PreviousNext

मातमी माहौल में निकला मोहर्रम का ताजिया जुलूस

Publish Date:Thu, 13 Oct 2016 05:08 PM (IST) | Updated Date:Thu, 13 Oct 2016 05:08 PM (IST)
रोहतास। जिले में मुहर्रम शांति व सौहार्दपूर्ण वातावरण में परंपरागत तरीके से मनाया गया। प

रोहतास। जिले में मुहर्रम शांति व सौहार्दपूर्ण वातावरण में परंपरागत तरीके से मनाया गया। पैगंबर हजरत इमाम हसन हुसैन की शहादत की 10 वीं पर मातमी माहौल में गुरुवार को ताजिया जुलूस निकाला गया। इमाम चौकों पर रखे गए ताजिया को उठा कर लोग विभिन्न मुहल्लों व गलियों से होते हुए करबला तक ले गए। जहां ताजिये को देर रात तक परंपरागत तरीके से पहलाम किया गया। इस दौरान जुलूस में शामिल युवाओं ने बांदा, बनेठी समेत अन्य पारंपरिक शस्त्रों से नुमाइशी खेल का प्रदर्शन किया। ताजिया जुलूस को कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच करबला तक पहुंचाया गया। मुस्लिम धर्मावलंबियों ने इमामबाड़ों में फातिहा पढ़ी व कुरानखानी की। इस दौरान लोगों के बीच शरबत के साथ मलीदा बांटे गए। जुलूस में नाल साहब को भी गश्त कराया गया। शाहजुम्मा (सदर) व काले खां से निकाले गए ताजिया जुलूस का मिलन शेरगंज स्थित बाड़ा के समीप लगभग पौने बारह बजे हुआ। जुलूस में मोहर्रम कमेटी व नगर पूजा समिति के सदस्यों के अलावे अन्य प्रबुद्धजन शामिल थे। छात्र संघ द्वारा कुरानखनी का भी आयोजन किया गया। शहर के विभिन्न मुहल्लों के अलावे मुरादाबाद, बाराडीह, कदवां, बेलाढ़ी सहित अन्य गांवों से भी लाए गए ताजिया को करबला में पहलाम किया गया।

जुलूस को शांतिपूर्वक संपन्न कराने के लिए प्रशासनिक स्तर पर सुरक्षा चुस्त दुरुस्त किया गया था। जगह- जगह पर्याप्त संख्या में सुरक्षा बल व दंडाधिकारी तैनात किए गए थे। साथ ही असामाजिक तत्वों व अफवाह फैलाने वालों पर भी प्रशासन की पैनी नजर रही। वर्दीधारियों के अलावे सादे लिबास में भी पुलिस कर्मियों को तैनात किया गया था, जो हरेक गतिविधियों पर नजर रखे हुए थे। डीएम अनिमेष कुमार पराशर ने कहा कि निर्धारित मार्गों से ताजिये को करबला तक ले जाने का काम आयोजकों द्वारा किया गया।

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:tajiya pahalam in sad situation(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

नुमाइशी खेल का प्रदर्शनसौहार्द पूर्ण माहौल में ताजिये का पहलाम
यह भी देखें