PreviousNext

सेक्स रैकेट में फंस सकता है आनंद बरार, गिरफ्तारी से मचा हड़कंप

Publish Date:Tue, 21 Mar 2017 10:10 AM (IST) | Updated Date:Tue, 21 Mar 2017 06:34 PM (IST)
सेक्स रैकेट में फंस सकता है आनंद बरार, गिरफ्तारी से मचा हड़कंपसेक्स रैकेट में फंस सकता है आनंद बरार, गिरफ्तारी से मचा हड़कंप
बीएसएससी पेपरलीक कांड मामले में हरियाणा से आनंद बरार की गिरफ्तारी के बाद पता चला है कि वह अपने काम के बदले बड़े अफसरों को दिल्ली के बड़े-बड़े होटलों में पार्टी दिया करता था।

 पटना [जेएनएन]। बीएसएससी पेपर लीक कांड में हरियाणा के आनंद बरार की गिरफ्तारी के बाद कई बड़े अधिकारियों के दिल की धड़कनें बढ़ गईं है। जांच में पता चला है कि करीब एक दर्जन अधिकारियों से वह सीधे संपर्क में था। वह अधिकारियों से काम लेने से पहले और बाद में दिल्ली के चर्चित होटलों में गुप्त पार्टियों की व्यवस्था करता था।

इसकी जानकारी एसआइटी में शामिल एक अफसर ने दी। उसे जरा सा भी अंदेशा नहीं था कि पुलिस के हाथ उसके गिरेबां तक पहुंच जाएंगे। कई बड़े प्रशासनिक अधिकारी उसे पुलिस की कार्रवाई की जानकारी देते रहते थे।

सूत्रों की मानें तो अब तक एसआइटी केवल पेपर लीक और बीएसएससी में धांधली का अनुसंधान कर रही थी, लेकिन बरार के काले कारनामों की लंबी लिस्ट देखकर एक और मुकदमा दर्ज हो सकता है। उसपर पर सेक्स रैकेट चलाने की एफआइआर भी की जा सकती है।
यह कार्रवाई उसके मोबाइल में मिले वीडियो, कॉल रिकॉर्डिंग को आधार बना की जाएगी। सूत्रों के मुताबिक बरार करीब एक दशक से विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में धांधली कराता आ रहा है। अधिकारियों से मेल-जोल बढ़ाने में पटना के मृत्युंजय नामक युवक ने उसकी काफी मदद की।
वह दिल्ली में इवेंट कंपनी का संचालन करता है, जिसकी आड़ में जिस्मफरोशी का धंधा चलता था। राज्य के कई अफसर उसकी पार्टियों में शामिल होते थे। इन्हीं पार्टियों के बूते ही बरार ने परमेश्वर, लालकेश्वर और कई आइएएस से संबंध बनाए। 

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:Arrested accused in bssc paper leak Anand barar also ran big sex racket(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

जदयू नेता ने कहा - मोदीजी, फौज में 30% कर दें मुसलमानों की संख्या, फिर देखेंजदयू-कांग्रेस के मिले सुर - अब सांप्रदायिक नहीं, मोदी राजनीति कर रही BJP
यह भी देखें