PreviousNext

पानी की किल्लत,ग्रामीणों ने कई दिनों से नहीं किया स्नान

Publish Date:Fri, 21 Apr 2017 05:12 PM (IST) | Updated Date:Fri, 21 Apr 2017 05:12 PM (IST)
जमुई। प्रखंड से दस किलोमीटर दूर बामदह पंचायत स्थित चान्दो सोल आदिवासी गांव में इन दिनों घोर पेयजल संकट उत्पन्न हो गया है।

जमुई। प्रखंड से दस किलोमीटर दूर बामदह पंचायत स्थित चान्दो सोल आदिवासी गांव में इन दिनों घोर पेयजल संकट उत्पन्न हो गया है। सरकारी उदासीनता के कारण इस आदिवासी गांव में न तो चापाकल की सुविधा है और न ही सरकारी कूप का निर्माण जनप्रतिनिधियों द्वारा अब तक कराया गया है। हर वर्ष गर्मी के दिनों में यहां के गरीब वनवासी नदी में चुआं खोदकर प्यास बुझाने को विवश हैं। घोर पेयजल संकट से प्रभावित चान्दो सोल गांव की 400 की आबादी में न तो एक चापाकल है न ही निजी या सरकारी कुआं। चांदोसोल गांव के ग्रामीण मीना मरांडी, सयोली टुड्डू, मलकी मरंडी, मेनू मरांडी, बड़की हेम्ब्रम, चुटकी मरंडी, सोना लाल हेम्ब्रम सहित अन्य ने बताया कि पानी की कमी को लेकर कई दिनों से स्नान नहीं किए हैं। गर्मी के कारण जोरिया भी सूखने के कगार पर है। इस संदर्भ में चैपला पंचायत के मुखिया ने बताया कि पानी की किल्लत जरूर है। फंड आते ही इस गांव में चापाकल गाड़ा जाएगा। इधर स्थानीय ग्रामीणों ने जिलाधिकारी डॉ. कौशल किशोर से अविलंब पेयजल उपलब्ध कराने की मांग की है।

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:problem(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

अब दवा दुकानों की तरह मिलेगा खाद दुकान का लाइसेंसअवैध बालू उठाव को ले दो गुटों में मारपीट
यह भी देखें

जनमत

पूर्ण पोल देखें »