PreviousNext

लालू परिवार के खिलाफ IT की बड़ी कार्रवाई, करोड़ों की संपत्तियां जब्‍त

Publish Date:Mon, 11 Sep 2017 09:36 PM (IST) | Updated Date:Tue, 12 Sep 2017 11:51 PM (IST)
लालू परिवार के खिलाफ IT की बड़ी कार्रवाई, करोड़ों की संपत्तियां जब्‍तलालू परिवार के खिलाफ IT की बड़ी कार्रवाई, करोड़ों की संपत्तियां जब्‍त
राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव व उनके परिवार के खिलाफ अायकर विभाग ने बड़ी कार्रवाई की है। आयकर विभाग ने उनकी करोड़ों की संपत्तियां जब्‍त कर ली है।

पटना [जेएनएन]। राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव और उनके परिवार की मुसीबतें लगातार बढ़ती जा रही हैं। ताजा मामला आयकर विभाग की कार्रवाई का है। ईडी की कर्रवाई के बाद अब आयकर विभाग ने लालू की बेटी मीसा भारती की दिल्ली के बिजवासन के फार्म हाउस को अटैच करने का आदेश दिया है। इसके अलावा पटना व दिल्‍ली में लालू परिवार की संपत्तियों को भी अटैच किया गया है।

ईडी ने पहले ही जब्‍त कर लिया था मीसा का फार्म हाउस

विदित हो कि मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में ईडी ने मीसा भारती के बिजवासन स्थित फॉर्म हाउस को पहले ही अटैच कर लिया था। फॉर्म हाउस मीसा और उनके पति शैलेश के नाम से है। इस कार्रवाई से पहले ईडी ने मीसा और शैलेश से पूछताछ की थी। आरोप है कि फार्म हाउस फर्जी कंपनियों के धन से खरीदा गया था। साल 2008-09 में फर्जी कंपनियों के जरिए पैसा तब आया था, जब लालू रेलमंत्री थे।

ये संपत्तियां हुईं जब्‍त

आयकर विभाग ने इससे पहले लालू, उनकी पत्नी राबड़ी देवी, बेटे तेजस्वी यादव, बेटियां चंदा, रागिनी यादव और सांसद मीसा भारती और दामाद शैलेष कुमार को संपत्ति जब्त करने संबंधी नोटिस थमाया था। विभाग दिल्ली और बिहार में एक दर्जन प्लाट जब्त कर चुका है। इसमें दिल्ली के पालम विहार इलाके में एक फर्म हाउस दक्षिणी दिल्ली के फ्रेंडस कालोनी में एक भवन और पटना के फुलवारी शरीफ में 256.75 डिसमिल जमीन पर नौ प्लाट शामिल हैं। पटना के फुलवारी शरीफ वाली जमीन पर शॉपिंग मॉल बनाया जा रहा था।

जून में जारी हुआ था आदेश

आयकर विभाग ने इस वर्ष जून में बेनामी लेनदेन (रोकथाम) अधिनियम 2016 के तहत जब्ती का अस्थायी आदेश जारी किया था। अब इस आदेश की पुष्टि हो गई है। जून में अस्थायी रूप से जब्त की गई अन्य संपत्तियों को भी दायरे में लिया जाएगा।

क्या है बेनामी संपत्ति
ऐसी संपत्तियां उसे मानी जाती है जिसमें जिसके नाम पर संपत्ति खरीदी गई है वह उसका वास्तविक मालिक नहीं होता है। अधिनियम के तहत वास्तविक मालिक, बेनामी खरीदार, मध्यस्थ और बेनामी लेनदेन में पहचान बने लोगों के खिलाफ मामला चलाने की व्यवस्था है। कानून के तहत मुआवजा दिए बगैर सरकार ऐसी संपत्तियों को जब्त कर सकती है।
इन संपत्तियों की हुई जब्‍त!

- फार्म नंबर 26 (पालम फार्म्स, बिजवासन, दिल्ली)

शेल कंपनी : मिशैल पैकर्स एंड प्रिंटर्स प्राइवेट लिमिटेड
लाभार्थी : मीसा भारती और शैलेश कुमार
बुक वैल्यू : 1.4 करोड़ रुपये
मार्केट वेल्यू : 40 करोड़ रुपये

- मकान नं. 1088 (न्यू फ्रेंड्स कालोनी, दक्षिणी दिल्‍ली)
शेल कंपनी : एबी एक्सपोर्ट्स प्राइवेट लिमिटेड

लाभार्थी : तेजस्वी यादव, चंदा और रागिनी यादव
बुक वैल्यू : 5 करोड़ रुपये
मार्केट वैल्यू : 40 करोड़ रुपये
 
- पटना के दानापुर के पास जालापुर में 9 प्लॉट
शेल
कंपनी : डिलाइट मार्केटिंग प्राइवेट लिमिटेड
लाभार्थी : राबड़ी देवी, तेजस्वी यादव
बुक वैल्यू : 1.9 करोड़ रुपये
मार्केट वैल्यू : 65 करोड़ रुपये
- पटना के दानापुर के पास जालापुर में 3 प्लॉट
श्‍ोल
कंपनी : एके इंफोसिस्टम
लाभार्थी : राबड़ी देवी, तेजस्वी यादव
बुक वैल्यू : 1.6 करोड़ रुपये
मार्केट वैल्यू : 20 करोड़ रुपये

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:IT attaches properties worth crores of Lalu family in Delhi and Patna(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

पशुपति पारस के विधान परिषद में मनोनयन के खिलाफ हाइकोर्ट में याचिका दायरबेनामी संपत्ति मामला: IT अब पटना में राबड़ी देवी और हेमा से करेगी पूछताछ
यह भी देखें