PreviousNext

निवेश के साथ टैक्स सेविंग का फायदा देती हैं पोस्ट ऑफिस की ये दो स्कीम

Publish Date:Tue, 18 Apr 2017 05:05 PM (IST) | Updated Date:Tue, 18 Apr 2017 05:05 PM (IST)
निवेश के साथ टैक्स सेविंग का फायदा देती हैं पोस्ट ऑफिस की ये दो स्कीमनिवेश के साथ टैक्स सेविंग का फायदा देती हैं पोस्ट ऑफिस की ये दो स्कीम
वित्त वर्ष शुरू हो चुका है, ऐसे में अगर आप टैक्स बचत के साथ बेहतर निवेश विकल्प की तलाश में हैं तो पोस्ट ऑफिस की ये दो स्कीम आपके लिए बेहतर है

नई दिल्ली (जेएनएन)। नए वित्त वर्ष की शुरुआत के साथ ही हर किसी को बेहतर निवेश के साथ साथ टैक्स बचत की चिंता सताने लगती है। आमतौर पर लोग बचत के लिए सेविंग बैंक अकाउंट का आसान रास्ता चुनते हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि इसमें न सिर्फ आप जब चाहें पैसा निकाल भी सकते हैं बल्कि इसमें आपको 4 फीसदी की दर से ब्याज भी मिल जाता है। लेकिन पोस्ट ऑफिस दो ऐसी स्कीम लोगों को उपलब्ध करवाता है जो इसके मुकाबले काफी बेहतर है। जानिए इनके बारे में....

पोस्ट ऑफिस मंथली इनकम स्कीम अकाउंट (MIS):
पोस्ट ऑफिस की मंथली इनकम स्कीम में अकाउंट खुलवाना आसान होता है लेकिन इसकी भी कुछ न्यूनतम शर्ते होंती हैं, जैसे कि....मिनिमम कितनी राशि पर खुलता है खाता, इत्यादि।

• आप 1500 रुपए के गुणांक में एमआईएस में खाता खुलवा सकते हैं।
• सिंगल अकाउंट होल्डर के लिए निवेश की अधिकतम सीमा 4.5 लाख और ज्वाइंट अकाउंट के लिए यह सीमा 9 लाख रुपए है।
• अकेला व्यक्ति इसमें खाता खुलवा सकता है।
• यह खाता चैक और कैश के माध्यम से खुलवाया जा सकता है।
• खाता खुलवाने के दौरान और खाता खुलवाने के बाद भी नामिनेशन की सुविधा मिलती है।
• खाते में जमा राशि एक पोस्ट ऑफिस से दूसरे पोस्ट ऑफिस में ट्रांसफर की जा सकती है।
• संयुक्त खाता (ज्वाइंट अकाउंट) सिर्फ दो या तीन बालिग लोग ही खुलवा सकते हैं।
• सिंगल अकाउंट को ज्वाइंट अकाउंट और ज्वाइंट अकाउंट को सिंगल अकाउंट में बदला जा सकता है।
• मैच्योरिटी पीरियड 5 साल का होता है।

कितना ब्याज मिलता है:
पोस्ट ऑफिस की इस स्कीम में निवेश करने से आपको 7.70 फीसद का सालाना ब्याज मिलता है। इस लिहाज से देखा जाए तो यह सेविंग अकाउंट से बेहतर निवेश विकल्प है।

पोस्ट ऑफिस टाइम डिपाजिट अकाउंट (TD):
पोस्ट ऑफिस टाइम डिपाजिट अकाउंट भी एक बेहतर निवेश विकल्प माना जाता है। कुछ न्यूनतम शर्ते होंती हैं...जैसे

• यह न्यूनतम 200 रुपए या इसके गुणांक में खुलवाया जा सकता है।
• इसमें अकाउंट अकेला व्यक्ति भी खुलवा सकता है।
• अकाउंट चैक या कैश के माध्यम से खुलवाया जा सकता है।
• खाता खुलवाने के दौरान और बाद में नामिनेशन की सुविधा मिलती है।
• इस खाते में जमा रकम को एक पोस्ट ऑफिस से दूसरे पोस्ट ऑफिस में ट्रांसफर किया जा सकता है।
• एक पोस्ट ऑफिस में कई सारे अकाउंट खुलवाए जा सकते हैं।
• संयुक्त खाता (ज्वाइंट अकाउंट) के लिए कम से कम दो वयस्क लोग होने चाहिए।
• सिंगल अकाउंट ज्वाइंट अकाउंट में और ज्वाइंट अकाउंट सिंगल अकाउंट में बदलवाया जा सकता है।
• अगर कोई नाबालिग इसमें अपना खाता खुलवाता है तो वो बालिग होने पर इसे अपने नाम दर्ज करा सकता है।
• इसमें भी आप एक साल से लेकर 5 साल तक निवेश कर सकते हैं। 5 साल तक के लिए किया गया निवेश आयकर की धारा 80सी के तहत कर छूट प्राप्त करने योग्य होता है।

कितना ब्याज मिलता है:
इस स्कीम में निवेश की अवधि के हिसाब से ब्याज दिया जाता है। मसलन एक साल की अवधि के लिए 7 फीसद, 2 साल के लिए 7.1 फीसद, 3 साल के लिए 7.3 फीसद और 5 साल के लिए 7.8 फीसद ब्याज मिलता है।

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:These post office schemes help to save tax also(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

इनकम टैक्स डिक्लेरेशन के दौरान आपको रखना होगा इन 10 बातों का विशेष ख्यालडाकघर की ये 5 स्कीम देती हैं सेविंग अकाउंट से भी ज्यादा ब्याज
यह भी देखें

जनमत

पूर्ण पोल देखें »