PreviousNextPreviousNext

'बच्चों के सर्वागिण विकास के लिए अनुशासन आवश्यक'

Publish Date:Sun, 01 Apr 2012 06:58 PM (IST) | Updated Date:Sun, 01 Apr 2012 06:58 PM (IST)
'बच्चों के सर्वागिण विकास के लिए अनुशासन आवश्यक'

रोसड़ा (समस्तीपुर), जाप्र : प्रतिभावान छात्र जीवन के सभी क्षेत्रों में आगे रहते हैं। अनुशासित बच्चे अपनी लगन और मेहनत से लक्ष्य की प्राप्ति अवश्य करते हैं। उक्त बातें यूआर कॉलेज के पूर्व प्रधानाचार्य प्रो. शिव शंकर प्रसाद सिंह ने कही। वे स्थानीय इंडियन पब्लिक स्कूल में रविवार को आयोजित प्रतिभा सम्मान समारोह की अध्यक्षता करते हुए कही। उन्होंने उपस्थित बच्चों को राष्ट्र के प्रति समर्पण की भावना से अपने कर्तव्य पथ पर अग्रसर रहने की सलाह दी है। समारोह के अतिथि संस्कृत शिक्षा बोर्ड पटना के पूर्व परीक्षा नियंत्रक डा. परमानंद मिश्र ने कहा कि मेघावी छात्र किसी के मोहताज नहीं मेघा का सम्मान करना सभी शिक्षा प्रेमियों का नैतिक दायित्व है। विद्यालय के प्राचार्य नरेन्द्र कुमार सिंह ने प्रतिवेदन प्रस्तुत करते हुए अब तक के सफलताओं पर प्रकाश डाला। इसके अलावा शंकर सिंह सुमन एवं सुरेश महतो को संबोधित किया। मौके पर सफल हुए दर्जनों प्रतिभागी छात्रों को अतिथि के हाथों पुरस्कार से नवाजा गया। विदित हो कि बिहार शताब्दी अवसर पर विद्यालय द्वारा प्रतिभा सम्मान समारोह 2012 का आयोजन विगत 25 मार्च को किया गया था। जिसका संचालन एवं नियंत्रण एसके भारद्वाज ने किया था। उक्त परीक्षा में सफल छात्र-छात्राओं को आज पुरस्कृत किया गया।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए क्लिक करें m.jagran.com परया

कमेंट करें

Web Title:

(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

विपरीत परिस्थितियों में अनुकूलता पैदा करना ही रामत्वटिप्पर की टक्कर से महिला की मौत

 

अपनी भाषा चुनें
English Hindi
Characters remaining


लॉग इन करें

यानिम्न जानकारी पूर्ण करें

Name:
Email:

Word Verification:* Type the characters you see in the picture below

 

    वीडियो

    स्थानीय

      यह भी देखें
      Close
      'विकास के लिए साक्षर होना आवश्यक है'
      'बाल संसद से बच्चों में होता है विकास'
      'बच्चों के विकास में सहयोग दें अभिभावक'