PreviousNext

क्रेडिट कार्ड EMI या पर्सनल लोन, जानिए आपके लिए क्या है बेहतर

Publish Date:Mon, 22 May 2017 01:11 PM (IST) | Updated Date:Mon, 22 May 2017 01:13 PM (IST)
क्रेडिट कार्ड EMI या पर्सनल लोन, जानिए आपके लिए क्या है बेहतरक्रेडिट कार्ड EMI या पर्सनल लोन, जानिए आपके लिए क्या है बेहतर
तमाम पैमानों पर आप खुद परख सकते हैं कि आपके लिए क्रेडिट कार्ड और पर्सनल लोन में से कौन सा बेहतर हो सकता है।

नई दिल्ली (जेएनएन)। अगर आपको अपने घर का रेनोवेशन करवाना है, मसलन घर का कुछ फर्नीचर बदलवाना है या घर के पुराने हो चुके इलेक्ट्रॉनिक आइट्म्स को बदलकर नए लगवाने हैं तो आपके पास दो विकल्प होते है। पहला यह कि आप अपने क्रेडिट कार्ड से इसका भुगतान कर खर्च की गई राशि की ईएमआई बनवा लें या फिर आप पर्सनल लोन लेकर इसे खर्च कर दें। हम अपनी इस खबर के माध्यम से आपको बताने की कोशिश करेंगे कि आपके लिए इन दोनों विकल्पों में से कौन सा ज्यादा बेहतर है।

पर्सनल लोन (Personal Loan): पर्सनल लोन आमतौर पर एक तरह का असुरक्षित ऋण माना जाता है, जिसमें चिकित्सा कारणों के लेकर होने वाले खर्चों से लेकर लेकर अवकाश (वैकेशन) के दौरान की जाने वाली महंगी खरीद शामिल होती है। पर्सनल लोन पर वसूली जाने वाली ब्याज की दर भी काफी ऊंची होती है क्योंकि इसे जोखिम वाला लोन भी कहा जाता है।

क्रेडिट कार्ड लोन: क्रेडिट कार्ड पर लिया जाने वाला लोन एक पहले से ही मंजूर लोन होता है, जिसमें किसी भी प्रकार के दस्तावेजों को प्रस्तुत करने की जरूरत नहीं होती है। यह क्रेडिट हासिल करने का सबसे तेज स्रोत होता है। इस प्रकार लोन में, आपकी क्रेडिट कार्ड सीमा का एक निश्चित हिस्सा जो अनुपयुक्त है, उसे लोन (ऋण) के रूप में दिया जाता है।

क्रेडिट कार्ड बनाम पर्सनल लोन: पर्सनल लोन और क्रेडिट कार्ड लोन ये दोनों एक से ही जान पड़ते हैं लेकिन मूलभूत रुप से दोनों एक नहीं होते हैं।

दस्तावेजीकरण(Documentation): पर्सनल लोन के लिए आपको कुछ दस्तावेज प्रस्तुत करने होते हैं ताकि कुछ दिन बाद प्रक्रिया के तहत आपके लोन को मंजूरी दी जा सके। जबकि क्रेडिट कार्ड की ओर से मिलने वाले लोन में किसी भी कागजी कार्यवाही की जरूरत नहीं होती है। यह क्रेडिट प्राप्त करने का तेज माध्यम है।

ब्याज(Interest): यह सबसे प्रमुख पहलू होता है जिसके बार में हमें लोन लेने से पहले जरूर सोचना चाहिए। आमतौर पर पर्सनल लोन 13 से 22 फीसद ब्याज पर दिया जाता है, जबकि क्रेडिट कार्ड लोन 10 से 18 फीसद ब्याज पर दिया जाता है। हालांकि एक अन्य अहम कारक यह है कि क्रेडिट कार्ड लोन का फायदा फ्लैट इंटरेस्ट रेट (ब्याज दर तय होती है) पर लिया जाता है, जबकि पर्सनल लोन में कम होती लोन राशि के साथ ब्याज दर कम होती रहती है। पर्सनल लोन का फायदा उठाने के लिए आपका संबंधित बैंक में खाता होना जरूरी है, जबकि क्रेडिट कार्ड से लोन लेने की स्थिति में आपका बैंक कस्टमर होना जरूरी नहीं है।

अनसिक्योर्ड लोन:  हालांकि ये दोनों ही तरह के लोन अनसिक्योर्ड होते हैं।

टेन्योर: क्रेडिट कार्ड लोन छोटी अवधि के लिए लिया जा सकता है, जबकि पर्सनल लोन आमतौर पर लंबी अवधि के लिए लिया जाने वाला लोन होता है।

लोन की राशि: क्रेडिट कार्ड से लोन लेना उस वक्त मुफीद होता है जब आपको एक छोटी अवधि के लिए छोटी राशि का लोन लेना होता है। जबकि पर्सनल लोन का फायदा एक बड़ी राशि लेने के लिए किया जाता है।

लब्बोलुआब: ऊपर दिए गए तमाम मानकों पर परखने के बाद आप इस नतीजे पर पहुंच सकते हैं कि आपके लिए क्रेडिट कार्ड से लोन (ईएमआई) लेना बेहतर रहेगा या फिर पर्सनल लोन लेना। अगर आप अपनी जरूरतों को लेकर क्लियर हैं तो आप सही नतीजे पर पहुंच सकते हैं।

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:Credit Card EMI vs Personal Loans know Which one to chose(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

कौन सा बैंक दे रहा है सबसे सस्ता कार लोन, जानिएआम बैंक के सेविंग अकाउंट से कैसे अलग है पेमेंट बैंक का सेविंग अकाउंट, जानिए
यह भी देखें