PreviousNext

जॉब खोने के डर से खरीद रहे हैं बीमा पॉलिसी तो पहले जान लें ये जरूरी बातें

Publish Date:Fri, 09 Jun 2017 12:26 PM (IST) | Updated Date:Fri, 09 Jun 2017 04:59 PM (IST)
जॉब खोने के डर से खरीद रहे हैं बीमा पॉलिसी तो पहले जान लें ये जरूरी बातेंजॉब खोने के डर से खरीद रहे हैं बीमा पॉलिसी तो पहले जान लें ये जरूरी बातें
जॉब के लिहाज से बीमा पॉलिसी लेने से पहले आपको कुछ बातें जरूर जाननी चाहिए

नई दिल्ली (जेएनएन)। यदि आपको लगता है कि आपकी कंपनी आपको नौकरी से निकाल सकती है तो ऐसा मत मानिये कि किसी प्रकार का जॉब लॉस इंश्योरेंस आपको नई नौकरी पाने के दरमियान कुछ महीनों तक सहारा देता रहेगा। इस बात के आसार भी हो सकते हैं कि आप इसकी पात्रता भी ना रखते हों। टेक्नोलॉजी सेक्टर में छंटनी का दौर चल रहा है। ऐसे में कर्मचारी ऐसे किसी विकल्प की तलाश में हैं जिससे उन्हें जॉब खोने का भी बीमा मिल सके। आइये इसके बारे में कुछ जानें।

  • स्टैंड अलोन जॉब लॉस कवर उपलब्ध नहीं हैं। किसी भी प्रकार की बीमा कंपनी ऐसी पॉलिसी नहीं चलाती है। अन्य पॉलिसियां जो एक्सीडेंट और गंभीर बीमारी को कवर करती हैं, उसमें यह उपलब्ध है।
  • यह केवल उन तीन सबसे बड़ी ईएमआई के लिए है जो कि अपनी आय का पचास प्रतिशत किश्त में चुकाते हैं।
  • एक से तीन महीने का समय वेटिंग पीरीयड में आता है, इसका क्लेम केवल उसी समयावधि के लिए किया जा सकता है।
  • छंटनी के मामले में पॉलिसी तभी लागू होती है जब नियोक्ता विलय या अधिग्रहण के चलते आपकी छंटनी कर दे। इसके लिए आपको छंटनी का लिखित प्रमाण चाहिये। बिना प्रमाण के लिए यह क्लेम मान्य नहीं होगा।
  • कई पॉलिसियां ऐसी होती हैं जो कि इस तरह के क्लेम को मान्य नहीं करती। इसके अलावा विभिन्नी बीमा में छंटनी को एक सूची के ज़रिये देखा जाता है।
  • बजाज एलीयांज जनरल इंश्योरेंस के आदि दामू कहते हैं कि यदि जॉब रिस्क को लेकर कोई क्लेम पेश किया जाता है तो इसमें बहुत सारी शर्तें देखना होंगी।
  • जॉब लॉस कवर का सीमित क्षेत्र देखते हुए इसका कोई विकल्प उपलब्ध नहीं है।
  • छंटनी का प्रमाण रखना बेहद जरूरी है क्योंकि वही चीज आपके काम आएगी यदि आपको क्लेम करने की पात्रता है।

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:Know important things about job loss insurance(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

GST के लागू होने के बाद महंगी हो जाएंगी ये इंश्योरेंस सेवाएं, जानिएबीमा एजेंटों पर अंकुश की तैयारी, बनेगा डाटा बेस
यह भी देखें