PreviousNext

नौकरी से निकाले गए 50 फीसद टेकी फिर से स्किल्ड हो जाएंगे: सर्वे

Publish Date:Mon, 19 Jun 2017 12:14 AM (IST) | Updated Date:Mon, 19 Jun 2017 05:37 PM (IST)
नौकरी से निकाले गए 50 फीसद टेकी फिर से स्किल्ड हो जाएंगे: सर्वेनौकरी से निकाले गए 50 फीसद टेकी फिर से स्किल्ड हो जाएंगे: सर्वे
एक सर्वे की माने तो आईटी सेक्टर में छटनी के जरिए निकाले गए कर्मचारियों को फिर से स्किल्ड किया जाएगा

नई दिल्ली (जेएनएन)। अगले 2 वर्षों में आईटी सेक्टर के भीतर करीब दो लाख नौकरियां कम होने की उम्मीद है। हालांकि इनमें से सभी अपनी नौकरियां नहीं खोएंगे क्योंकि इनमें से 50 फीसद को फिर से स्किल्ड बनाया जाएगा और उन्हें अन्य अवसरों के लिए भेज दिया जाएगा। यह बात एक सर्वे के जरिए सामने आई है।

यह सर्वे सीआईईएल एचआर सर्विस की ओर से आयोजित किया गया जिसमें 50 आईटी कंपनियों के मिड लेवल से लेकर सीनियर लेवल तक के पेशेवरों को शामिल किया गया। इंडस्ट्री में छटनी सामान्यतया: 15 से 20 फीसद है, जिन्हें रिप्लेस नहीं किया जा रहा है और ऑटोमेशन के चलते अगले दो सालों में करीब 2 लाख कर्मचारी अपनी नौकरियां गवाएंगे।

सीआईईएल के एचआर सर्विस सीईओ आदित्य नारायण मिश्रा ने बताया, “यह थोड़ा मायूस करने वाला है, लेकिन सब कुछ खत्म नहीं हुआ है। इनके पास लाभ उठाने के पर्याप्त अवसर हैं।”

उन्होंने आगे कहा कि जिन सेगमेंट में सबसे ज्यादा छटनी हुई हैं उनमे आईटी इन्फ्रास्ट्रक्चर सपोर्ट, टेस्टिंग और सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट शामिल है। हालांकि क्लाउड कंप्यूटिंग और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस जैसे कई क्षेत्रों में नए अवसर भी भरमार है।

यह सर्वे कहता है, “संक्रमण की स्थिति पहले से ही है, इंडस्ट्री में छटनी के जरिए बाहर किए गए कर्मचारियों में से 50 फीसद फ्रेशर और आठ साल के अनुभव वाले हैं उन्हें फिर से स्किल्ड किया जाएगा और उन्हें नए अवसरों की ओर भेजा जाएगा।”

यह भी पढ़ें: भारतीय आईटी सेक्टर में अगले दो सालों तक जाती रहेंगी लोगों की नौकरियां: विशेषज्ञ

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:About 50 percentage Of Laid Off Techies Will Be Re Skilled(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

एयर इंडिया ने पेश किया 'सावन स्पेशल' ऑफर, मात्र 706 रुपए में भरिए हवाई उड़ानGST काउंसिल: महंगे होटल और प्राइवेट लॉटरी पर लगेगा 28% टैक्स
यह भी देखें