PreviousNext

सेबी ने रीट्स और इनविट्स में म्युचुअल फंड्स के निवेश को दी मंजूरी, ब्रोकर फीस में भी की 25 फीसदी तक की कटौती

Publish Date:Sat, 14 Jan 2017 07:26 PM (IST) | Updated Date:Sat, 14 Jan 2017 07:34 PM (IST)
सेबी ने रीट्स और इनविट्स में म्युचुअल फंड्स के निवेश को दी मंजूरी, ब्रोकर फीस में भी की 25 फीसदी तक की कटौतीसेबी ने रीट्स और इनविट्स में म्युचुअल फंड्स के निवेश को दी मंजूरी, ब्रोकर फीस में भी की 25 फीसदी तक की कटौती
सेबी ने रियल एस्टेट इनवेस्टमेंट ट्रस्ट और इंफ्रास्ट्रक्चर इनवेस्टमेंट ट्रस्ट्स को बढ़ावा देने के लिए म्युचुअल फंड्स के इन ट्रस्ट में निवेश को मंजूरी दे दी है

नई दिल्ली। भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (सेबी) ने शनिवार को अपनी बोर्ड मीटिंग में कई प्रस्तावों को मंजूरी दे दी है। इसमें रीट्स और इनविट्स में म्युचुअल फंड्स के निवेश को मंजूरी देने से लेकर म्युनिसिपल बॉन्ड्स के नियमों में राहत शामिल हैं। वहीं दूसरी ओर सेबी ने ब्रोकर फीस में कटौती करने के प्रस्ताव को भी मंजूरी दे दी है।

सेबी ने रियल एस्टेट इनवेस्टमेंट ट्रस्ट और इंफ्रास्ट्रक्चर इनवेस्टमेंट ट्रस्ट्स को बढ़ावा देने के लिए म्युचुअल फंड्स के इन ट्रस्ट में निवेश को मंजूरी दे दी है। नये नियमों के तहत रीट्स और इनविट्स को अल्टरनेटिव सिक्युरिटीज कैटेगरी में रखा गया है। इस कदम से रियल्टी सेक्टर को फंड जुटाने के लिए नये अवसर मिलेंगे। सेबी की ओर से जारी किए गए नियमों के अनुसार म्युचुअल फंड्स रीट्स और इनविट्स की सिंगल स्कीम में अपने एनएवी यानी नेट एसेट वैल्यू का 5 फीसदी निवेश कर सकते हैं। वहीं फंड मल्टिपल स्कीम में अपने एनएवी का 10 फीसदी निवेश कर सकेंगे।

सेबी ने की ब्रोकर फीस में कटौती
सेबी ने ब्रोकर फीस में 25 फीसदी तक की कटौती कर दी है। नये नियमों के मुताबिक ब्रोकर फीस 20 रुपए प्रति करोड़ के टर्नओवर से घटा कर 15 रुपए प्रति करोड़ के टर्नओवर कर दी है। इसके साथ ही सेबी ने मार्केट में सभी के लिए डिजिटल मोड में भुगतान के लिए भी मंजूरी दे दी है। इसके साथ ही सेबी ने म्युचुअल फंड्स के लिए विज्ञापन (एडवरटाइजमेंट) कोड की भी घोषणा की है जिसके मुताबिक फंड्स पहले से मंजूरी लेकर सेलिब्रिटी इंडोर्समेंट कर सकते हैं। वहीं सेबी ने म्युनिसिपल बॉन्ड्स के लिए नियमों में भी राहत दी है। ऐसे म्युनिसिपैलटी जो बीते तीन वर्षों से सरप्लस आय दर्ज कर रहे हों, नये इश्यू ला सकते हैं।

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:SEBI board clears decision to allow MFs to invest in Reits and invits(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

खुद को आर्थिक ताकत बना रहे हैं ब्रिक्स देश और मजबूत होगा आपसी सहयोग: कामथजानिए कब खत्म होगी कैश की दिक्कत, रिजर्व बैंक ने दिए निर्देश
यह भी देखें