PreviousNext

श्रीलंका से हार और पाक की जीत से कठिन हुई टीम इंडिया की डगर, जानिए कैसे

Publish Date:Fri, 09 Jun 2017 10:58 AM (IST) | Updated Date:Fri, 09 Jun 2017 05:58 PM (IST)
श्रीलंका से हार और पाक की जीत से कठिन हुई टीम इंडिया की डगर, जानिए कैसेश्रीलंका से हार और पाक की जीत से कठिन हुई टीम इंडिया की डगर, जानिए कैसे
टीम इंडिया के लिए सेमीफाइनल में पहुंचने की जंग मुश्किल हो गई है...

लंदन, अभिषेक त्रिपाठी। घने बादलों और ठंडी हवाओं के बीच भारतीय बल्लेबाजों ने चैंपियंस ट्रॉफी में गुरुवार को पाकिस्तान के बाद दूसरे पड़ोसी देश श्रीलंका के गेंदबाजों की जमकर धुनाई करते हुए 50 ओवर में छह विकेट पर 321 रनों का स्कोर खड़ा किया, लेकिन दक्षिण अफ्रीका से आसानी से हारने वाला श्रीलंका यहां कुछ और ही कर गुजरने आया था। अपने नियमित कप्तान एंजेलो मैथ्यूज की वापसी से उत्साहित श्रीलंका ने दनुष्का गुणातिलका (76) और कुशल मेंडिस (89) के बीच हुई दूसरे विकेट के लिए 159 रनों की साझेदारी की बदौलत पाकिस्तान को हराकर शेर बन रही टीम इंडिया को सात विकेट से पराजित कर दिया। 

इससे शिखर धवन की 125 रनों की पारी बेकार हो गई। यह लक्ष्य का पीछा करते हुए इस स्टेडियम की सबसे बड़ी जीत है। इससे पहले यह रिकॉर्ड 2007 में भारत के नाम था जिसने इंग्लैंड के खिलाफ 317 रनों का लक्ष्य हासिल किया था। श्रीलंका ने 48.4 ओवर में तीन विकेट के नुकसान पर ही 322 रन बना लिए। यह वनडे में श्रीलंका की लक्ष्य का पीछा करते हुए संयुक्त सबसे बड़ी जीत है। वह दो बार 322 रन का लक्ष्य हासिल कर चुका है।

ग्रुप 'बी' का यह है हाल

अब ग्रुप 'बी' की चारों टीमों भारत, श्रीलंका, पाकिस्तान और दक्षिण अफ्रीका के दो-दो मैचों के खेलने के बाद दो-दो अंक हैं। भारत को 11 जून को दक्षिण अफ्रीका से, जबकि श्रीलंका को 12 जून को पाकिस्तान से भिड़ना है। अब यह दोनों ही मुकाबले क्वार्टर फाइनल में तब्दील हो गए हैं। इसमें जो टीम जीतेगी वह इस ग्रुप से सेमीफाइनल में जगह बनाएगी, जबकि ग्रुप 'ए' से मेजबान इंग्लैंड सेमीफाइनल में पहुंच चुकी है। ऑस्ट्रेलिया, बांग्लादेश और न्यूजीलैंड में से एक टीम ग्रुप 'ए' की दूसरी सेमीफाइनलिस्ट होगी।

जब अनाड़ी बने बेहतर खिलाड़ी

शिखर धवन के शतक की बदौलत पाटा पिच पर 321 रन बनाने वाली भारतीय टीम ने श्रीलंका को हल्के में ले लिया। चमारा कापूगेदरा की जगह टीम में आए गुणातिलका और लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहे मेंडिस ने 11 रन पर ही अपना पहला विकेट गिरने के बावजूद शानदार बल्लेबाजी जारी रखी। दोनों ने टीम का स्कोर 28वें ओवर में ही 171 रन पर पहुंचा दिया। इन दोनों ने अपने देश के लिए चैंपियंस ट्रॉफी में तीसरी बड़ी साझेदारी की। दोनों ने 18 चौके व तीन छक्के बनाए। इस साझेदारी से भारतीय टीम बैकफुट पर आ गई। गुणातिलका इससे पहले रिजर्व खिलाड़ी थे, लेकिन कापूगेदरा के आउट होने के कारण उन्हें सीधे अंतिम एकादश में जगह मिली और उन्होंने अपना चौथा अर्धशतक ठोक दिया। वहीं, पिछले साल जून में वनडे करियर शुरू करने वाले मेंडिस ने अपने 27 वनडे में 11वां अर्धशतक ठोका। 

भारत को भारी पड़े दो कैच

श्रीलंकाई पारी के 15वें ओवर ने हार्दिक पांड्या ने अपनी ही गेंद पर मेंडिस का कैच छोड़ा। इस समय मेंडिस 24 रन पर थे। इसके बाद मेंडिस बेहद खतरनाक साबित हुए। गुणातिलका ने 19वें ओवर में पांड्या पर मिडविकेट पर, जबकि मेंडिस ने 24वें ओवर में जडेजा पर छक्का लगाकर अपना अर्धशतक पूरा किया। गुणातिलका को यादव के थ्रो पर धौनी ने रनआउट किया। इसके बाद जाधव ने 31वें ओवर में परेरा का कैच छोड़ा। परेरा इस समय पांच रन पर थे। भुवनेश्वर कुमार ने मेंडिस को 33वें ओवर में 196 के कुल योग पर रन आउट किया, लेकिन तब तक भारत का खेल बिगड़ चुका था। हैमस्ट्रिंग के कारण कुशल 47 के निजी स्कोर पर रिटायर्ड हर्ट हो गए। मैथ्यूज (नाबाद 52) और कुशल के बीच 75 रन की साझेदारी हुई। दूसरे छोर पर डटे श्रीलंकाई कप्तान ने मैच खत्म करके ही दम लिया। वहीं, गुणारत्ने ने भी आसानी से 21 गेंदों पर दो चौकों व दो छक्कों के साथ नाबाद 34 रनों की पारी खेली। भुवनेश्वर के अलावा कोई भी भारतीय गेंदबाज आज प्रभावित नहीं कर सका।

शिखर का उम्दा रिकॉर्ड जारी

पाकिस्तान के खिलाफ बर्मिघम में शानदार प्रदर्शन करने वाले भारतीय ओपनरों ने इस मैच में भी अच्छी साझेदारी की, लेकिन कुल रन ओवल की पाटा पिच के हिसाब से कम बने, क्योंकि बीच के कुछ ओवरों में भारतीय टीम ने धीमी गति से रन बनाए। इस दौरान शिखर ने करियर का दसवां, जबकि आइसीसी टूर्नामेंट का पांचवां शतक ठोंका। 2013 में चैंपियंस ट्रॉफी में ही अपने वनडे करियर का पहला शतक लगाने वाले शिखर ने ओवल में इसी टूर्नामेंट में श्रीलंका के खिलाफ तीसरा शतक लगाया। वह आइसीसी विश्व कप में भी दो शतक ठोक चुके हैं। शिखर ने छह जून, 2013 को कार्डिफ में चैंपियंस ट्रॉफी में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ अपने करियर का पहला शतक जमाया था। इसी के पांच दिन बाद उन्होंने इसी टूर्नामेंट में वेस्टइंडीज के खिलाफ सैकड़ा जमाया था। 2015 में ऑस्ट्रेलिया-न्यूजीलैंड में विश्व कप में उन्होंने मेलबर्न में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 137 व हैमिल्टन में आयरलैंड के खिलाफ 100 रनों की पारी खेली थी।

ओपनरों की पुरानी रणनीति

टीम इंडिया के ओपनरों रोहित (78) और धवन (125) ने पाकिस्तान के खिलाफ जो रणनीति अपनाई थी उसे ही श्रीलंका के खिलाफ भी जारी रखा। दोनों ने शुरुआत में लसिथ मलिंगा और लकमल को आराम से खेला। दोनों ने 19 ओवर तक लगभग पांच के औसत से बिना विकेट खोए 94 रन बना लिए तो इसके बाद रोहित ने हाथ खोले। उन्होंने डीप स्कवॉयर लेग छक्का लगाकर अपना अर्धशतक पूरा किया तो इसके बाद स्क्वॉयर लेग जबरदस्त छक्का लगाया। यह उनके करियर का 31वां और श्रीलंका के खिलाफ चौथा अर्धशतक है। शर्मा ने 25वें ओवर में पुल के जरिये लांग लेग पर छक्का जड़ा। हालांकि इसकी अगली ही गेंद पर वह कैच आउट हो गए। धवन और रोहित के बीच यह लगातार तीसरी शतकीय साझेदारी रही। वह ऐसा करने वाली पहली भारतीय जोड़ी है। इधर भारतीय प्रशंसक कप्तान विराट कोहली (00) के मैदान में आने का जश्न मना भी नहीं पाए थे कि प्रदीप ने उन्हें अतिरिक्त बाउंस से चकमा देते हुए विकेटकीपर डिकवेला के हाथों कैच आउट कराया।

शिखर का धमाल जारी, धौनी ने दिखाया दम

एक रन के भीतर दो विकेट गिरने के बावजूद शिखर ने अगले तीन ओवरों में पांच चौके लगाए। युवराज को 18 गेंदों में उन्हें तो कई समझ में नहीं आईं और वह सात रन बनाकर पवेलियन पहुंच गए। पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धौनी (63) ने साबित किया कि उनमें अभी बहुत दम है। उन्होंने थर्ड मैन पर कट के जरिये छक्का लगाकर अपना खाता खोला। 40वें ओवर में धवन ने चौके से अपना शतक पूरा किया। 42वें ओवर में धवन ने प्रदीप पर दो चौके और एक छक्का जड़ा। वह 45वें ओवर में मलिंगा का शिकार बने। उन्होंने धौनी के साथ चौथे विकेट के लिए 10.4 ओवर में 82 रन जोड़े। पिछले मैच में छह गेंदों पर 20 रन बनाने वाले हार्दिक पांड्या (09) भी एक छक्का मारकर चलते बने। वहीं, केदार जाधव ने आखिरी ओवर में 15 रन बटोरते हुए 13 गेंदों में 25 रनों की नाबाद पारी खेली।क्रिकेट की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें

खेल जगत की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:After losing to Sri Lanka now Team India will have to win vs South Africa in ICC Champions Trophy(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

भारतीय वनडे क्रिकेट इतिहास में पहली बार ऐसा किया रोहित व धवन की जोड़ी नेकोहली-सहवाग-कुंबले में 'तनातनी' से टीम इंडिया का कोच चुनने में आया नया मोड़
यह भी देखें