PreviousNext

पहेली बनी बक्सर के डीएम की खुदकुशी, कई सुसाइड नोट मिले

Publish Date:Fri, 11 Aug 2017 10:32 AM (IST) | Updated Date:Sat, 12 Aug 2017 08:14 AM (IST)
पहेली बनी बक्सर के डीएम की खुदकुशी, कई सुसाइड नोट मिलेपहेली बनी बक्सर के डीएम की खुदकुशी, कई सुसाइड नोट मिले
बक्सर में पदस्थापित डीएम मुकेश पांडे ने दिल्ली के गाजियाबाद में ट्रेन से कटकर खुदकुशी कर ली है। जहां उनके सुसाइड से लोग हैरान हैं, वहीं पुलिस के लिए ये आत्महत्या पहेली बन गई है।

पटना [जेएनएन]। बिहार के बक्सर जिले के डीएम मुकेश पांडे ने गुरुवार रात यूपी के गाजियाबाद में ट्रेन के आगे कूदकर आत्महत्या कर ली। लेकिन उनकी आत्महत्या पुलिस के लिए पहेली बन गई है। क्योंकि उनके पास से कई सुसाइड नोट्स मिले हैं और एक से ज्यादा जगहों पर जाकर आत्महत्या करने की बात कही है।

लीला पैलेस होटल से मिले सुसाइड नोट में उन्होंने लिखा कि, 'मैं अपनी पत्नी और अपने मां-बाप के बीच हो रहे झगड़े से बेहद परेशान हूं, इस वजह से यह कदम उठा रहा हूं'। वहीं, गुरुवार को मुकेश के ससुर ने सरोजिनी नगर पुलिस स्टेशन में उनके लापता होने की रिपोर्ट भी दर्ज कराई थी।

सुसाइड नोट में मिले हैं चार फोन नंबर

मुकेश के पास से एक अन्य सुसाइड नोट भी मिला है, जिसमें उन्होंने अपनी मर्जी से खुदकुशी करने की बात लिखी है। पुलिस सूत्रों की मानें तो सुसाइड नोट में चार फोन नंबर भी लिखे हुए हैं। यह सभी नंबर परिवार वालों के हैं। सुसाइड नोट में एक जगह लिखा है कि विस्तृत सुसाइड नोट बैग में है।

 

बैग में रखा है एक सुसाइड नोट

सुसाइड नोट में उन्होंने लिखा है कि, 'वह बैग दिल्ली के लीला पैलेस होटल के कमरा नंबर-742 में है। मेरे बैग में एक और सुसाइड नोट है, जिसमें पूरी जानकारी है।’मैं अपनी मर्जी से आत्महत्या कर रहा हूं. मेरी मौत के बाद मेरी अत्महत्या की खबर मेरे रिश्तेदारों को दे दी जाए। मैं दिल्ली के लीला पैलेस होटल के कमरा नंबर 742 में रुका हूं। मेरे बैग में सुसाइड नोट है जिसमें पूरी जानकारी है।’’

 

फिलहाल पुलिस ने उस सुसाइड नोट का खुलासा नहीं किया है, जिसकी वजह से ये साफ नहीं हो सका है कि मुकेश पांडे ने खुदकुशी क्यों की?

 

यह भी पढ़ें:  बक्सर के डीएम मुकेश पांडेय के सुसाइड की कहीं ये वजह तो नहीं!

 

परिजनों को खुद दी थी खुदकुशी की जानकारी

पुलिस के मुताबिक, सबसे पहले वो शाम 6 बजे दिल्ली के जनकपुरी स्थित डिस्ट्रिक्ट सेंटर खुदकुशी करने पहुंचे।यहां पर उन्होंने परिजनों को व्हाट्सएप करके खुदकुशी करने की जानकारी दी। इसके बाद आनन-फानन में पुलिस वहां पहुंची तो मुकेश पांडे अपना फोन होटल में छोड़कर गायब हो गए थे।

 

पटना से दिल्ली पहुंचे बक्सर के डीएम मुकेश पांडेय, कर ली खुदकुशी, देखें तस्वीरें

 

गुरुवार को पहुंचे थे दिल्ली

मुकेश पांडे बुधवार की देर रात बक्सर से दिल्ली के लिए निकले थे। सूत्रों की मानें तो दिल्ली आने के पीछे उन्होंने वजह बताई थी कि उनके मामा को हार्ट अटैक आया है। दिल्ली पहुंचने के लगभग 14 घंटे बाद मुकेश पांडे ने ट्रेन के आगे कूदकर खुदकुशी कर ली।

 

हाल में नियुक्त किए गए थे बक्सर के डीएम

बीते 4 अगस्त को ही उन्हें बक्सर का डीएम नियुक्त किया गया था। बक्सर से पहले मुकेश बेगूसराय के बलिया अनुमंडल में एसडीएम व कटिहार में डीडीसी के पद पर सेवा दे चुके थे।  2012 की यूपीएससी परीक्षा में 14वीं रैंक लाने वाले मुकेश पांडे को साल 2015 में संयुक्त सचिव रैंक में प्रमोशन मिला था। 

 

रेलवे ट्रैक पर कटा मिला शव, जेब में था सुसाइड नोट

 रेलवे पुलिस ने मुकेश पांडे की मौत की पुष्टि की है। रेलवे पुलिस के डिप्टी एसपी (गाज़ियाबाद) रणधीर सिंह ने बताया कि, "मुकेश पांडे का शव कटी हुई अवस्था में रेलवे ट्रैक पर मिला है।"मुकेश पांडे का शव ग़ाज़ियाबाद स्टेशन से क़रीब एक किलोमीटर दूर कोटगांव के पास रेलवे ट्रैक पर मिला है।

 

मौके पर मौजूद गाज़ियाबाद की डीएम मिनिस्टी नायर ने बताया, "हमें एक सुसाइड नोट भी मिला है जो अंग्रेज़ी में है और जिसमें 'जीवन की बिडंबनाओं' की बात की गई है।"

 

यह भी पढ़ें:  डीएम सुसाइड मामला: पूरे गांव में चर्चा, आखिर क्यों की मुकेश ने आत्महत्या?

 

हाल ही में डीएम बने थे

 मूल रूप से बिहार के सारण जिले के निवासी मुकेश पांडेय गुरुवार सुबह ही बक्सर के उपविकास आयुक्त मोबिन अली अंसारी को प्रभार सौंप दिल्ली गए थे। वे लीला पैलेस होटल में ठहरे थे। पिछले दिनों ही बक्सर डीएम के तौर पर पदस्थापित किए गए थे। बक्सर में पदस्थापना से पहले वे कटिहार में डीडीसी थे।

 

सीसीटीवी में मेट्रो स्टेशन की ओर जाते दिखे

दिल्ली वेस्ट के डीसीपी विजय कुमार ने  बताया कि मुकेश पांडेय के साथियों का फोन शाम करीब साढ़े छह बजे आया। पुलिस तुरंत डिस्ट्रिक्ट सेंट्रल मॉल पहुंची लेकिन वहां ऐसी किसी तरह की घटना की जानकारी नहीं मिली। एक सीसीटीवी फुटेज देखने से पता चला कि मुकेश पांडेय शाम 5:55 बजे मॉल से बाहर जा रहे थे।

 

अन्य सीसीटीवी फुटेज में मेट्रो स्टेशन की तरफ जाते दिखे। डीसीपी ने बताया कि हमने मेट्रो का भी सीसीटीवी फुटेज चेक किया लेकिन उसमें वे नहीं दिखे। रात करीब 9 बजे हमें जानकारी मिली कि मुकेश पांडेय का शव गाजियाबाद इलाके में मिला है।

 

मुकेश पांडेय की शादी दो साल पूर्व पटना के एक बड़े घराने में  हुई थी। बाढ़ के रहने वाले जाने-माने ठेकेदार की पोती से उनकी शादी हुई थी। उनकी एक बेटी भी है।

 

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:Mystery of Buxar DM suicide many suicide notes recovered(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

डीएम सुसाइड मामला: पूरे गांव में चर्चा, आखिर क्यों की मुकेश ने आत्महत्या?अबतक मनरेगा का कार्यावयन एजेंसी नहीं बन सका पटना जिला परिषद
यह भी देखें