PreviousNext

सुमो बोले- आखिर लालू ने कबूल किया कि 500 करोड़ के मॉल के हैं मालिक

Publish Date:Sun, 09 Apr 2017 06:13 PM (IST) | Updated Date:Sun, 09 Apr 2017 10:26 PM (IST)
सुमो बोले- आखिर लालू ने कबूल किया कि 500 करोड़ के मॉल के हैं मालिकसुमो बोले- आखिर लालू ने कबूल किया कि 500 करोड़ के मॉल के हैं मालिक
सुशील मोदी ने कहा कि अखिरकार लालू को यह कबूल करना पड़ा कि 500 करोड़ के मॉल के मालिक वही हैं। एक चपरासी का बेटा पच्चीस साल में पांच सौ करोड़ की मॉल का मालिक बन गया।

पटना [राज्य ब्यूरो]। पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि पांच दिनों की चुप्पी के बाद आखिर लालू यादव ने स्वीकार कर लिया कि सगुना मोड़ के पास बन रहा पांच सौ करोड़ का माल उनका ही है। मोदी ने कहा बिना टेंडर के अपने माल से 90 लाख की मिट्टी संजय गांधी जैविक उद्यान को सप्लाई देने का मामला इसके आगे अब छोटा पड़ गया है।

मोदी ने रविवार को प्रेस कांफ्रेंस में लालू यादव को इसके लिए बधाई दी कि एक चपरासी का बेटा पच्चाीस साल पांच सौ करोड़ का मालिक बन गया। उन्होंने कहा कि लालू यादव ने आज पत्रकारों के सामने खुद ही स्वीकार कर लिया कि माल की जमीन उन्होंने वैध तरीके से अर्जित की है।

मोदी ने कहा यही तो हम शुरू से कह रहे हैं। डिलाइट मार्केटिंग का इस्तेमाल एक बेनामी संपत्ति को कानूनी रूप देने में किया गया। कंपनी बनती है व्यापार करने के लिए। डिलाइट ने बिहार में सिर्फ यही एक काम किया। 2005 में 90 लाख रुपये में जमीन खरीदी। जिसमें लालू यादव का मात्र चार लाख बीस हजार रुपये लगा।

इस कंपनी ने दस साल तक लालू यादव के बेटों के बड़े होने का इंतजार किया। जब दोनों बेटे बड़े हो गए, करोड़ों की यह संपत्ति राबड़ी देवी और उनके दोनों बेटे उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव और स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप के नाम कर दी गई।

मोदी ने कहा डिलाइट जैसी कंपनियों को ही शेल कंपनी कहा जाता है। ऐसी कंपनियां ब्लैक मनी को जायज करने के लिए ही बनाई जाती है। जिनका काम ही बुक ट्रांसफर होता है। परिजनों के अलावा कोई शेयरहोल्डर नहीं होता। केंद्र ने हाल ही में शेल कंपनियों के खिलाफ देशव्यापी अभियान चलाया है।

पूर्व उपमुख्यमंत्री ने कहा कि लालू यादव माहिर खिलाड़ी है। बिना लाभ के कोई काम नहीं करते। जब रेल मंत्री बने तो पहले हर्ष कोचर से बेली रोड की दो एकड़ जमीन डिलाइट मार्केटिंग को रजिस्ट्री करवाई। इसके एवज में कुछ महीने बाद उसे रेलवे के रांची और पुरी के दो होटल लीज पर दे दिया।

मोदी ने कहा कि मंत्रियों को दिसंबर के आखिर में संपत्ति का ब्योरा देना होता है। तेजस्वी यादव और तेज प्रताप ने भी अपनी संपत्ति घोषित की है। उसमें बेली रोड पर बन रहे माल का कोई जिक्र नहीं है। इस अघोषित संपत्ति छिपाने के आरोप में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को इन दोनों को अविलंब बर्खास्त कर देना चाहिए।

चपरासी के बेटे से अरबपति बने लालू पर फिल्म बननी चाहिए
भाजपा नेता ने कहा कि लालू यादव पर फिल्म बननी चाहिए। चार लाख की पूंजी लगाकर कोई व्यक्ति कुछ ही वर्षों में कैसे पांच सौ करोड़ से अधिक का मालिक बन जाता है इससे अच्छी फिल्म के लिए कोई स्टोरी क्या हो सकती है।

यह भी पढ़ें: जर्मनी से घूमने आयी थी दिल्ली, दिल दे बैठी पटनिया युवक को

प्रेम गुप्ता को नीतीश आर्थिक सलाहकार बनाएं
मोदी ने मुख्यमंत्री को सलाह दी है कि उन्हें प्रेम गुप्ता को अपना आर्थिक सलाहकार बना लेना चाहिए। बिहार गरीब राज्य है। बिना पूंजी के ज्यादा कैसे कमाया जा सकता है कोई प्रेम गुप्ता से सीखे। लालू यादव को इस तरकीब से उन्होंने अरबपति बना दिया। बिहार का भी इससे भला होगा।

यह भी पढ़ें: मरीज छह, डॉक्टर सात और बेड पचास, ऐसा है राजधानी का यह अस्पताल

लालू के खास हैं अनवर अहमद
मोदी ने कहा पूर्व विधान पार्षद अनवर अहमद के यहां कल सीबीआई का छापा क्यों पड़ा? यह वहीं अनवर अहमद है जो कभी लालू के खास हुआ करते थे। जिनके आवामी बैंक में लालू-राबड़ी का भी खाता है। इस बैंक में ऐसे ही लोगों का खाता है। नोटबंदी के दौरान इसका इस्तेमाल कालाधन को छिपाने में हुआ है।
यह भी पढ़ें: नई दिल्ली-पटना राजधानी में लूट, रेल मंत्री ने दिए जांच के आदेश 

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:Sushil modi said that Laloo accepted that he is the owner of mall worth of 500 million(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

बिहार के 14 से अधिक जिलों में लगी आग, करोड़ों की संपत्ति खाकलालू ने मिट्टी घाेटाला के आरोप को बताया गलत, कहा- मॉल की जमीन हमारी
यह भी देखें