इनकम टैक्स : बड़ी खबरें

और पढ़ें »

इनकम टैक्स गाइड

एक्सपर्ट से पूछें इनकम टैक्स से जुड़े अपने सवाल...

आपके सवालों के जवाब

  • अगर किसी को सरकार से पुराना रिफंड लेना बकाया हो तो वह क्या करे?

    अगर किसी को सरकार से पुराना रिफंड लेना बकाया हो तो वह क्या करे?

    रिफंड अभी भी मिल जाएगा, पुराने कानून के मुताबिक।क्या दूसरी स्टेट से खरीदे गए माल पर इनपुट टैक्स क्रेडिट मिलेगा?हां मिलेगा, लेकिन इसके लिए आपके वाजिब इनवॉइस होना चाहिए।क्या अभी भी टैक्स इनवॉइस एंड रिटेल इनवॉइस काटना होगा, जैसे कि पुराने कानून में काटा करते थे?नहीं, अब सिर्फ टैक्स इनवॉइस ही इश्यू करना होगा।मैं एचएसएन कोड और टैक्स रेट के बारे में जानकारी कहां से प्राप्त करूं?सीबीईसी की वेबसाइट से ये लिस्ट एवलेबल है उसे डाउनलोड करे और नोटिफिकेशन को भी ध्यान में रखे।(यह सवाल जवाब ईमुंशी के टैक्स एक्सपर्ट और चार्टेड एकाउंटेंट अंकित गुप्ता के साथ हुई बातचीत पर आधारित है।)

  • अगर किसी ने अपना जीएसटी माइग्रेशन करा लिया हो और कोई जानकारी देना भूल गया हो या फिर गलत डाल दी हो, तो क्या करें?

    अगर किसी ने अपना जीएसटी माइग्रेशन करा लिया हो और कोई जानकारी देना भूल गया हो या फिर गलत डाल दी हो, तो क्या करें?

    इसके लिए फॉर्म REG26 इसको फाइल करें और अपने रजिस्ट्रेशन में बदलाव करा लें।अगर कोई फुली एक्जेंप्टेड गुड्स बेच रहा हो जैसे कि दालें, तो क्या 20 लाख टर्नओवर देखा जाएगा?अगर यह 100 फीसद एग्जेंप्टेड है तो उसका टर्नओवर 20 करोड़ भी हो तो भी उसको रजिस्ट्रेशन नहीं कराना होगा। हालांकि अगर यह 100 फीसद से कम है तो उसे कराना होगा।अगर किसी को एक से ज्यादा स्टेट में काम करना होगा तो क्या वह एक स्टेट में रजिस्ट्रेशन करवाकर काम चला सकता है?नहीं, उसको हर एक राज्य में अलग एप्लीकेशन डालनी होगी।क्या एक ही रजिस्ट्रेशन पर ट्रेडिंग और मैन्युफैक्चरिंग की जा सकती है।हां, अगर दोनों एक ही राज्य में करनी हो तो।(यह सवाल जवाब ईमुंशी डॉट कॉम के टैक्स एक्सपर्ट और चार्टेड अकाउंटेंट के साथ हुई बातचीत पर आधारित है।) 

  • मेरा टर्नओवर 50 लाख से कम है। मुझे कौन-कौन से खाता बही रखना आवश्यक होगा। क्या सिर्फ खरीद और बिक्री के पर्चे रखना पर्याप्त होगा?

    मेरा टर्नओवर 50 लाख से कम है। मुझे कौन-कौन से खाता बही रखना आवश्यक होगा। क्या सिर्फ खरीद और बिक्री के पर्चे रखना पर्याप्त होगा?

    जवाब: अगर आप कंपोजीशन स्कीम लेते हैं तो आपको ज्यादा खाता बही रखने की जरूरत नहीं होगी। आपको केवल सेल्स, पर्चेज, क्रेडिट नोट और डेबिट नोट, बैंक, कैश से संबंधित जानकारी रखनी होगी। वहीं अगर आप नॉर्मल स्कीम में है को आपको सारे खाते बही रखने की जरुरत होगी।सवाल: क्या मुझे अपना हिसाब किताब कंप्यूटर पर रखना जरुरी होगा या मैनुअल भी रख सकते है?जवाब: आप मैनुअल और कम्प्यूटर दोनों पर रख सकते हैं, लेकिन अगर आप इसे कम्प्यूटर पर रखते हैं तो इसका बैकअप जरुर रखें। मैनुअली खाते रखने पर आपको 72 महीने का रिकॉर्ड रखना होगा।सवाल: हमारे गांव पुरदिलनगर जिला-हाथरस (यू.पी) में कांच के मूंगा मोती हाथ से बनाये जाते है जो कि हैन्डीक्राप्ट में आते है जीएसटी में इस पर क्या टैक्स है, अभी ये वैट फ्री है?जवाब: जीएसटी में लगभग सभी हैंडीक्रॉफ्ट आइटम्स पर टैक्स नहीं लगाया गया है। हालांकि ज्यादा जानकारी के लिए आपको शेड्यूल पढ़ना होगा।सवाल: सर मेरा एक मेडिकल स्टोर है। रिटेल में 8 लाख करीब सालाना का टर्नओवर है। पहले वैट की ज़रूरत नही पड़ी। अब जीएसटी लागू होने पर मुझे क्या करना पड़ेगा?जवाब: आपको अभी भी जीएसटी रजिसट्रेशन की जरूरत नहीं है, हां अगर आप वॉलियंटरी रजिस्ट्रेशन करवाना चाहें तो आप इसे करवा सकते हैं।सवाल: जीएसटी लागू होने से रेल किराया बढ़ेगा?जवाब: जीएसटी लागू होने के बाद एसी और फर्स्ट क्लास में सफर करना महंगा हो जाएगा, क्योंकि इसके टिकट चार्ज पर 4.5 फीसद के बजाए 5 फीसद की दर से सर्विस टैक्स लगेगा।यह सावल जवाब ईमुंशी डॉट कॉम के टैक्स एक्सपर्ट और चार्टेड एकाउंटेंट अंकित गुप्ता से हुई बातचीत पर आधारित है

  • GST के अंतर्गत जनवरी 2017 में माइग्रेशन पूरा हो चुका है, लेकिन अभी तक ANR नंबर नहीं मिला है, मैं इसे कैसे प्राप्त कर सकता हूं?

    GST के अंतर्गत जनवरी 2017 में माइग्रेशन पूरा हो चुका है, लेकिन अभी तक ANR नंबर नहीं मिला है, मैं इसे कैसे प्राप्त कर सकता हूं?

    जवाब: पहली बात ऐसा होने की संभावना कम है। आप एक बार अपना ई-मेल चेक करें। क्योंकि जीएसटी पोर्टल पर प्रकिया पूरी होने के बाद आपके पास ई-मेल और मैसेज भेजा जाता है। अगर फिर भी आपके पास कोई जानकारी नहीं है तो आप फिर से 25 तारीख से ओपन हो रहे जीएसटी पोर्टल के जरिए इसे डाउनलोड कर सकते हैं।सवाल: माइग्रेशन प्रक्रिया के पूरा होने के बाद वैलिडेशन एरर आ रहा है, क्या करें?जवाब: अगर ऐसा आ रहा है तो इसकी वजह आपकी ओर से दर्ज कराया गया आपका और आपके पिता का नाम गलत होगा। आप इसे अपने पैन कार्ड के मुताबिक दोबारा से दर्ज करा लें।सवाल: मेरी पेंट की दुकान है। वैट सिस्टम में पेंट पर 12 फीसद एक्साइज ड्यूटी और 13.5 फीसद वैट लगता था। जीएसटी सिस्टम में टैक्स की दर 28 फीसद हो गई है। मुझे यह जानना है कि जून के बाद बचे हुए स्टॉक पर क्या मुझे कोई टैक्स देना होगा। अगर हां तो कितना?जवाब: आपको बचे हुए स्टॉक पर टैक्स नहीं देना होगा, लेकिन आगे जो भी बिक्री होगी उस पर 28 फीसद टैक्स देय होगा। आपके पास रजिस्टर्ड डीलर से खरीदा गया जो भी स्टॉक है उसका पूरा ब्यौरा जीएसटी पोर्टल पर देना होगा।यह सावल जवाब ईमुंशी डॉट कॉम के टैक्स एक्सपर्ट और चार्टेड एकाउंटेंट अंकित गुप्ता से हुई बातचीत पर आधारित है

  • जीएसटी पोर्टल पर डीएससी के बिना वेरिफिकेशन का प्रोसेस क्या है?

    जीएसटी पोर्टल पर डीएससी के बिना वेरिफिकेशन का प्रोसेस क्या है?

    जवाब: आपको अपना आधार नंबर जीएसटी पोर्टल में मेंशन करना होगा। उसके बाद रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर के जरिए ईवीसी आएगा। वो ईवीसी (इलेक्ट्रॉनिक वेरिफिकेशन कोड) कोड का इस्तेमाल कर आप अपना काम करा सकते हैं। हालांकि ये नंबर आधार कार्ड के साथ रजिस्टर्ड होना चाहिए।सवाल: जीएसटी लगने पर मंडी टैक्स रहेगा या नहीं?जवाब: ये जारी रहेगा। सिर्फ केंद्र सरकार या राज्य सरकारें बिक्री होने पर जो कर वसूलती हैं वो हट जाएंगे और उनकी जगह जीएसटी आ जाएगा।सवाल: मेरा टैक्स फ्री आइटम्स का बिजनेस है। मेरे पास न तो टिन नंबर है और न ही वैट नंबर। क्या मुझे जीएसटी नंबर लेने की जरूरत है?जवाब: सबसे पहले पहले आप तय करें कि आप जो सामान बेच रहे हैं क्या वो जीएसटी के बाद भी टैक्स फ्री रहेगा, अगर ऐसा है तो आपको रजिस्ट्रेशन कराने की जरूरत नहीं है। लेकिन अगर जीएसटी के अंतर्गत उनपर टैक्स लागू होगा तो उन्हें 20 लाख टर्नओवर की लिमिट चेक करनी होगी, इससे ऊपर की लिमिट पर उन्हें रजिस्ट्रेशन कराना ही होगा।  यह सावल जवाब ईमुंशी डॉट कॉम के टैक्स एक्सपर्ट और चार्टेड एकाउंटेंट अंकित गुप्ता से हुई बातचीत पर आधारित है

  • .
और पढ़ें »
यह भी देखें