PreviousNext

एनएसईएल स्कैम: सेबी की ऑडिट में 5 ब्रोकरेज फर्मों में चूंक पाई गई

Publish Date:Fri, 28 Apr 2017 10:43 AM (IST) | Updated Date:Fri, 28 Apr 2017 10:43 AM (IST)
एनएसईएल स्कैम: सेबी की ऑडिट में 5 ब्रोकरेज फर्मों में चूंक पाई गईएनएसईएल स्कैम: सेबी की ऑडिट में 5 ब्रोकरेज फर्मों में चूंक पाई गई
सेबी ने एनएसईएल घोटाले में पांच ब्रोकिंग फर्मों में गड़बड़ी का पता लगाया

नई दिल्ली (जेएनएन)। सिक्योरिटी एंड एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया (सेबी) यानी बाजार नियामक ने नेशनल स्पॉट एक्सचेंज लिमिटेड (एनएसईएल) के घोटाले में पांच ब्रोकिंग फर्मों में गड़बड़ी (चूंक) का पता लगाया है।

ऑडिट फाइंडिंग के मुताबिक, ब्रोकर्स दलालों "फिट और उचित" मानदंडों को पूरा करने में विफल रहे हैं और साथ ही इन्हें कुछ प्रतिभूति नियमों का उल्लंघन करते हुए भी पाया गया है। थर्ड पार्टी ऑडिट रिपोर्ट के मुताबिक नियामक ने इन पांचों ब्रोकरेज को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। जिन ब्रोकरेज पर आरोप लगाया गया है उनमें आनंद राठी कमोडिटीज, इंडिया इन्फोलाइन कमोडिटीज (आईआईएफएल), जिओफिन कॉमट्रेड, मोतीलाल ओसवाल कमोडिटीज और फिलिप कॉमोडिटीज शामिल हैं। सेबी ने इन्हें नोटिस का वाजिब जवाब देने के लिए 21 दिनों का वक्त दिया है।

सूत्र के मुताबिक प्रथम दृष्टया पता चलता है कि ये ब्रोकरेज दोषी हैं और उचित मानदंड का उल्लंघन भी करते रहे हैं। सूत्र ने आगे बताया कि मामले में अंतिम आदेश पारित करने से पहले पूर्णकालिक सदस्य की इस मामले में सुनवाई का मौका दिया जाएगा। सूत्रों ने बताया कि नियामक ने अपनी ऑडिटिंग पूरी कर ली है और अब इसी के अनुसार कोई अंतिम फैसला लिया जाएगा। सेबी अगर इन्हें नियमों के अनुरुप नहीं पाता है तो या तो वह उन पर जुर्माना लगा सकता है ता फिर उन्हें “फिट एवं उचित ” नहीं होने वाला घोषित कर सकता है।

यह भी पढ़ें: विदेशी निवेशकों, म्युचुअल फंड और कमोडिटी बाजार के लिए सेबी ने कई बड़े फैसलों पर मुहर लगाई

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:In NSEL scam Sebi audit and finds lapses at 5 brokers(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

यूरिया उत्पादन में आत्मननिर्भर होगा देशरत्नों-आभूषणों का निर्यात 12.32 फीसद बढ़कर 2.89 लाख करोड़ रुपये हुआ
यह भी देखें