरी मिलने के बाद लोक निर्माण विभाग ने काम शुरू कराया था।

लेकिन गत अपै्रल में पर्यावरण के लिए काम कर रही संस्था द्वारा मामला एनजीटी में ले जाने से काम को फिर से रोक दिया गया था। उसी समय से काम बिल्कुल ठप है। ज्ञात हो कि यह रोड वर्तमान में 38 मीटर के करीब चौड़ा है, जिसे बढ़ाकर 75 मीटर चौड़ा किया जाना है।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए क्लिक करें m.jagran.com परया

कमेंट करें

Web Title:

(Hindi news from Dainik Jagran, newsstate Desk)

नवीन शाहदरा में रिलायंस फ्रेश स्टोर में डकैतीसामुदायिक रेडियो की भूमिका अहम : मनीष

प्रतिक्रिया दें

English Hindi
Characters remaining


लॉग इन करें

यानिम्न जानकारी पूर्ण करें



Word Verification:* Type the characters you see in the picture below

    यह भी देखें

    स्थानीय

      यह भी देखें
      Close
      अदालत आज सुनाएगी फैसला
      जनता का फैसला स्वीकार
      मिर्चपुर मामले में अदालत का फैसला टला