डेढ़ वर्ष बाद भी नहीं हुआ कार्यपालक सहायकों का नियोजन

Publish Date:Tue, 21 Mar 2017 03:02 AM (IST) | Updated Date:Tue, 21 Mar 2017 03:02 AM (IST)
डेढ़ वर्ष बाद भी नहीं हुआ कार्यपालक सहायकों का नियोजनडेढ़ वर्ष बाद भी नहीं हुआ कार्यपालक सहायकों का नियोजन
जमुई। संविदा पर कार्यपालक सहायकों के नियोजन का पैनल प्रकाशन को डेढ़ वर्ष बीत जाने के बावजूद नियोजन नहीं होने से निराश अभ्यर्थियों ने रविवार को बिहार सरकार के श्रम संसाधन मंत्री वि

जमुई। संविदा पर कार्यपालक सहायकों के नियोजन का पैनल प्रकाशन को डेढ़ वर्ष बीत जाने के बावजूद नियोजन नहीं होने से निराश अभ्यर्थियों ने रविवार को बिहार सरकार के श्रम संसाधन मंत्री विजय प्रकाश को ज्ञापन दिया है। अभ्यर्थियों ने दिए ज्ञापन में बताया है कि जिले भर में तकरीबन 60 पद विभिन्न विभागों में रिक्त हैं। बिहार सरकार के सचिव का स्पष्ट निर्देश है कि कार्य बोझ व कर्मियों की कमी को ध्यान में रखते हुए कार्यों का निपटारा करने के लिए कार्यपालक सहायकों का नियोजन सुनिश्चित किया जाए। बिहार प्रशासनिक सुधार मिशन सोसाइटी की अनुशंसा के आलोक में विभिन्न विभागों में कार्यों के सफल संचालन के लिए कार्यपालक सहायक का नियोजन किया जाना है। इसके लिए 2013 में अभ्यर्थियों ने आवेदन जमा किया था। परीक्षा के बाद 29 मई 2015 को पैनल का प्रकाशन एनआइसी में अपलोड किया गया। अपलोड पैनल के अनुसार 285 अभ्यर्थियों की सूची प्रकाशित हुई जिसमें अब तक मात्र 10 अभ्यर्थियों का नियोजन हुआ है। शेष अभ्यर्थी नियोजन के लिए स्थापना शाखा का चक्कर लगा रहे हैं। अभ्यर्थियों ने कहा कि दूसरे जिलों में नियोजन का कार्य पूरा कर लिया गया है। ज्ञापन सौंपने के दौरान विशाल कुमार शर्मा, विशाल रासम, राहुल कुमार, समीरन कुमार, राजीव कुमार पांडेय, प्रभात कुमार सिन्हा, रविन्द्र कुमार, देवेन्द्र कुमार, कन्हैया कुमार, सिद्धार्थ कुमार ¨सह समेत पैनल में चयनित अन्य अभ्यर्थी मौजूद थे।

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:memorandom(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

यह भी देखें