PreviousNext

2000 रुपए के नए नोट के बारे में अब हो गया यह बड़ा खुलासा, जानिए

Publish Date:Fri, 17 Feb 2017 05:13 PM (IST) | Updated Date:Fri, 17 Feb 2017 08:01 PM (IST)
2000 रुपए के नए नोट के बारे में अब हो गया यह बड़ा खुलासा, जानिए2000 रुपए के नए नोट के बारे में अब हो गया यह बड़ा खुलासा, जानिए
केंद्र सरकार की ओर से लिए गए नोटबंदी के फैसले पर बड़ा खुलासा हुआ है। यह खुलासा नवंबर महीने में आरबीआई की ओर से जारी किए गए 2000 रुपए के नए नोट के संबंध में है

नई दिल्ली। केंद्र सरकार की ओर से लिए गए नोटबंदी के फैसले पर बड़ा खुलासा हुआ है। यह खुलासा नवंबर महीने में आरबीआई की ओर से जारी किए गए 2000 रुपए के नए नोट के संबंध में है। एक अंग्रेजी दैनिक में छपी खबर के मुताबिक 2000 रुपए के नए नोट पर भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के गवर्नर उर्जित पटेल के हस्ताक्षर हैं, लेकिन इन नए नोटों की छपाई तभी शुरू हो गई थी जब रघुराम राजन आरबीआई के गवर्नर बने हुए थे। यह जानकारी 2000 रुपए के नोट छापने वाली आरबीआई की दो प्रिंट प्रेस ने दी है।

आरबीआई की दो प्रिंट प्रेस ने दी जानकारी:
आरबीआई की दो प्रिंट प्रेस ने यह जानकारी देते हुए बताया कि नोटों की छपाई की पहली प्रक्रिया 22 अगस्त 2016 को शुरू हुई थी। यह वह समय था जब रघुराम राजन आरबीआई के गवर्नर थे।

प्रिंटिंग प्रेस ने बताया कि गवर्नर पद के लिए उर्जित पटेल के नाम की घोषणा होने के बाद यह पहला वर्किंग डे था। इस दिन तक पटेल ने रघुराम राजन से चार्ज नहीं लिया था। वहीं नोटों पर राजन की जगह पटेल के हस्ताक्षर होने पर सवाल भी खड़े होने लगे थे। इस बात को लेकर आरबीआई और वित्त मंत्रालय से ईमेल के जरिए जानकारी मांगी गई थी कि 2000 रुपए के नए नोट को जारी करने में रघुराम राजन की भूमिका थी या नए नोटों में किसी और वजह से उनके हस्ताक्षर नहीं रखे गए।

गौरतलब है कि बीते साल 8 नवंबर को नोटबंदी के बाद आरबीआई ने 500 और 2000 रुपए के नए नोट जारी किए थे जिसमें उर्जित पटेल के हस्ताक्षर थे। उर्जित पटेल ने बीते साल सितंबर महीने में ही गवर्नर पद संभाला था।

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:New 2000 rs notes were printed with urjit patel sign during rajan tenure(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

रिलायंस को पछाड़ मार्केट वैल्यूएशन के मामले में दूसरे नंबर पर काबिज हुआ HDFCरिकॉर्ड स्तर पर पहुंच सकता है भारत में विदेशी निवेश, 9 महीने में आंकड़ा ढाई लाख करोड़ के पार हुआ
यह भी देखें